बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियां और उनसे बचाव के तरीके।
TRENDING
  • 6:30 PM » Dry skin ke liye face wash : ड्राई स्किन फेस वाश।
  • 6:27 PM » Bukhar ka gharelu upchar : बुखार कम करने के घरेलू उपाय। Home remedies for fever in hindi.
  • 4:39 PM » Pital ke bartan kaise saaf karen : पीतल के बर्तन साफ करने के टिप्स।
  • 10:59 PM » विटामिन सी वाले फूड्स : Vitamin C rich foods in Hindi.
  • 11:44 PM » Vitamin d foods list in hindi : विटामिन डी वाले फूड्स।

बरसात का मौसम हो और साथ में गर्म चाय और पकौड़े हो… जी हाँ बरसात शुरू होते ही हर किसी के मन में एक न एक बार ये ख्याल अवश्य आता है और ऐसा होना भी लाजमी है आखिर ये बरसात का मौसम होता ही इतना सुहावना है। तपती गर्मी की मार झेलने का बाद बरसात का मौसम आते ही हर किसी का मन प्रफुल्ल्ति हो उठता है। बरसात का ये मौसम हमे भीषण गर्मी से काफी हद तक निजात दिलाता है लेकिन बरसात का मौसम अपने साथ ढेरों बिमारियों को भी साथ लेकर आता है। ऐसे में बेहद जरूरी होता है कि बरसात के मौसम के दौरान हम अपने खान पान और स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें क्योंकि इस मौसम में जल्दी बीमार होने कि संभावनाएं अधिक होती हैं। आईये एक नजर डालते हैं बरसात के मौसम में फैलने वाली बिमारियों के ऊपर।

बरसात के मौसम

courtesy google

बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियां – Rainy season diseases in hindi

मलेरिया –

बरसात के मौसम में मलेरिया होने की सम्भावना काफी अधिक रहती है क्योंकि इन दिनों जगह जगह बरसात पानी भर जाने, अनेक प्रकार की जंगली घास उग जाने, आस पास के नालों में सफाई न होने एवं जगह-जगह कीचड़ होने के कारण मच्छरों की संख्या में एक का एक काफी इजाफा देखने को मिलता है ऐसे में मेलरिया जैसी बिमारियाँ होने की सम्भावना अधिक रहती है।

क्या करें – सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें, अपने पास के नालों की सफाई रखें, अपने लोन पर घाँस ना उगने दें, अपने आस पास की नालियों में मच्छर मार स्प्रे जरूर करें, घर में और घर के आस पास कहीं भी बरसात का पानी इकट्ठा नहीं होने दें।

सर्दी-जुकाम और बुखार हो जाना –

बरसात के दिनों में सर्दी-ज़ुकाम और बुखार हो जाना काफी आम समस्या है इसके पीछे का कारण है मौसम में आये दिन होने वाला बदलाव और इस लगातार होने वाले इस बदलाव को हमारा शरीर सह नहीं पता हैं और हम बीमार पड़ जाते हैं।

क्या करें – बरसात के दिनों में अधिक से अधिक मात्रा में पानी पियें, तुलसी के पत्ते, लौंग, अदरक और थोड़ी सी काली मिर्च को उबाल कर काढ़ा बना लें और सुबह शाम पियें, आप चाहें तो इसे अपनी चाय में डाल कर भी पी सकते हैं। ऐसे आहार का सेवन करें जो पौष्टिक होने के साथ आपकी इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करने का काम करे।

बरसात के सीजन में कफ की समस्या से हैं परेशान? तो इसे जरूर पढ़ें।

डेंगू –

इस मौसम में मच्छरों की संख्या बड़ जाने के कारण डेंगू यानी कि हड्डीतोड़ बुखार जैसी जानलेवा बीमारी होने की आशंका बनी रहती है इसलिए बरसात के दिनों में काफी सतर्क रहने की आवश्यकता होती है। मच्छरों से बच कर रहें। डेंगू का मच्छर दिन के समय अधिक सक्रीय होता है।

क्या करें – घर और घर के आस पास सफाई और मच्छर मार स्प्रे का उपोग करें और बरसात के पानी को अपने घर और आस पास के इलाकों में इकठ्ठा नहीं होने दें।

सावधान! बरसात का मौसम हो चूका शुरू, खाने पीने का रखें विशेष ध्यान।

टाइफाइड –

मानसून सीजन आते ही टाइफाइड का खतरा मड़राने लगता है इस बीमारी के पीछे का मुख्य कारण है बाहर का दूषित खाना और पानी क्योंकि बरसात के दिनों में पानी में बैक्टीरिया अधिक मात्रा में पाए जाते हैं जब हम किसी दूषित पानी से बने खाद पदार्थ का सेवन या फिर दूषित पानी को पी लेते हैं तो इसमें मौजूद वायरस टाइफाइड जैसी बीमारी का कारण बन जाते हैं।

क्या करें – बहार के खाने का सेवन करने से बचें, बाहर का पानी बिलकुल भी नहीं पियें, बांसी खाना खाने से परहेज करें।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •