ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है : Types Of Olive Oil In Hindi.
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

Types of olive oil in hindi…क्या आप इस बात को लेकर दुविधा में हैं कि कुकिंग के लिए कौन सा ऑलिव ऑयल बेस्ट रहेगा? यदि हाँ तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए बेहद खास होने वाला है। आज हम जानेंगे ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है और कौन सा ऑलिव ऑयल खाने बनाने के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है। मौजूदा समय में आपको बाजार में ऑलिव ऑयल के कई प्रकार देखने को मिल जाते हैं। जिनकी कीमत भी एक दूसरे से काफी अलग होती है। ऐसे में सबसे बड़ी दुविधा यही होती है कि कौन सा ऑलिव ऑयल आपके बजट के अनुरूप सर्वोतम रहेगा। आईये जानते हैं ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है (Types of olive oil in hindi)?

ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का
Photo by RF._.studio on Pexels.com

ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल :

यह जैतून का तेल का उच्चतम ग्रेड है। एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल का उत्पादन बिना किसी केमिकल ट्रीटमेंट के किया जाता है। यही कारण है इसे ऑलिव ऑयल का सबसे शुद्ध रूप माना जाता है। इसे अपने बेहतर स्वाद के लिए जाना जाता है, जिसमें फ्री एसिडिटी की मात्रा 0.8 प्रतिशत से अधिक नहीं होती है। दुनियाभर में इसका प्रयोग सलाद की टॉपिंग करने और खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। उच्चतम गुणवत्ता का तेल होने के कारण इसकी सुगंध, स्वाद और रंग के अनुरूप अलग-अलग ब्रांड के एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल की कीमत एक दूसरे से भिन्न हो सकती है।

वर्जिन ऑलिव ऑयल

इस प्रकार का ऑलिव ऑयल गुणवत्ता के मानक में एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल से एक पायदान नीचे होता है। इस ऑलिव ऑयल में फ्री एसिडिटी की मात्रा 1.5 प्रतिशत के आस-पास होती है। जहाँ एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल का प्रयोग आप सलाद या खाने में टॉपिंग के रूप में कर सकते हैं। वहीं वर्जिन ऑलिव ऑयल का प्रयोग खाने बनाने और तलने में किया जाता है।

शुद्ध/रेगुलर ऑलिव ऑयल

रेगुलर जैतून का तेल 15% से 25% वर्जिन जैतून का तेल और रिफाइंड जैतून के तेल का मिश्रण है। यह विटामिन ई से भरपूर होता है और इसका उपयोग केवल खाना पकाने, शरीर की मालिश और उपचार के लिए किया जाता है। इस प्रकार के तेल का रंग एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल के मुकाबले में काफी हल्का होता है। स्किन के लिए यह हल्के मॉश्चराइज़र की तरह काम करता है।

रिफाइंड ऑलिव ऑयल

इसे एक मध्यम गुणवत्ता वाला तेल माना जाता है। रिफाइंड जैतून तेल का प्रयोग मुख्य रूप से केवल खाना पकाने में किया जाता है। सामान्यतः इस प्रकार का तेल सभी प्रकार का खाना पकाने के लिए उपयुक्त रहता है, लेकिन उच्च तापमान पर खाना बनाते समय यह सर्वोत्तम होता है।

लाइट/ एक्स्ट्रा लाइट ऑलिव ऑयल

इस प्रकार का जैतून तेल रिफाइंड ऑलिव ऑयल और 5% से 10% वर्जिन ऑलिव ऑयल का कॉम्बिनेशन होता है। क्योंकि इस तेल में वर्जिन ऑलिव ऑयल का की मात्रा रेगुलर ऑलिव ऑयल की तुलना में कम होती है। इसलिए इसके स्वाथ्य लाभ कम हो जाते हैं। कॉन्टिनेंटल डिशेज को बनाने में इस तेल का बहुत प्रयोग किया जाता है।

अब ऑयली खाना खाने से परहेज कैसा? वजन कम करने में मददगार हैं ये ऑयल्स।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT