प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए : Pregnancy Me Kya Nahi Khana Chahiye?
TRENDING
  • 10:07 PM » महात्मा गांधी पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on mahatma gandhi in hindi.
  • 8:00 PM » स्वामी विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on vivekananda in hindi.
  • 9:15 PM » किसान पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on farmer in hindi.
  • 11:25 PM » डेंड्रफ क्या है? जानें डैंड्रफ होने के कारण – Dandruff hone ke karan.
  • 9:30 PM » मेरे देश पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on my country in hindi.

Pregnancy me kya nahi khana chahiye…गर्भवती महिलाएं अक्सर इस बात को लेकर बेहद चिंतित रहती हैं कि प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए? इसमें कोई दोराय नहीं, शादी के बाद गर्भधारण करना किसी भी महिला के लिए सुखद अहसास से कम नहीं होता। गर्भधारण करने के बाद महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव होने लगते हैं। जिसके चलते महिलाओं को स्वास्थ्य से जुडी कई समस्याएं जैसे थकान, कब्ज, मूड स्विंग, एसिडिटी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस दौरान आपको अपनी डाइट पर विशेष ध्यान देना चाहिए। कई बार सही जानकरी न होने के कारण कुछ महिलाएं जाने अनजाने में ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान कर लेती हैं, जो गर्भ में मौजूद बच्चे के लिए बेहद हानिकारक साबित होता है। यदि आप चाहती हैं इस प्रकार की समस्याओं का सामना आपको न करना पड़े तो आपको यह जरूर जान लेना चाहिए कि प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy me kya nahi khana chahiye)?

प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना
courtesy google

प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy me kya nahi khana chahiye) : Foods to avoid during pregnancy in hindi.

गर्भावस्था में करें कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन –

जो महिलाएं प्रेगनेंसी प्लान कर रही हों या फिर जो प्रेगनेंट हो चुकी हैं उन्हें कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए। हमारे देश भारत की बात करें तो यहाँ अधिकतर लोग चाय और कॉफी पीना बहुत पसंद करते हैं। चाय और कॉफी दोनों ऐसे पेय हैं जिनमें कैफीन मौजूद होता है। यदि आप चाय और कॉफी के बहुत अधिक शौकीन हैं तो दिन भर में एक कप से ज्यादा इन पेय का सेवन न करें।

गर्भवती महिलाएं न खाएं पपीता –

गर्भवती महिलाओं को भूलवश भी पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। इसका सेवन गर्भाशय में संकुचन पैदा कर सकता है। प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन कई बार मिसकैरेज का कारण भी बन सकता है। साथ ही इसका सेवन करने पर आपको एर्ली डिलीवरी होने की संभावना भी रहती है। इसका सेवन करने से समय आपको डिलीवरी की तय डेट से बहुत पहले ही लेबर पेन होना शुरू हो सकता है।

प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega News Me Halki Line Ka Matlab.

प्रेगनेंसी में न खाएं अनानस –

गर्भवती महिलाओं को अननास के सेवन से परहेज करना चाहिए। इसमें मौजूद ब्रोमलिन पेट में संकुचन पैदा करने का मुख्य कारण बन सकता है जिसके चलते गर्भपात होने का खतरा बना रहता है। गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीनों में आपको अननास का सेवन भूलवश भी नहीं करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में न खाएं अंगूर –

हालाँकि अंगूर एक स्वास्थ्यवर्धक फल है लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन करने से बचना चाहिए। इसका सेवन करने से आपको समय से पहले लेबर पेन का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही इसका सेवन कई बार मिसकैरेज का कारण भी बनता है।

Sabun Se Pregnancy Test Kaise Kare : साबुन से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका।

प्रेगनेंसी में न खाएं आम –

आम भले ही फलों का राजा है लेकिन जितना हो सके गर्भवस्था के दौरान इसका सेवन करने से बचना चाहिए। खासकर गर्भ धारण के शुरुआती तीन महीनों में इसका सेवन न करें तो आपके लिए अच्छा रहेगा। आम की गर्म तासीर आपके लिए मुसीबत बन सकती है।

सहजन –

प्रेगनेंट महिलाओं को सहजन का सेवन करने से बचना चाहिए। इसमें मौजूद एल्‍फा सिटोस्‍टेरोल कई बार गर्भपात का कारण बन जाता है। इसलिए जितना हो सकते प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

Chini Se Pregnancy Test Kaise Kare : चीनी से प्रेग्नेंसी टेस्ट करने का तरीका।

प्रेगनेंसी में न खाएं कच्चा अंडा –

गर्भवस्था के दौरान कच्चे या अध्कपके अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए। इस प्रकार के अण्डों में साल्मोनेला नामक बैक्टीरिया मौजूद होता है। जो प्रेग्नेंट महिला और गर्भ में मौजूद बच्चे के लिए बेहद नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसके सेवन से पेट में ऐठन की समस्या भी हो सकती है।

प्रेगनेंसी में न खाएं कच्चा माँस –

गर्भवती महिलाओं को कच्चे, अधपके माँस का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए। यह जच्चा और बच्चा दोनों के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। इस प्रकार के माँस में साल्मोनेला, कैंपिलोबेक्टेर टॉक्सोप्लाज्मा जैसे बैक्टीरिया मौजूद हो सकते हैं जो मिसकैरेज का कारण बन सकते हैं।

गर्भ में लड़का है या लड़की ऐसे करें पता : Garbh me ladka hai ya ladki kaise pata kare?

कच्चा सी फ़ूड –

प्रेग्नेंट महिलाओं को कच्चे सी फ़ूड का सेवन करने से बचना चाहिए। कच्चे सी फ़ूड में ऐसे कई हानिकारक बैक्टीरिया मौजूद हो सकते हैं जो गर्भ में मौजूद शिशु के लिए खतरा बन सकते हैं। हालाँकि प्रेगनेंसी में ओमेगा 3 की पूर्ति के लिए अच्छी तरह से पकी हुई मछली का सेवन किया जा सकता है।

अन्य फूड्स जिन्हें प्रेगनेंसी के दौरान नहीं खाना चाहिये – (Pregnancy me kya nahi khana chahiye) : Foods to avoid during pregnancy in hindi

  • करेला
  • बैगन
  • अमरुद
  • पत्ता गोभी
  • फ़ास्ट फ़ूड
  • जंक फ़ूड
  • प्रोस्सेड फ़ूड
  • अंकुरित अनाज
  • अनपाश्चराइज्ड दूध
  • शराब
  • सिगरेट

गर्भावस्था के दौरान क्या खाएं (Pregnancy Me Kya Khaye) – Pregnancy Diet In Hindi.

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT