गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम की समस्या से बचने के लिए जरूर अपनाने चाहिए ये घरेलू नुस्खे।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

क्या आप जानते हैं? गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम की समस्या से बचने के लिए बाजार में मिलने वाली दवाइयों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसमें कोई दोराय नहीं कि जब भी मौसम बदलता है तो इससे हमारे शरीर पर बहुत असर पड़ता है। देखा जाए तो इसके लिए बाजार में बहुत से दवाई मौजूद है जिससे हम खांसी-जुकाम को आसानी से दूर कर सकते हैं लेकिन अगर आप गर्भवती है तो आपको ये सलाह दी जाती है की दवाइयाँ का उपयोग जितना न करे उतना अच्छा है क्योंकि ज्यादातर दवाइयाँ पेट में पल रहे शिशु के स्वस्थ पर विपरीत असर डाल सकती है और शिशु को नुकसान पहुंचा सकती हैं इसलिए गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम भागने के लिए घरेलू उपायों का इस्तेमाल करना चाहिए। इस प्रकार के घरेलू उपाय कारगर होने के साथ साथ सुरक्षित भी हैं, तो आइये जानते है की कैसे घरेलू उपचारों से गर्भवती महिला अपनी खांसी-जुकाम की समस्या को बड़ी आसानी से दूर भगा सकती हैं।

गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम
courtesy google

गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम की समस्या से बचने के घरेलू नुस्खे –

नमक का गरारा दूर करें सर्दी खांसी की समस्या –

गरम पानी में नमक मिलाकर गरारा करने से भी आपको खांसी में काफी राहत मिलेगी क्योंकि इस प्रकार का गरारा करने से श्वसन मार्ग में होने वाले संक्रमण को 40% तक कम किया जा सकता है। इस प्रकार का गरारा गले की सूजन को कम करता है और गले में दर्द की समस्या से आराम दिलाता है। इसलिए अगर आप भी खांसी-जुकाम से बचना चाहती हैं तो दिन में दो से तीन बार गर्म पानी से गरारा जरूर करें।

खांसी-जुकाम से बचाये लहसुन –

गर्भवती महिलाओ को खांसी-जुकाम की समस्या से बचने के लिए लहसुन का प्रयोग करना चाहिए। यह एक अच्छे एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। लहसुन अपने एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुणों के लिए जाना जाता है। लहसुन में एलिसिन मौजूद होता है जो एंटीबैक्टीरियल गुण से भरपूर होता है। यदि आपको खांसी-जुकाम है तो इसके लिए आप दो लहसुन की कली को छील कर पीस लें और उसमे एक चम्मच शहद मिला कर दिन में तीन बार इसका सेवन करें।

प्रेगनेंसी के दौरान पीठ दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के उपाय।

सर्दी खांसी की समस्या से बचने के लिए शहद का प्रयोग –

शहद बहुत सी बीमारियों में काम आता है ये कफ रोकने में बहुत कारगर होता है शहद गले में हो रही खराश से आराम दिलाने में और इम्युनिटी बढ़ने में बहुत कारगर है। शहद श्व्सन मार्ग में होने वाले हलके संक्रमण के इलाज में प्रभावी है। इसके लिए आप दिन में तीन बार एक चम्मच शहद को उपयोग में ला सकते है इससे आपको खांसी-जुकाम की समस्या में बहुत राहत मिलेगी।

सर्दी जुकाम का रामबाण इलाज है अदरक –

सर्दियों में अदरक का सेवन कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए कर सकते हो। अदरक का प्रयोग आप चाय बनाने से लेकर सब्जी बनाने तक में इस्तेमाल किया जा सकता है। आपको ये जानकर हैरानी होगी की हम अदरक का इस्तेमाल खांसी-जुकाम की समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी कर सकते हैं। इसके लिए आप अदरक का रस निकाल कर एक चम्मच सुबह शाम ले सकते है या फिर एक अदरक का टुकड़ा ले कर उसको चूस सकते है इससे आपको ख़ासी में बहुत राहत मिलेगी।

प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega News Me Halki Line Ka Matlab.

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT