आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने का सही तरीका क्या है?
TRENDING
  • 5:27 PM » How dengue spread in hindi : (Dengue kaise hota hai) डेंगू कैसे होता है?
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।
  • 7:57 PM » Platelets badhane wale fruits : प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फ्रूट्स।
  • 10:21 PM » Fridge ki safai karne ka tarika : फ्रिज की सफाई करने के आसान घरेलू टिप्स।
  • 3:21 PM » Sardiyo me skin care in hindi : सर्दियों में स्किन केयर टिप्स।

Pani peene ka sahi tarika kya hai…क्या आप आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने का सही तरीका जानते हैं? अक्सर जब हमें बहुत जोरों की प्यास लगी हो तब हम पानी बहुत जल्दी में खड़े-खड़े ही पी जाते हैं। ऐसा करने से हमारी प्यास भी बुझ जाती हैं और शरीर में तरोताजगी भी आती है। लेकिन क्या आप जानते हैं आयुर्वेद के अनुसार इस तरह से पानी पीना सही नहीं माना जाता है। ऐसे में आपके मन में भी यह सवाल जरूर आता होगा कि आखिर आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने का सही तरीका क्या है?

आपको बता दें कि आयुर्वेद में खड़े होकर पानी पीना स्वास्थ्य के लिहाज से नुकसानदायक माना जाता है। इसके बजाय आयुर्वेद में बैठ कर पानी पीने को सही माना जाता है। यदि आप पालथी मार कर बैठते हैं और फिर पानी पीते हैं तो यह तरीका आयुर्वेद में सर्वोतम माना गया है। आयुर्वेद के मुताबिक भोजन ग्रहण करने के लिए भी यह अवस्था सर्वोतम मानी जाती है।
इसके अलावा आयुर्वेद के अनुसार पानी को फटाफट एक ही बार में गट-गट करके नहीं पीना चाहिए। इसके बजाय रुक-रुक कर छोटे-छोटे सिप लेकर पानी को पीना चाहिए। ऐसा करने का फायदा यह होता है कि शरीर में प्रवेश करने के पश्च्यात पानी का तापमान शरीर के तापमान के समान हो जाता है और पानी शरीर के अंदरूनी अंगों को किसी प्रकार की हानि नहीं पहुँचाता। वहीं जो लोग एक साँस में फटाफट पानी को पी जाते हैं पानी उनके शरीर के अंगो के तापमान को अपने तापमान के अनुसार बदलने की कोशिश करने लगता है। जिसका स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। आईये जानते हैं आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने का सही तरीका (Pani peene ka sahi tarika kya hai) और इससे जुडी अन्य बातें।

पानी पीने का सही तरीका
courtesy google

आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने का सही तरीका क्या है – Pani peene ka sahi tarika kya hai?

  • कभी भी खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से यह हड्डियों के जोड़ में जमा हो सकता है जिससे आर्थराइटिस का खतरा हो सकता है।
  • एक बार में गट गट करके पानी नहीं पीना चाहिए।
  • पानी को न बहुत अधिक ठंडा न बहुत अधिक गर्म पीना चाहिए।
  • पानी हमेशा बैठ कर पीना चाहिए।
  • छोटी-छोटी सिप लेकर धीरे-धीरे पीना चाहिए।
  • पानी को हमेशा रूम टेम्प्रेचर पर ही पीना चाहिए।
  • खाना खाने से 30 मिनट पहले और खाना खाने के 30 मिनट बाद तक पानी नहीं पीना चाहिए।

“पानी पीने का सही तरीका” से जुड़े, अक्सर पूछे जाने वाले सवाल –

  1. प्रतिदिन कितने लीटर पानी पीना चाहिए?

    एक स्वस्थ्य व्यक्ति को प्रतिदिन कम से कम 2 लीटर पानी पीना चाहिए।

  2. 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए?

    एक स्वस्थ्य व्यक्ति को एक दिन में कम से कम 7 से 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

  3. क्या अधिक पानी पीना नुकसानदायक होता है?

    हाँ अधिक पानी पीना नुकसानदायक साबित हो सकता है।

  4. खाना खाने से कितनी देर पहले पानी पीना चाहिए?

    खाना खाने के कम से कम 30 मिनट पहले पानी पी लेना चाहिए।

  5. खाना खाने के बाद कितनी देर पानी नहीं पीना चाहिए?

    खाना खाने के बाद कम से कम 30 मिनट तक पानी नहीं पीना चाहिए।

  6. पानी पीने का सही समय क्या है?

    पानी पीने का सही समय सुबह खाली पेट है। लेकिन आपको दिन भर में थोड़ा-थोड़ा पानी पीते रहना चाहिए।

  7. पानी कब नहीं पीना चाहिए?

    आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के ठीक पहले और खाना खाने के ठीक बाद पानी नहीं पीना चाहिए।

  8. हमारे शरीर को प्रतिदिन कितने लीटर पानी की आवश्यकता होती है?

    हमारे शरीर को प्रतिदिन कम से कम 2 से 3 लीटर पानी की आवश्यकता होती है।

  9. कितने TDS तक पानी पीने योग्य है?

    300 से 600 के बीच TDS वाला पानी पीने योग्य माना जाता है।

  10. सुबह कितना पानी पीना चाहिए?

    सुबह उठकर कम से कम 2 से 3 गिलास पानी अवश्य पीना चाहिए।

  11. सुबह उठते ही क्या पीना चाहिए?

    सुबह उठते ही गुनगुना पानी पीना चाहिए।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest