जानिए क्या करता है COVID-19 कोरोना वायरस आपके शरीर में प्रवेश करने के बाद।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

COVID-19 कोरोना वायरस दुनिया भर के देशों के चुनौती बनता जा रहा है। COVID-19 कोरोना वायरस इस समय विश्व के 124 देशों को अपनी चपेट में ले चूका है। चाइना के वुहान शहर से शुरू हुआ यह वायरस दुनियाभर में अब तक 1 लाख 35 हजार लोगों को संक्रमित कर चूका है और COVID-19 वायरस के कारण 5 हजार लोगों को अभी तक अपनी जान से हाथ गवाना पड़ा है। वायरस के इस तरह से पुरे विश्वभर में तेजी से पैर पसारने के कारण हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने इसे एक महामारी घोसित कर दिया है। कोरोना वायरस के चलते हर किसी के मन में ये सवाल अवश्य आता है कि कैसे ये वायरस हमारे शरीर में प्रवेश करता है। साथ ही COVID-19 कोरोना वायरस शरीर में पहुंचने के बाद किन अंगों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है और वायरस एक बार शरीर में प्रवेश कर जाये तो क्या होता है। आईये जानते हैं एक बार अगर COVID-19 कोरोना वायरस शरीर में प्रवेश कर जाये तो शरीर को कैसे प्रभावित करता है।

COVID-19 कोरोना शरीर प्रवेश

courtesy google

COVID-19 कोरोना वायरस के शरीर में दिखने वाले लक्षण – What are the symptoms of coronavirus (COVID-19)

कोरोना वायरस के लक्षण किसी सामान्य वायरस के लक्षणों से बेहद मिलते जुलते होते हैं। यही कारण है कि जब यह आपके शरीर में प्रवेश करता है तो आपको शरीर में सामान्य सर्दी-जुकाम, गले में खरास, गले में दर्द, फीवर और साँस लेने में तकलीफ होना जैसे लक्षण महशुस होते हैं। बहुत तेजी से ये अपना असर दिखना शुरू नहीं करता इसलिए यह आपके शरीर में कब प्रेवश कर गया आपको पता तक नहीं चलता और आप इसे सामान्य सर्दी-जुकाम और फ्लू समझ कर इग्नोर कर देते हो।

WHO ने बताई कोरोना वायरस COVID-19 को लेकर फैल रहे मिथक (भ्रम) की सच्चाई।

शरीर में कैसे प्रवेश करता है COVID-19 कोरोना वायरस – How (COVID-19) coronavirus enters the human body

डॉक्टर्स के अनुसार यह एक संक्रमित बीमारी है जो कि एक COVID-19 संक्रमित व्यक्ति से दूसरी व्यक्ति तक छोटी-छोटी (ड्रॉपलेट) बूंदों के माध्यम से पहुँचती है। यदि कोई वायरस संक्रमित व्यक्ति आप के पास या आपसे कुछ दुरी तकरीबन 1 मीटर तक की दुरी पर खास या छींक दे तो यह वायरस आप तक हवा के साथ मिलकर पहुंच सकता है। यही कारण है कि रेस्पिरेट्री मास्क का प्रयोग करने को कहा जा रहा है। तांकि एक हद तक आपकी सुरक्षा हो सके, हालाँकि इस वायरस का आकार अत्यंत छोटा होने के कारण यह नाक, मुँह के आलावा आँखों के माध्यम से भी शरीर में प्रवेश कर सकता है।

क्या वाकई मास्क पहन कर कोरोना वायरस से बचा जा सकता है

शरीर में  प्रवेश करने के बाद क्या करता है कोरोना वायरस – What the COVID-19 coronavirus does after entering your body

जब COVID-19 आप के शरीर में प्रवेश करता है तो सबसे पहले यह म्यूकस मेंब्रेन में प्रवेश करता है और फिर वहां से गले में पहुंचकर रिसेप्टर सेल्स के साथ जाकर जुड़ जाता है। इसके बाद ये वायरस सेल्स के फंक्शन को बंद करके उसके मेटाबॉलिज्म पर कब्जा करता है और तेजी से अपनी संख्या में वृद्धि करने लगता है। यह आपके शरीर में वायरस की एक चेन बनाने लगता है और तेजी से आपके फेफड़ो तक पहुंच जाता है।

इसके शुरुवाती चरण में पीड़ित व्यक्ति को गले में दर्द, सुखी खांसी और साँस लेने में तकलीफ होना जैसे लक्षण नजर आते हैं। जब यह वायरस बढ़कर अपनी दूसरी स्टेज पर पहुँचता हैं तो उस समय तक यह श्वसन नली से लेकर आपके फेफड़ो तक वायरस की एक लम्बी चेन का निर्माण कर चुका होता है। इसके चलते पिड़ीत व्यक्ति के फेफड़ों में सूजन आने लगती है। व्यत्कि को साँस लेने में अत्यधिक कठनाई का सामना करना पड़ता है जिस कारण जरुरी मात्रा में व्यक्ति के शरीर में आक्सीजन नहीं पहुंच पाती। पीड़ित व्यक्ति में निमोनिया जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं और स्थति गंभीर हो जाने पर वेंटिलेटर में रखना पड़ता है।

कोरोना वायरस COVID-19 से बचने के लिए घर पर होममेड सैनिटाइजर कैसे बनाएं ?

क्या कहती हैं कोरोना वायरस की रिपोर्ट – What does the coronavirus report say

डब्ल्यूएचओ ने हाल ही में जारी की गयी रिपोर्ट में बताया कि 80% लोगों में वायरस के बेहद सामान्य लक्षण जिनमे सर्दी-जुकाम, बुखार और गले में दर्द शामिल है देखे गए। जिनमे से अधितर को हॉस्पिटल में एडमिट होने की जरूरत नही पड़ी। वायरस के14% गंभीर मामलों और 6% क्रिटिकल मामलो में एडमिट होने की जरूरत पड़ती है। मामला अत्यधिक पेचीदा होने पर डेथ भी हो सकती है।

(COVID-19 कोरोना) इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए करें इन खाद्य पदर्थों का सेवन।

कोरोना वायरस से किन लोगों को है सबसे ज्यादा खतरा – Who is at high risk of getting coronavirus

डॉक्टर्स के मुताबिक वायरस के अभी तक जितने भी मामले सामने आये हैं उनमें से सबसे ज्यादा प्रभाव उन लोगों पर हुआ जिनका इम्यून सिस्टम (रोग प्रतिरोधक क्षमता) कमजोर थी या फिर वो लोग जो पहले से किसी अन्य बीमारी के शिकार थे। एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस से होने वाली मौतों में अधिकतर ऐसे बुजुर्ग लोग शामिल हैं जिनमे ब्लड प्रेसर, शुगर या पहले से कोई अन्य गंभीर रोग मौजूद था। यही कारण है कि WHO ने वायरस को लेकर बहुत ज्यादा पैनिक नहीं होने की सलाह भी दी है।

कोरोना वायरस के कारण विश्वभर में हुआ नमस्ते का ट्रेंड पॉपुलर।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृप्या अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT