वायरल फीवर से हैं परेशान? अपनाएँ वायरल फीवर से बचाव के ये कारगर घरेलु नुस्खे।
TRENDING
  • 11:06 PM » तरबूज खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान नहीं खाएंगे धोखा।
  • 10:20 PM » Causes of bad breath in hindi : मुँह से बदबू आने के कारण।
  • 10:15 PM » Balon ke liye til ke tel ke fayde : बालों पर तिल के तेल का इस्तेमाल करने से मिलने वाले फायदे।
  • 10:43 PM » Hibiscus for hair in hindi : बालों के लिए गुड़हल के फूल के फायदे।
  • 11:14 PM » Jeera pani pine ke fayde : जीरे के पानी के फायदे।

बरसात के सीजन में मौसम लगातार होने वाले परिवर्तन के कारण वायरल फीवर के हो जाने की सम्भावना किसी भी अन्य बीमारी के मुकाबले कहीं गुना अधिक बड़ जाती है। वायरल की शुरुआत होती तो गले में दर्द, खरास के साथ है लेकिन जल्द ही ये वॉयरल फीवर हमारे पूरे शरीर पर असर दिखाने लगता है और इसके चलते मरीज को सर्दी, जुकाम, आँखों में जलन, सर में भारी पन, गले में खरास, उलटी, शरीर में दर्द, कमजोरी और तेज बुखार हो जाता है।

वायरल फीवर बच्चों से लेकर वृद्ध तक हर उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकता है और इसकी कोई निश्चित अवधि भी नहीं होती। सामान्यतः यह बुखार 3 दिन से लेकर 7 दिनों तक प्रभावी रहता है लेकिन अगर आपने समय रहते किसी अच्छे चिकित्स्क से परामर्श नहीं किया तो ये बुखार बिगड़ भी सकता है।

अगर आपको भी नीचे बताए गए लक्षणों में से कोई लक्षण अपने शरीर में नजर आते हैं तो कुछ प्राकृतिक उपाय की मदद से आप इसे काफी हद तक कंट्रोल कर सकतें हैं आईये डालते हैं एक नजर वायरल फीवर की रोकथाम के लिए अपनाए जाने वाले कारगर घरेलू नुस्खों पर।

बरसात के मौसम में इन फल और सब्जियों का सेवन आपको रखेगा बीमारियों से दूर।

वायरल फीवर

courtesy google

वायरल फीवर के लक्षण – Viral fever symptoms in hindi

* गले में दर्द

* सर्दी जुकाम

* बॉडी में दर्द

* सर में भारीपन

* उलटी

* आँखों में जलन

* आँखों में दर्द

* आँखों से पानी बहना

* बुखार

* नाक बहना

* छाती में कफ बनना

* खांसी

* कमजोरी

* भूख ना लगना

बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियां और उनसे बचाव के तरीके।

वायरल फीवर से बचाव के कारगर घरेलु नुस्खे – Viral fever home remedy in hindi

वायरल फीवर

courtesy google

गिलोय –

सामान्य बुखार, वायरल फीवर और डेंगू जैसी बिमारियों में गिलोय एक रामबाण औषधि का काम करता है। इसका प्रयोग करने के लिए आप गिलोय की जड़ों को उबाल कर काढ़ा बना कर नित्य सुबह और शाम 4 से 5 दिनों तक लगातार इसका सेवन करें, ये आपके बुखार से लड़ने में काफी असरदार साबित होगा। इसके आलावा गिलोय ब्लड प्लेटलेट काउंट्स को बढ़ाने का काम भी करता है।

बरसात के मौसम में गले की खरास से छुटकारा पाने के आसान घरेलु टिप्स।