शोध कोरोना वायरस से होने वाली मौत: किन लोगों को है ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में हर नए दिन के साथ तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही कोरोना वायरस के कारण होने वाली मौत के ग्राफ में वृद्धी भी चिंता का कारण बनी हुई है। कोरोना वायरस के कारण होने वाली मौत का आंकड़ा 2 लाख से कुछ ही दुरी पर है। आज सम्पूर्ण विश्व के लिए इस बढ़ते हुई आंकड़े को रोकना सबसे बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है। कोरोना वायरस का सबसे अधिक प्रकोप अमेरिका में देखने को मिला है। अमेरिका के अलावा विश्व के अन्य के देशों में भी वायरस ग्राफ अत्यंत तेजी से बढ़ते हुई देखा जा रहा है। हालाँकि कोरोना वायरस से होने वाली मौत दर का रेट हर देश में अलग अलग है लेकिन मौतों की बड़ी वजहें लगभग हर देश में एक सामान है। अमेरिका के Centers for Disease Control and Prevention के अनुसार वायरस के कारण पुरुषों की मौत की दर अधिक रही है।

कोरोना वायरस मौत

courtesy google

कोरोना वायरस से होने वाली मौत: किन लोगों को है ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत –

55 वर्ष से अधिक उम्र वालों को है कोरोना से ज्यादा खतरा –

एक्सपर्ट के अनुसार ऐसे लोग जिनकी उम्र 55 वर्ष से अधिक है उनको वायरस से ज्यादा खतरा है। इसके पीछे का एक कारण यह भी माना जा रहा है कि बढ़ती उम्र के साथ साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। कोरोना संक्रमण के कारण फेफड़ों के साथ हृदय और दिमाग पर भी असर पड़ता है जो मौत का कारण बन सकता है।

इटली में पुरुषों की मौत दर रही अधिक –

बात अगर इटली की जाये तो यहाँ कोरोना वायरस के कारण हुई सभी मौतों में स्त्रियों के मुकाबले पुरुषों की मौत अधिक हुई है। इटली वायरस से 53 फीसदी पुरूष संक्रमित हुए और मौत की दर 68 फीसदी रही। बात अगर ग्रीस की करें तो वहाँ यह आंकड़ा 55 फीसदी था और मौत की दर 72 फीसदी।

लिवर और किडनी की बीमारी से ग्रस्त लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत –

Imperial College London के श्वास रोग विभाग के प्रोफेसर फैन चुंग के मुताबिक ऐसे लोग जो पहले से फेफड़े, दमा, हृदय, डायबटीज, लिवर और गुर्दे से संबंधित बीमारी से ग्रस्त हैं, उन्हें कोरोना वायरस के दौरान अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। वायरस से हुए अभी तक सभी मौतों में यह देखा गया है कि पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति की मृत्यु की संभावना कहीं अधिक होती है।

ब्रिटेन में मोटापा बन रहा मौत का कारण –

ब्रिटेन के National Health Service की ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना से संक्रमित दो तिहाई मरीजों की मौत का कारण उनका मोटापा था। यह बात भी निकलकर सामने आयी है कि इंटेंसिव केयर यूनिट में भर्ती 63% रोगी या तो मोटापे से ग्रस्त थे या फिर उनका वजन सामान्य से अधिक था। फ्रांस के संक्रामक रोग विशेषज्ञ डाक्टर जीन फ्रांस्वा ने मोटे लोगों को कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान अधिक सतर्क रहने की सलाह दी है।

इम्यून सिस्टम करें बूस्ट –

जैसा कि अभी तक वायरस से बचने के लिए वेक्सीन न बनने के कारण सभी एक्सपर्ट की सलाह यही कहती है कि ” किसी भी बीमारी से लड़ने में इम्यून सिस्टम का अहम रोल होता है।” आपका इम्यून सिस्टम जितना अधिक मजबूत होगा उतना ही आप बिमारियों से दूर रहेंगे। इसलिए ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन पर जोर दे जो आपका इम्यून सिस्टम बूस्ट करने का काम करते हों। इस दौरान किसी भी प्रकार के मादक पदार्थों के सेवन से दूरी बनाये रखें।

इन बातों को का करें पालन –

ऑस्ट्रेलिया में स्थित Monash University की सारा जोन्स के मुताबिक जो लोग किसी क्रिटिकल बीमारी से ग्रसित हों, ऐसे लोगों को इस दौरान अपनी दवा नहीं छोड़नी है। उन्होने बताया कि यदि अपने रोजमर्रा के कार्यों का नियमित रूप से पालन किया जाए तो कोरोना वायरस से काफी हद तक सुरक्षित रहा जा सकता है। जोन्स के मुताबिक इस दौरान डाइट में पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें। इसके अलावा रोजाना नियमित रूप से सुबह उठने के पश्च्यात योग या व्यायाम अवश्य करना चाहिए। साथ ही खुद को क्रिएटिव कार्यों में व्यस्त रखने की कोशिश करें।

कोरोना वायरस से संबंधित अन्य खबरें –

कोरोना वायरस के कारण विश्वभर में हुआ नमस्ते का ट्रेंड पॉपुलर।
कोरोना वायरस ट्रैकिंग ऐप आरोग्य सेतु कैसे काम करता है, कहाँ से करें डाऊनलोड।
कोरोनावायरस: लॉकडाउन के दौरान माँ ने बेटे को लाने के लिए तय की 1400 किलोमीटर की दूरी।
HCQ पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी की जमकर तारीफ, कहा संग जीतेंगे जंग।
हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन: राष्ट्रपति ट्रंप के बाद ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो और इस्राइल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ।
लॉकडाउन 2.0 गाइडलाइन: जानिए किस में मिलेगी छूट और किस में जारी रहेगी सख्ती।                                                लॉकडाउन में पिज्जा खाना पड़ा भारी, पिज्जा डिलीवरी बॉय निकला कोरोना पॉजिटिव।                                                     वायरल वीडियो: थाईलैंड के चिड़ियाघर में चिंपैंजी से करवाया सैनिटाइजेशन, नाराज हुआ पेटा।                                      WHO से नाराज अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने रोकी WHO को दी जाने वाली फंडिंग।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT