सावधान! मास्क लगा कर एक्सरसाइज करना साबित हो सकता है जानलेवा।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

क्या आप भी आजकल कोरोना वायरस के डर से मास्क लगा कर एक्सरसाइज तो नहीं कर रहे। यदि आपका जवाब हाँ है, तो आज से ही अपनी इस आदत को छोड़ दें। मास्क लगा कर एक्सरसाइज करना आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है। हाल ही में चीन से एक ऐसा मामला सामने आया जिसमे एक व्यक्ति को मास्क पहन कर जॉगिंग करना भारी पड़ गया। चीन के वुहान शहर में रहने वाला यह व्यक्ति कोरोना वायरस के खौफ के चलते मास्क पहन कर जॉगिंग के लिए निकल पड़ा। तकरीबन 4 किलोमीटर चलने के बाद व्यक्ति को अपने फेफड़ों में दवाब महसूस होने लगा और साथ ही साँस लेने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ा।

जब व्यक्ति अस्पताल पहुंचा तो जो रिपोर्ट आयी वो बेहद चौंकाने वाली थी। रिपोर्ट के मुताबिक फेफड़े में अधिक दबाव पड़ने के कारण उसमें 90 फीसदी तक संकुचन आ गया था। जिस कारण व्यक्ति का फेफड़ा क्षतिग्रस्त हो गया था और यह उसके शरीर के राइट साइड में मुड़ गया था। डॉक्टर्स के मुकताबिक चेहरे पर मास्क लगा कर जॉगिंग और एक्सरसाइज करना जानलेवा साबित हो सकता है। ऐसा करने से शरीर को आक्सीजन की पर्याप्त मात्रा नहीं मिल पाती, जिस कारण फेफड़ों पर अतिरिक्त दवाब पड़ने लगता है। हालत बिगड़ने पर व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

मास्क लगा कर एक्सरसाइज

courtesy google

मास्क पहन कर एक्सरसाइज करने से बढ़ते हैं ये खतरे – Why you should not exercise with a mask

क्लाउस्ट्रोफोबिया (Claustrophobia) –

यह फोबिया का वह प्रकार है जिसमे व्यक्ति को अधिक भीड़ भाड़ वाली जगहों पर भय और बेचैनी महसूस होने लगती है। मास्क पहन कर एक्सरसाइज करने के दौरान इस बात की संभावना बढ़ जाती है कि व्यक्ति क्लाउस्ट्रोफोबिया का शिकार हो जाये। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आप मास्क पहन कर व्यायाम करते हैं, तब शरीर को जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा नहीं पहुंच पाती है। इसी परिस्थिति में मास्क बाहर से आने वाली हवा के लिए एक अवरोधक की तरह कार्य करता है। जिस कारण एक्सरसाइज के दौरान शरीर में हवा की कमी होने लगती है और व्यक्ति क्लाउस्ट्रोफोबिया (Claustrophobia) का शिकार हो जाता है।

स्टैमिना की कमी –

एक्सरसाइज के दौरान शरीर को एक्टिव रूप से कार्य करने के लिए पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ती है। लेकिन मास्क लगाने से हवा में अवरोधन पैदा होता है और आप को कुछ समय के बाद थकवाट महसूस होने लगती है।

जी मिचलाना और चक्कर आना –

एक्सरसाइज के समय मास्क लगाने का एक बड़ा डिसएडवांटेज यह भी है कि इसके कारण कई बार ऐसी परिस्थिति आ जाती है, जिसमे आपको चक्कर आने लगते हैं या फिर कई बार उल्टी करने की इच्छा महसूस होने लगती है। इन सब के पीछे का कारण होता है आपके चेहरे पर लगा मास्क, यह हवा को बाहर ही रोक देता है और शरीर में आक्सजीन का लेवल तेजी से गिरने लगता है। इसलिए भूल कर भी व्यायाम के समय मास्क का प्रयोग न करें।

अत्यधिक पसीना और डिहाइड्रेशन –

व्यायाम के समय तेजी से साँस लेने और छोड़ने के कारण हमारे हृदय की गति तेज हो जाती है। जिस कारण हमे अत्यधिक मात्रा में पसीना आने लगता है। लेकिन मास्क पहनने से बाहर की हवा अंदर नहीं आती है, जबकि आप इस दौरान तेजी से साँस छोड़ते हैं। ऐसी परिस्थिति में पसीना तो तेजी से बहता ही है साथ ही आपका शरीर डिहाइड्रेशन की अवस्था में पहुंच जाता है। यही कारण है कि आपने भी अक्सर कई लोगों को कहते हुए सुना होगा की व्यायाम हमेशा खुली और ताजी हवा मिलने वाली जगहों पर करो।

बेहोशी और चिड़चिड़ापन –

मास्क पहन कर एक्सरसाइज करने से शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है, जिसके चलते व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है। इसके अलावा ऑक्सीजन की कमी होने पर आपको बेचैनी महसूस होने लगती है। जिस कारण एक्सरसाइज के दौरान आप चिड़चिड़े होने लगते हैं।

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

जानिए MoHFW की गाइडलाइन के अनुसार होममेड फेस मास्क को रियूज करने के तरीके।

जानिए लगातार मास्क पहनने के कारण होने वाली समस्याओं से बचाव के उपाय।

क्या वाकई AC चलाने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा बना रहता है?

क्या कोरोना संक्रमण के दौर में ऑनलाइन खाना ऑडर करना सुरक्षित है या नहीं?

कोरोना: हाथ धोने और त्वचा की प्राकृतिक नमी बनाये रखने के लिए इन बातों का रखें ध्यान।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु WHO ने जारी की फूड सेफ्टी गाइडलाइन।

WHO की चेतावनी – खुली जगहों पर न करें डिसइनफेक्ट (कीटाणुनाशक) का प्रयोग।

कोरोना वायरस संक्रमण: कार के इन हिस्सों को सेनेटाइज करना है अत्यंत जरूरी।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT