हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी के क्या परिणाम हो सकते हैं ?
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

Hemoglobin ki kami ke lakshan…क्या आप जानते हैं हमारे देश भारत में हीमोग्लोबिन के रोगी सब से अधिक पाए जाते हैं। देश में लगभग 50% गर्भवती महिलाएँ एनीमिया से ग्रस्त होती हैं। आज के समय में शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होना आम समस्या हो गयी है। पुरुषों के महिलाओ में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। हीमोग्लोबिन की कमी व्यक्ति को कभी भी और किसी भी उम्र में हो सकती है। इस समस्या को नज़रअंदाज़ करना आपकी सेहत के किये बहुत हानिकारक हो सकता है। आपको बता दें की शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी का कारण लाल रक्त कणिकाओं को बनाने वाला एक मेटल प्रोटीन है, जो फेफड़ो से शरीर के अंदर ऑक्सीजन युक्त रक्त ले जाता है और शरीर की सभी प्रक्रियाओ को सही ढंग से चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शरीर को आयरन का 70% हिस्सा हीमोग्लोबिन से मिलता है। यदि शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी (Hemoglobin ki kami ke lakshan) हो जाए तो आपको कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं।

शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी

courtesy google

शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी के क्या परिणाम हो सकते हैं – Hemoglobin ki kami ke lakshan dur karne ke upay

सांस लेने में परेशानी : हीमोग्लोबिन हमारे शरीर में ऑक्सीजन युक्त रक्त पहुंचने का काम करता है इसलिए हीमोग्लोबिन कमी के कारण मरीज को सांस लेने में दिक्कत होती है।

पीलापन : लाल रक्त कोशिकाएँ हमारी त्वचा को गुलाबी चमक देती हैं लेकिन हीमोग्लोबिन की कमी के कारण हमारे शरीर में रक्त की कमी हो जाती है जिस वजह से त्वचा में पीलापन आने लगता है।

थकान लगना : बार बार थकान महसूस होना हीमोग्लोबिन रोगियों में होने वाली आम समस्या है।

डिप्रेशन का खतरा बढ़ना : हीमोग्लोबिन की कमी के कारण डिप्रेशन ,हार्ट फेल, धड़कनो का अनियंत्रित होने की समस्या होती है। और इसके अलावा इम्युनिटी भी कमजोर हो जाती है।

तेज धड़कनें : हीमोग्लोबिन का मुख्य काम जरूरी मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचाने का होता है। यदि शरीर में हीमोग्लोबिन कमी हो जाए तो हमारे दिल तक ऑक्सीजन ठीक से नहीं पहुंच पाती। जिस कारण सांस फूलने के साथ साथ दिल की धड़कनें भी तेज हो जाती हैं।

सिर में तेज दर्द – हीमोग्लोबिन की कमी होने के कारण मस्तिष्क में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन नहीं पहुंच पता है और पीड़ित व्यक्ति के सिर में तेज दर्द उठने लगता है।

घबराहट – शरीर में हीमोग्लोबिन कमी होने के कारण बेचैनी और ब्लड प्रेसर में उतार चढ़ाव जैसी समस्या भी देखी जाती हैं। इसकी कमी को दूर करने के लिए अपनी डाइट में ऐसे खाद्य-पदार्थों को शमिल करें जिनमे आयरन की पर्याप्त मात्रा मौजूद हो।

शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी

courtesy google

अश्वगंधा का सेवन करने से होने वाले फायदे : Benefits of ashwagandha in hindi

शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को सही कैसे किया जाए :

* पत्तेदार सब्जी खाना चाहिए क्योंकि ये आयरन का सबसे अच्छा स्रोत है।

*चिकन, रेड मीट और अंडो का सेवन करने से भी अच्छा आयरन और प्रोटीन प्राप्त होता है।

*दूध ,दही, पनीर में प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है। इसलिए हीमोग्लोबिन के मरीज इनका सेवन अधिक से अधिक करे।

*अपनी डाइट में लीची, अनार, चुकंदर, पालक और गुड़ को जरूर शामिल करें।

*शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने पर कॉफ़ी, चाय, कोला, वाइन और बियर आदि का सेवन त्यागा देना चाहिए।

*हीमोग्लोबिन को सही करने के लिए आप सप्लीमेंट का प्रयोग बिल्कुल न करे रक्त में हीमोग्लोबिन स्तर की नियमित जांच करवाना आवश्यक है और आयरन सप्लीमेंट या इससे संम्बधी दवा लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह ले लीजिए खुद से इन सप्लीमेंट को लेना खतरनाक हो सकता है।

(COVID-19 कोरोना) इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए करें इन खाद्य पदार्थों का सेवन।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES

1 COMMENTS

  1. StevBolo Reply

    Penicilling Vs Cephalexin https://buyciallisonline.com/# – Cialis Vente Levitra France canadian pharmacy cialis 20mg Canada Pharm

LEAVE A COMMENT