पीलिया में क्या खाएं और क्या नहीं ? Jaundice Me Kya Khana Chahiye?
TRENDING
  • 5:40 PM » पिम्पल्स हटाने की बेस्ट क्रीम : Pimple ke liye best cream in hindi 2022.
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.

Piliya me kya khana chahiye… पीलिया यानी की जॉन्डिस एक ऐसी बीमारी है जिसमे आपको दवाइयों के साथ-साथ अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है। इस बीमारी में रोगी द्वारा जितना अधिक परहेज किया जाता है उतनी ही जल्दी उसके ठीक होने की संभावना बड़ जाती है। यही कारण है कि आपके डॉक्टर आपको दवाइयों के साथ-साथ विशेष परहेज रखने की सलाह भी देते हैं। यदि आप जॉन्डिस की बीमारी से ग्रसित हैं तो आपको यह जानना जरूरी है कि पीलिया में क्या खाएं (Jaundice me kya khana chahiye) और क्या नहीं? पीलिया एक ऐसी बीमारी है जिसमें ब्लड में बिलीरुबिन (पीला रंगद्रव) की संख्या बढ़ने लगती है। जिस कारण व्यक्ति की आँखों और नाखूनों का रंग पीला पड़ने लगता है। समस्या अधिक बढ़ने पर व्यक्ति के शरीर का रंग भी पीला पड़ने लगता है। इसलिए सही समय पर बीमारी को पहचाने और किसी अच्छे डॉक्टर से इलाज शुरू करवाएं। साथ ही बीमारी के दौरान डॉक्टर द्वारा बताये गए परहेज को अपनाएं और खान-पान का विशेष ध्यान रखें। आईये जानते हैं क्या होता है बिलीरुबिन और साथ ही जानिए पीलिया में क्या खाएं (Piliya mein kya khana chahiye) और क्या नहीं ?

Contents

बिलीरुबिन क्या है – What is bilirubin in hindi.

बिलीरुबिन हमारे रक्त में मौजूद पीले रंग का एक पदार्थ है। यह लाल रक्त कोशिकाओं के टूटने के बाद बनता है। आमतौर पर जब ये कोशिकाएं डेड हो जाती हैं, तो लिवर इनको रक्त से फिल्टर कर देता है। लेकिन लिवर में कुछ दिक्कत होने के चलते लिवर ये प्रक्रिया सुचारु रूप से नहीं हो पाती और बिलीरुबिन बढ़ने लगता है। आमतौर पर, बिलीरुबिन का स्तर 0.3 और 1.2 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर (मिलीग्राम / डीएल) के बीच रहता है।

पीलिया में क्या खाएं
courtesy google

पीलिया में क्या खाएं (Jaundice me kya khana chahiye) – What to eat in jaundice in hindi.

Jaundice Diet in Hindi : नारियल पानी –

पीलिया हो जाने पर आपको नियमित रूप से नारियल पानी का सेवन जरूर करना चाहिए। यह लिवर को डिटॉक्सीफाई करने का काम करता है और यह पचने में आसान होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्टीडेंट प्रभाव लीवर डैमेज के जोखिम को कम करने का काम करते हैं।

Jaundice Diet in Hindi : गन्ने का जूस –

पीलिया यानि की जॉन्डिस में गन्ने के जूस का सेवन करना बहुत फायदेमंद रहता है। गन्ने का जूस डाइजेशन को बढ़ावा देने का काम करता है साथ ही यह लिवर के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम भी करता है। बेहतर परिणाम के लिए आप इसमें नीबू का रस मिलाकर पियें। ध्यान रखें हमेशा बीमारी के दौरान बिना बर्फ का साफ, स्वच्छ और ताजा गन्ने का रस पियें।

रसगुल्ला खाने के फायदे (Rasgulla khane ke fayde) – Health benefits of rasgulla in hindi.

Jaundice Diet in Hindi : नींबू पानी –

पीलिया के दौरान नींबू पानी का सेवन करना लिवर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद रहता है। यह विटामिन सी का स्रोत होता है जो कि प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। इसके साथ ही इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। इसका सेवन पित्त नलिकाओं को खोलने का काम करता है।

Jaundice Diet in Hindi : दही और छाछ

पीलिया के रोगियों के लिए दही और छाछ का सेवन करना बेहद फायदेमंद रहता है। इसमें ऐसे प्रोबायोटिक्स मौजूद होते हैं जो लिवर के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम करते हैं। साथ ही दही की गिनती सुपाच्य खाद्य पदार्थों में होती है। जॉन्डिस के दौरान ताजे दही का सेवन करें। साथ ही छाछ का सेवन भी जरूर करें।

ह्रदय को सवस्थ कैसे रखें (How To Keep Your Heart Healthy)

पीलिया में करें हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन –

पीलिया में क्या खाएं? यदि यह सवाल आपको परेशान कर रहा है तो आपको बता दें, पीलिया में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। ये सुपाच्य होने के साथ लिवर के स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है। साथ ही यह डाइजेशन प्रक्रिया को भी दुरुस्त बनाता है। इसके अलावा आप लौकी, तोरई, आलू, गाजर, मूली, शकरकंद, और चुकंदर जैसी सब्जियों को उबाल कर इनका सेवन कर सकते हैं।

पीलिया में करें ताजे फलों का सेवन –

पीलिया में क्या खाएं? इस सवाल का जवाब है ताजे फलों का सेवन जी हाँ जॉन्डिस में ताजे फलों का सेवन किया जाना भी फायदेमंद रहता है। इस दौरान उन फलों का सेवन करें जिनमे विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है। इस दौरान आप आंवला, संतरा, मौसमी, कीनू, केला, तरबूज, एवोकाडो, नींबू, पपीता, अंजीर व अनार जैसे फलों का सेवन करें।

पीलिया में करें इन दालों का करे सेवन –

पीलिया के दौरान आप दलिया, मूंग, चने, बीन्स और मसूर की दाल का सेवन करें। लेकिन इस दौरान आप इन दालों का सेवन उबाल कर करें तड़का लगाकर न करें।

“डायबिटीज कंट्रोल डाइट”, शुगर फ्री खाना क्यों जरूरी होता है ?

पीलिया में क्या नहीं खाना चाहिए (Jaundice me kya nahi khana chahiye) – Foods to Avoid in Jaundice in Hindi.

  • रिफाइंड
  • डालडा
  • तेल
  • जंक फूड्स
  • फ़ास्ट फ़ूड
  • मिर्ची-मसाले
  • वसायुक्त भोजन
  • गरिष्ठ भोजन
  • डेयरी प्रोडक्ट्स
  • मीठे खाद्य पदार्थ
  • अंडा
  • माँस
  • अचार
  • मुरब्बा
  • चटनी
  • केक
  • चॉकलेट
  • पैकेड फ़ूड
  • अल्कहोल

पीलिया में क्या खाएं और क्या नहीं के बारे में अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल –

पीलिया में क्या नहीं खाना चाहिए?

पीलिया के मरीजों को अंडा, चिकन, मिट, डेयरी प्रोडक्ट्स, सोया प्रोडक्ट्स, तला, भुना, मसालेदार और फैटी भोजन के सेवन से परहेज करना चाहिए।

क्या पीलिया में दही खाना चाहिए?

हाँ, पीलिया के मरीज ताजे दही का सेवन कर सकते हैं।

पीलिया में कौन सी सब्जी खाना चाहिए?

पीलिया में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए। लेकिन इन सब्जियों को पकाते समय आपको तेल और मसालों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

पीलिया कितने पॉइंट होना चाहिए?

18 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों के लिए, सामान्य कुल बिलीरुबिन 1.2 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर (मिलीग्राम / डीएल) तक हो सकता है। 18 वर्ष से कम आयु वालों के लिए, सामान्य स्तर 1 मिलीग्राम/डीएल होगा। प्रत्यक्ष बिलीरुबिन के लिए सामान्य परिणाम आम तौर पर 0.3 मिलीग्राम / डीएल होते हैं।पुरुषों में महिलाओं की तुलना में थोड़ा अधिक बिलीरुबिन का स्तर होता है।

पीलिया में दूध पी सकते हैं क्या?

नहीं, पीलिया में दूध नहीं पीना चाहिए।

क्या पीलिया में हल्दी खा सकते हैं?

नहीं, पीलिया के मरीजों को हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest



RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT