रिसर्च: कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान बच्चे हो रहे हैं स्ट्रेस के शिकार पढ़े रिपोर्ट।
TRENDING
  • 11:37 PM » कुतुब मीनार पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on qutub minar in hindi.
  • 7:49 PM » मानसून के मौसम में कार की रख रखाव के टिप्स – Monsoon car accessories in hindi.
  • 9:51 PM » वजन कम करने वाले फल – Best fruits for weight loss in hindi.
  • 10:31 PM » चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on chandrashekhar azad in hindi.
  • 9:30 PM » त्वचा के लिए नीम के फायदे – Neem benefits for skin in hindi.

कोरोना वायरस के कारण देश मे लॉकडाउन चल रहा है इसलिए परिवार का हर सदस्य घर पर मौजूद है। घर में रहने की वजह से ये स्वाभाविक है की हर किसी के दिमाग में कोरोना वायरस को लेकर कोई न कोई सवाल जरूर आते होंगे। फिर चाहे वो किसी भी उम्र का क्यों न हो बच्चे से लेकर बुड्ढे तक इस महामारी से काफी डरे हुए है। लॉकडाउन के दौरान आजकल सभी स्कूल कॉलेज बंद है जिस कारण बच्चे भी अपना पूरा समय घर पर ही रह रहे हैं, जिससे उनके अंदर कही न कही इस महामारी को ले कर एक डर सा बैठ गया है । भले ही बच्चे अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं पाते है पर इस बात में कोई दोराय नहीं कि बच्चे भी कोरोना महामारी के कारण स्ट्रेस महशूष कर रहे हैं। क्या आप के बच्चे भी कोरोना महामारी के कारण स्ट्रेस के शिकार तो नहीं हो रहे, अगर आपको इसका जवाब नही पता तो आज हम आपको बताने जा रहे है की कैसे आप पहचाने की उनमे ये लक्षण है या नहीं।

कोरोना महामारी बच्चे स्ट्रेस

courtesy google

बच्चो में स्ट्रेस के लक्षण –

चिड़चिड़ापन और व्यवहार में बदलाव –

डॉक्टर्स के मुताबिक चिड़चिड़ापन तनाव का सबसे बड़ा लक्षण है इस दौरान बच्चे के व्यवहार में अंतर और स्वभाव में बदलाव आजाता है स्ट्रेस से होने वाली घबराहट के कारण शरीर में हार्मोन्स का केमिकल इंबैलेंस हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप बच्चे के व्यवहार में बदलाव या चिड़चिड़ापन आना बहुत ही स्वाभिक है। डॉक्टर्स के मुताबिक ऐसी परिस्थितियों में बच्चे के मन से कोरोना वैश्विक महामारी का खौफ निकलने के लिए उनको सहज तरीके से कोरोना के बारे में समझाएं, उनसे बातें करे और उनको समझाएं की हम और हमारा परिवार बिलकुल सुरक्षित है आप बच्चे से कोरोना वैश्विक महामारी से संबंधित कोई भी बातें ना करे और साथ ही साथ उनका मनोबल बढ़ाए।

पर्याप्त नींद न आना या नींद का बार बार खुल जाना –

अगर आपका बच्चा रात में बार बार उठ रहा हो या फिर देर रात तक उसको नींद नहीं आरही हो तो यकीन मानिये उसमे तनाव हो सकता है। ऐसे में डॉक्टर्स सलाह देते है की अपने बच्ची को रचनात्मक कार्य में लगाए उनको छत में घुमाने ले जाए, उनको घर के गार्डन में खिलाएं। इससे अलावा आप भी अपने बच्चे के साथ खेलें, टीवी पर उनको ज्ञानवर्धक चीज़े दिखाए।

स्ट्रेस हो सकता है पेटदर्द का कारण –

बच्चो में स्ट्रेस के कारण पेट दर्द हो जाना बहुत ही सामान्य बात है। हाल में इसके ऊपर चार साल और उससे अधिक आयु के बच्चो पर हुई रिसर्च के अनुसार 90 फीसदी पेट दर्द के पीछे का कारण कोई बीमारी नहीं था बल्कि इसका कारण स्ट्रेस था।

मुँह में छाले हो जाना –

वैसे तो मुँह में छाले की वहज कुछ ख़ास नहीं होती है, पर ऐसा माना जा रहा है की इसकी वहज स्ट्रेस भी हो सकती है एक स्टडी के मुताबिक स्कूली और कालेज के छात्रों में परीक्षा के दिनों मुँह में छालो का पड़ना देखा गया और शोध में ये भी देखा गया कि परीक्षा ख़त्म होते ही ये ठीक हो जाते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक ऐसी छालों के पीछे स्ट्रेस और गरम खानपान का सेवन हो सकता है।

शौच में बदलाव आना –

एक्सपर्ट के अनुसार स्ट्रेस के कारण बच्चो में शौच की आदतों में भी बदलाव देखने को मिले हैं। कुछ बच्चो में शौच ना जाने का भय बैठ सकता है और कई बच्चो में शौच के लिए बार बार जाना इन लक्षणों में शामिल हो सकता है। डॉक्टर्स का मानना है कि अगर आपका बच्चा स्वास्थ है और पहली की तरह अच्छा आहार ले रहा है तो हो सकता है की शौच में गड़बड़ी की वहज स्ट्रेस हो सकता है। अगर आपको अपने बच्चे में इस बीच कुछ परिवर्तन लगता है तो आप डॉक्टर्स का परामर्श जरूर लीजिये।

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

क्या आपके घर में आने वाले अखबार से फ़ैल सकता है (COVID-19) कोरोना वायरस, पढ़े रिपोर्ट।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु घर की साफ सफाई के लिए अपनाये ये टिप्स।

कोरोना वायरस के कारण चल रहे लॉकडाउन के दिनों में घर में समय बिताने के टिप्स।

कहीं आप भी कोरोना वायरस के कारण फीयर साइकोसिस के शिकार तो नहीं हो रहे?

क्या मच्छर के काटने से कोरोना वायरस (COVID-19) हो सकता है?

कोरोना वायरस ट्रैकिंग ऐप आरोग्य सेतु कैसे काम करता है, कहाँ से करें डाऊनलोड।

कोरोना वायरस: लॉकडाउन के दौरान हेल्दी लाइफस्टाइल जीने के टिप्स।

कोरोना वायरस: होममेड जूस जो कर सकते हैं आपका इम्यून सिस्टम बूस्ट।

शोध कोरोना वायरस से होने वाली मौत: किन लोगों को है ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत।

जानिए MoHFW की गाइडलाइन के अनुसार होममेड फेस मास्क को रियूज करने के तरीके।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT