क्या आप जानते हैं लू (हीट स्ट्रोक) लगने से हो सकती है मौत !
TRENDING
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।
  • 11:53 PM » 10 lines on diwali in hindi : दिवाली पर 10 लाइन निबंध।

गर्मियों के मौसम में लू (हीट स्ट्रोक) लगना काफी सामान्य बात है। ज्यादातर लू मई से जुलाई के महीने में चलती है लू यानि गर्म हवाएं गर्मियों में सूरज की गर्मी के कारण वातावरण की हवा भी गर्म हो जाती है, और ये गर्म हवा जो बहुत तेज़ी से चलती है इसे ही लू कहा जाता है। गर्मियों में ज्यादातर लोग लू लगने के कारण बीमार हो जाते है और कई लोगो को लू लगने के कारण जान से भी हाथ गवाना पड़ जाता है।                                                                          आइये हम आपको बताते है की लू के वहज से क्यों होती है मौत। एक नार्मल मनुष्य के शरीर का टेम्प्रेचर 37° डिग्री सेल्सियस होता है इस टेम्प्रेचर पर मनुष्य के सभी अंग सही तरह से काम करते है। गर्मियों के महीनो में आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए क्योकि शरीर पर पानी की कमी होने के कारण शरीर पसीना निकलना बंद कर देता है पसीने के रूप में पानी बाहर निकलने से हमारी बॉडी का टेम्परेचर संतुलित रहता है।                                                    लू (गर्म हवा) से बचने के आसान घरेलू टिप्स                                                                                जब भी आप धुप में बाहर जाते हैं तो गर्मी के कारण बाहर का शरीर का टेम्प्रेचर 45 डिग्री से अधिक बढ़ने लगता है और हमारे बॉडी की कूलिंग व्यवस्था बंद हो जाती है। और इस कारण से बॉडी का टेम्प्रेचर नार्मल टेम्प्रेचर से बढ़ने लगता है।
लू लगने से शरीर में मौजूद खून गर्म होने लगता है साथ ही साथ रक्त में उपस्थित प्रोटीन गर्मी के कारण पकने लगता है क्योकि शरीर का टेम्प्रेचर 42 डिग्री से बढ़ने लगता है।
लू के कारण शरीर में रक्त गन्दा होने लगता है और bp लो होने लगता है और शरीर में तथा सर में ब्लड ठीक से नहीं पहुंच पाता है जिसके कारण मनुष्य कोमा में चले जाता है और उसके अंग काम करना बंद कर देते है जिसके कारण उसकी मौत हो जाती है।
इन कारणों से ही लू लगने से मनुष्य की मौत हो जाती है इस लिए गर्मियों में हमको कम से कम बाहर निकलना चाहिए खासकर 12 से 4 बजे के बिच में हमको घर के अंदर ही रहना चाहिए और गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा पानी पिने की कोशिश करे जिससे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहे और आपकी बॉडी में पूरी मात्रा में पानी रहे।

 दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी को तो कृप्या अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों   के साथ शेयर जरूर करें. 

  ऐसी रोचक जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                                    Instagram
  Facebook
  Twitter
  Pinterest

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT

%d bloggers like this: