12 मई यानी कि अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, जानिए इससे जुड़ी कुछ रोचक बातें।
TRENDING
  • 10:52 PM » Arthritis me kya nahi khana chahiye : आर्थराइटिस में क्या नहीं खाना चाहिए।
  • 11:32 PM » 10 lines on durga puja in hindi : दुर्गा पूजा पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.

12 मई 2020 यानि कि अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, सम्पूर्ण विश्व में 12 मई को नर्स दिवस मनाया जा रहा है। आप के स्वास्थ्य की देखभाल करने वाली नर्सें, अस्पताल में आपकी सेवा में कर्तव्य निष्ठा के साथ जुटी रहती हैं। एक तरह से देखा जाये तो इनके बिना किसी भी अस्पताल का संचालन करना लगभग नामुमकिन है। इसलिए ये कहना गलत नहीं होगा कि नर्से किसी अस्पताल को सुचारु रूप से चलाने में अहम भूमिका निभाती हैं। वर्ष 2020 की बात करें तो इस समय सम्पूर्ण विश्व कोरोना वायरस संक्रमण की मार झेल रहा है। ऐसे में डाक्टरर्स और नर्सें अपनी जान की परवाह किये बगैर दिन रात आपकी सेवा में जुटे हैं। इसलिए इस साल 2020 का यह अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस और भी विशेष हो जाता है।

इस समय जहाँ एक तरफ सम्पूर्ण विश्व कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहा है तो वहीं कोरोना वारियर्स (स्वास्थ्यकर्मी) दिन रात अपनी जान की परवाह किए बगैर कोरोना संक्रमितों की सेवा में जुटे हैं। इस मुहीम में डॉक्टर्स के साथ मिलकर सभी नर्सें भी अपनी जान की परवाह किये बगैर 24 घटें मरीजों की देखभाल लगी हैं। इसलिए ऐसे समय में उनके द्वारा निस्वार्थ भाव से दिया जा रहा यह योगदान सदैव अमूल्य रहेगा। बता दें कि कोरोना वैश्विक संक्रमण के दौरान कई डॉक्टर्स समते नर्सें भी इस बीमारी की चपेट में आ चुकी हैं और इस दौरान मरीजों की सेवा करते-करते कुछ को अपनी जान से भी हाथ गवाना पड़ा है।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस

courtesy google

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस से जुडी कुछ रोचक बातें –

* फ्लोरेंस नाइटिंगेल जो कि मॉर्डन नर्सिंग की फाउंडर थीं, उन्होंने क्रीमिया वार के दौरान कई महिलाओं को नर्स की ट्रेनिंग दी थी। इसके अलावा उन्होने युद्ध में घायल कई सैनिकों का इलाज भी किया था।

* फ्लोरेंस नाइटेंगल का जन्म 12 मई 1820 को फ्लोरेंस ग्रैंड डची मे एक सामंती परिवार में हुआ था।

* इस दौरान फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने नर्सिंग को अपना प्रोफेशन बना लिया और वह विक्टोरियन संस्कृति की एक आइकन बनकर सामने आई। इन्होंने रात के वक्त कई सैनिकों का इलाज किया था।

* बाद में इन्हें “लेडी विद द लैंप” (Lady With the Lamp) के नाम से भी जाना गया।

* वर्ष 1965 में सबसे पहले अमेरिका के स्वास्थ्य, शिक्षा और कल्याण विभाग के एक अधिकारी डोरोथी सुदरलैंड ने पहली बार नर्स दिवस मनाने का प्रस्ताव 1953 में रखा था।

* इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स (ICN) ने पहली बार 1965 में इस दिन को मनाया था।

* इसके बाद जनवरी 1974 में, 12 मई को आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्म दिवस को स्मरण करने हेतु, इस तारिक को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस के रूप में चुना गया।

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

वायरल वीडियो: थाईलैंड के चिड़ियाघर में चिंपैंजी से करवाया सैनिटाइजेशन, नाराज हुआ पेटा।

WHO से नाराज अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने रोकी WHO को दी जाने वाली फंडिंग।

लॉकडाउन में पिज्जा खाना पड़ा भारी, पिज्जा डिलीवरी बॉय निकला कोरोना पॉजिटिव।

इजरायल का दावा! बन गयी कोरोना वैक्‍सीन जल्द ही खत्म होगा कोरोना वायरस।

जल्द खत्म हो सकता है कोरोना, इजरायल के बाद इटली ने किया कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने का दावा।

अमेरिका में उम्मीद की किरण बनी रेमडेसिवीर (Remdesivir) दवा इलाज के लिए मिली मंजूरी।

कोरोना: आयुष मंत्रालय ने प्रदान की चार दवाईयों को कोरोना संक्रमण के इलाज हेतु ट्रायल की अनुमति।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  • 2
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT