विश्व साईकिल दिवस 2020 : जानें साईकिल का इतिहास और साईक्लिंग के स्वास्थ्य लाभ।
TRENDING
  • 9:51 PM » वजन कम करने वाले फल – Best fruits for weight loss in hindi.
  • 10:31 PM » चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on chandrashekhar azad in hindi.
  • 9:30 PM » त्वचा के लिए नीम के फायदे – Neem benefits for skin in hindi.
  • 9:55 PM » घर से कीड़े-मकोड़ों को भागने के आसान घरेलू नुस्खे.
  • 11:18 PM » पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के लिए करें इन ड्रिंक्स का सेवन।

3 जून 2020 यानि की आज विश्व साईकिल दिवस (World Bicycle Day) मनाया जा रहा है। हर साल 3 जून को विश्व साईकिल दिवस मनाया जाता है। विश्व में पहली बार वर्ष 3 जून 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations) द्वारा विश्व साईकिल दिवस की घोसणा की गयी थी। तब से हर साल 3 जून को World Bicycle Day मनाया जाने लगा।
मुख्यतः इस दिवस को मनाने के पीछे का कारण एक सरल, किफायती, भरोसेमंद,अच्छे स्वास्थ्य और पर्यावरण की सुरक्षा को प्रोत्साहित करना था। इसमें कोई दोराय नहीं कि साईकिल चलाना एक अच्छी एक्सरसाइज होती है और एक हेल्दी लाइफस्टाइल की चाहत रखने वाले लोगों को साईक्लिंग नियमित रूप से करनी चाहिए। आईये विश्व साईकिल दिवस (World Bicycle Day) के इस अवसर पर जानते हैं इस से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में …।

विश्व साईकिल दिवस

courtesy google

विश्व साइकिल दिवस का इतिहास –

विश्व में पहली बार 3 जून 2018 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व साइकिल दिवस की शुरुवात की, संयुक्त राष्ट्र ने इसको मनाये जाने के पीछे का मुख्य कारण “साइकिल की विशिष्टता, दीर्घायु और बहुमुखी प्रतिभा, जो 2 शताब्दियों से उपयोग की जा रही है को बताया। साथ ही UN ने माना “यह एक सरल, सस्ती, विश्वसनीय, स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल परिवहन का स्थायी साधन है। जो पर्यावरणीय स्थिरता और स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।”

भारत में साइकिल का इतिहास –

भारत में भी साइकिल का इतिहास काफी पुराना है, 1947 में आजादी के बाद अगले कई वर्षों तक देश में यातायात के लिए साईकिल का खूब प्रयोग किया गया। खासतौर पर वर्ष 1960 से लेकर 1990 तक भारत में ज्यादातर लोग यातायात के लिए साईकिल का प्रयोग करते थे। उस दौरान यह यातायात का सबसे ताकतवर और किफायती साधन माना जाता था।

साइकिल चलाने के फायदे –

* नियमित रूप से 30 मिनट साईकिल चलाने से वजन कम करने में सहायता मिलती है। जिन लोग कि तौंद निकल आयी हो रोजाना सुबह और शाम नियमित रूप से 30 मिनट साईकिल जरूर चलाएं।

* एक रिपोर्ट मुताबिक रोजाना 30 मिनट साईकिल चलाने से हमारी इम्यूनिटी मजबूत होती है। साईक्लिंग करने से इम्यून सेल्स एक्टिव हो जाते हैं।

* रोजाना 30 मिनट की साईक्लिंग आपके घुटने और जोड़ों के दर्द की समस्या को भी दूर करने की क्षमता रखती है।

* एक स्टडी के मुताबिक रोजाना आधे घंटे की साईक्लिंग ब्रेन पाॅवर को 15 से 20 प्रतिशत तक बढ़ाने की क्षमता रखती है।

* नित्य आधे घंटे की साईक्लिंग स्ट्रेस, अवसाद और चिंता के लक्षणों को दूर करती है।

* साईक्लिंग करने से शरीर में अतरिक्त वसा कम होती है और मोटापे की समस्या से छुटकारा मिलता है।

* रोजाना साइकिल चलाने से शरीर के सभी अंग एक्टिव हो जाते हैं और आपकी बॉडी फिट और तंदुरस्त बनती है।

12 मई यानी कि अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, जानिए इससे जुड़ी कुछ रोचक बातें।

World No Tobacco Day 2020: कब और क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड नो टोबैको डे?

इंटरनेशनल टी डे! कब मनाया जाता है चाय दिवस, जाने चाय का इतिहास और प्रकार ?

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT