अच्छे स्वास्थ्य के लिए कमल ककड़ी (लोटस रूट) की सब्जी हफ्ते में एक बार जरूर खाएं .
TRENDING
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।

Kamal kakdi ke fayde…क्या आपने भी खाई है कमल ककड़ी (लोटस रूट) की सब्जी? कमल ककड़ी एक स्वास्थ्यवर्धक फूड है। अंग्रेजी भाषा में इसे लोटस रूट कहा जाता है। इसका प्रयोग चाइनीज कुजीन, सलाद और सूप आदि में किया जाता है। इसकी लम्बाई तकरीबन चार फीट तक होती है। हमारे देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में कमल ककड़ी (लोटस रूट) का प्रयोग सब्जी के रूप में बड़े चाव के साथ किया जाता है। यह खाने में बेहद ही टेस्टी होती है, इसके स्वाद में हल्की मिठास भरी होती है। इसका प्रयोग सूप, अचार, चिप्‍स, पकौडे़ और सूखी सब्‍जी बनाने में किया जाता है।

कमल ककड़ी (लोटस रूट) खाने के अनेक स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह अनेक औषिधय और पोषक तत्वों से भरी होती है। इसमें थाइमीन, जिंक, विटामिन, मिनरल, पोटैशियम और मैगनीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। अनेक रोगों को दूर करने में कमल की जड़ (कमल ककड़ी) का प्रयोग बेहद ही फायदेमंद रहता है। आईये आज के इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं (Kamal kakdi benefits) कमल ककड़ी खाने से होने वाले सभी स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

कमल ककड़ी लोटस रूट

courtesy google

कमल ककड़ी (लोटस रूट) खाने के स्वास्थ्य लाभ – (lotus root) kamal kakdi benefits in hindi

Kamal kakdi ke fayde : पाचन के लिए –

कमल ककड़ी (लोटस रूट) में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जिस कारण यह पाचन संबंधी परेशानियों को दूर करता है और खाना पचाने में मदद करता है। इसमें मौजूद फाइबर कब्ज की समस्या को दूर करने का काम करता है। इसका सेवन पाचन और गैस्ट्रिक रस के स्राव को बढ़ाने का काम करता है। यह आंतों की मांसपेशियों में पेरिस्‍टालिटक गति को उत्तेजित करता है और मल त्यागने की नियमित प्रकिया में सहयोग करता है।

ब्लड प्रेसर नियंत्रित करे –

अगर आप भी ब्लड प्रेसर की समस्या से परेशान हैं तो ऐसे में आपको अपने भोजन में कमल जड़ को अवश्य शामिल करना चाहिए। इसमें पोटेशियम की पर्याप्त मात्रा पायी जाती है। पोटेशियम शरीर में तरल पदार्थों का संतुलन बनाये रखता है और ब्लड में सोडियम की अधिक मात्रा को भी नियंत्रित करने का काम करता है जिसके फलस्वरूप रक्तचाप नियंत्रण में रहता है।

इम्यून सिस्टम मजबूत करे –

कमल ककड़ी (लोटस रूट) का प्रयोग कमजोर इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में भी किया जाता है। इसमें विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा पायी जाती है। विटामिन सी हमारे इम्यून तंत्र को मजबूत करने का काम करता है। इसका मुख्य घटक कोलेजन स्किन एवं अन्य अंगों को बेहतर बनाने में सहायता करता है। इसका सेवन करने से सर्दी, खांसी जैसी समस्याओं से आराम मिलता है।

सर्दियों के मौसम में अवश्य करें हरी पत्तेदार मेथी का सेवन, होंगें अनके स्वास्थ्य लाभ।

Kamal kakdi ke fayde : डायबटीज में –

कमल ककड़ी (लोटस रूट) का इस्तेमाल ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में भी किया जाता है। इसमें  फाइबर की उच्च मात्रा मौजूद होती है जो ब्लड कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करते हैं साथ ही कार्बोहाइड्रेड का पाचन भी करते हैं। इसमें मौजूद इथेनॉल अर्क इंसुलिन का प्रभाव बढ़ाकर खून में ग्लूकोज का स्तर कम करता है। इसके एंटीआक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण डायबटीज से लड़ने में मदद करते हैं। शुगर के रोगियों के लिए इसका प्रयोग किसी वरदान से कम नहीं होता।

Kamal kakdi ke fayde : स्ट्रेस के लिए –

स्ट्रेस तनाव को कम करने में भी कमल ककड़ी प्रभावी रहती है। इसमें मौजूद विटामिन सी बेहतर एंटीआक्सीडेंट की तरह कार्य करता है और स्ट्रेस को कम करने का काम करता है। इसमें पाइरिडोक्सिन नामक तत्व पाया जाता है जो कि मस्तिष्‍क के तंत्रिका रिसेप्‍टर्स के साथ सीधे संपर्क का काम करता है। प्रचीन चिकित्सा में लोटस रूट का प्रयोग स्ट्रेस से संबंधित बीमारियों के इलाज में किया जाता रहा है।

Kamal kakdi ke fayde : त्वचा के लिए –

कमल ककड़ी (लोटस रूट) का प्रयोग त्वचा के लिए बेहतर होता है। इसमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट स्किन को हाइड्रेट और मॉइस्‍चराइज रखने का काम करते हैं। इसका सेवन करने से त्वचा कोमल, मुलायम और चमकदार बनती है। स्किन से ब्राउन स्पॉट और झुर्रियां हटाने में भी इसका अहम रोल होता है। ऑयली स्किन वालों के लिए इसका उपयोग बेहद फायदेमंद रहता है। यह पिम्पल्स जैसी समस्या से भी आराम दिलाता है। त्वचा की सूजन को दूर करने में भी