घर बैठे ब्लड शुगर स्तर की जांच कब और कैसे करनी चाहिए, आइये जानते हैं।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

शुगर की समस्या से पीड़ित लोगों को समय-समय अपने ब्लड शुगर स्तर की जांच करने की जरूरत होती है। जैसा की हम सभी जानते हैं किसी स्वस्थ्य व्यक्ति के शरीर मे ब्लड में शुगर की मात्रा इंसुलिन हार्मोन के द्वारा नियंत्रित होती है। लेकिन डायबिटीज के मरीजों के साथ ऐसा नहीं होता। शुगर से ग्रस्त व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन की मात्रा जरूरत के मुताबिक नहीं बन पाती है। जिसका नतीजा यह होता है कि शरीर में शुगर की मात्रा जरूरत के मुकाबले कहीं अधिक बढ़ने लगती है। अक्सर देखा गया है कि हाई ब्लड शुगर से ग्रसित व्यक्तियों को लिवर की बीमारी किडनी की बीमारी और दिल का दौरा पड़ने की अधिक संभावना रहती है। यही कारण है कि शुगर के मरीजों को समय-समय पर अपनी ब्लड शुगर स्तर की जांच करने की आवश्यकता होती है। आज से कुछ साल पहले की बात करें तो ब्लड शुगर स्तर की जांच के लिए हमे पैथोलॉजी लैब में जाना पड़ता था। लेकिन आधुनिक समय में आप स्वयँ घर बैठे अपने ब्लड शुगर स्तर की जांच कर सकते हैं। बस आपको इसके लिए जरूरत होती है एक पोर्टेबल ब्लड ग्लूकोज मीटर की। चलिए जानते हैं ब्लड शुगर की जांच कब और कैसे की जाती है।

ब्लड शुगर स्तर की जांच
courtesy google

ब्लड शुगर की जांच कब करें : When to test blood sugar

सामान्यतः किसी भी व्यक्ति का ब्लड शुगर स्तर दिन में कई बार घटता और बढ़ता रहता है। इसलिए इसकी जाँच करने का कोई फिक्स समय नहीं होता यानि की आप दिन भर में कभी भी अपने ब्लड शुगर की जांच कर सकते हैं। यहाँ यह बात सबसे ज्यादा मायने रखती है कि दिन भर की गयी जांचों में ब्लड शुगर की मात्रा में कितना फर्क देखने को मिला। इसलिए ब्लड शुगर की जांच से पहले एक बार अपने डाक्टर से जरूर मिले और उनके द्वारा बताये गए समयानुसार ही अपने ब्लड शुगर स्तर की जांच करें। आप चाहें तो दिन में इन समयों पर ब्लड शुगर की जांच कर सकते हैं।

  • ब्रेकफास्ट से पहले.
  • एक्सरसाइज और योगा करने के पहले या फिर बाद में.
  • रात्रि में सोने से पहले.

कितना होना चाहिए सामान्य ब्लड शुगर स्तर –

  • खाली पेट सुबह: 70 से 130 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर
  • ब्रेकफास्ट से पहले: 60 से 90 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर
  • खाना खाने से पहले: 60 से 90 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर
  • खाने के 1 घंटे बाद: 100 से 120 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर

“डायबिटीज कंट्रोल डाइट”, शुगर फ्री खाना क्यों जरूरी होता है ?

ब्लड शुगर की जांच का तरीका –

  • पहले हाथों को अच्छे तरह से धोकर सुखाएं।
  • इसके बाद लांसिंग डिवाइस के मीटर में परीक्षण पट्टी को देखें।
  • अब डिवाइस की सुई को अपनी ऊँगली के ऊपरी भाग (शिरे) पर चुभाएं। ऐसा करने से खून की एक बून्द आपके ऊँगली पर निकल आएगी।
  • लांसिंग डिवाइस पर खून की इस बून्द को लगाएं।
  • कुछ देर बाद आपको लांसिंग डिवाइस की स्क्रीन पर रिजल्ट नजर आने लगेगा।

ग्रीन और ब्लैक नहीं अब ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए पिएं प्याज की चाय, ऐसे बनाए।

खुद से ब्लड शुगर स्तर की जाँच में हो सकते हैं ये खतरे –

जैसा की हमने आपको बताया की आज के इस आधुनिक युग में घर बैठे ब्लड शुगर की जांच करना बहुत मामूली सी बात बन गया है। अधिकतर शुगर के रोगी जाँच के लिए यही तरीका अपनाते हैं। हालांकि यह तरीका बहुत आसान और सिम्पल है लेकिन इसके अपने कुछ खतरे भी हैं। आइए एक नजर डालते हैं उन खतरों पर…

  • टेस्ट के दौरान हाथों की उंगलियों पर कई जगह छेद हो जाते हैं।
  • शरीर से अतिरिक्त रक्त-स्त्राव हो जाना।
  • चक्कर आना या फिर सिर में हल्का सा दर्द रहना।
  • संक्रमण फैलने का डर।
  • त्वचा के नीचे खून के जमने का खतरा।

(डायबिटीज) मधुमेह को जड़ से खत्म करने के आसान घरेलु उपाय

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT