सूर्य ग्रहण 2020: 900 साल बाद बन रहा खास योग, गर्भवती महिलाएं रखें खास ध्यान।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

अब से कुछ दिनों पहले 5 जून 2020 को साल का दूसरा चंद्र ग्रहण लगा था। अब इस साल एक और ग्रहण कुछ दिनों बाद लगने वाला है। लेकिन इस बार चंद्र नहीं बल्कि सूर्य ग्रहण लगने वाला है। आने वाली 21 जून को साल का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2020) लगने वाला है। इसकी खासियत यह रहेगी कि यह कुंडलाकार या वलयाकार (वह अवस्था जिसमे सूरज पूर्णतः नहीं ढकता है) होगा और इस दौरान सूरज आग की अंगूठी (Ring Of Fire) की तरह दिखाई देगा। देश के अधिकांश हिस्सों के लिए, ग्रहण आंशिक होगा। आईये जानते हैं साल 2020 में लगने वाले पहले सूर्य ग्रहण से जुड़े कुछ तथ्यों के बारे में।

सूर्य ग्रहण का समय –

भारतीय समयानुसार सूर्य ग्रहण सुबह 10 बजकर 20 मिनट से शुरू होगा और दोपहर के 1 बजकर 49 मिनट पर तक रहेगा। जबकि ग्रहण का परमग्रास दोपहर में 12 बजकर 02 मिनट पर है। इस सूर्य ग्रहण की कुल अवधि 3 घंटे 19 मिनट तक रहेगी। इसके लिए सूतक काल 20 जून की रात 9:16 बजे से शुरू हो जाएगा। इस बार के सूर्य ग्रहण में ग्रहों और नक्षत्रों के द्वारा ऐसा विशेष संयोग बनेगा जो पिछले 900 वर्ष में अब तक नहीं बना। इस माएने से देखा जाये तो वर्ष 2020 का यह सूर्य ग्रहण बेहद खास होने वाला है। सूर्य ग्रहण के दिन उत्तरी गोलार्ध में सबसे बड़ा दिन और सबसे छोटी रात होगी।

कहां दिखाई देगा सूर्य ग्रहण –

वर्ष 2020 का पहला सूर्य ग्रहण भारत समेत नेपाल, पाकिस्तान, सऊदी अरब, यूऐई, एथोपिया तथा कोंगों में दिखाई देगा। वलयाकार सूर्यग्रहण भारत के राजस्थान के सूरतगढ़ और अनूपगढ़, हरियाणा के सिरसा, रतिया, और कुरुक्षेत्र तथा उत्तराखंड के देहरादून, चंबा, चमोली और जोशीमठ में देखा जायेगा। इसेक अलावा नई दिल्ली, चंडीगढ़, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, बंगलौर, लखनऊ, चेन्नई, शिमला में आंशिक सूर्य ग्रहण सूर्य ग्रहण देखा जायेगा।

गर्भवती महिलाएं ना करें ये काम –

  • ग्रहणकाल के दौरान घर से बाहर न निकलें।
  • चाकू-छुरी या तेज धार वाली नुकीली चीजों का प्रयोग करने से बचें।
  • ग्रहण काल में सिलाई-कढ़ाई का कार्य करने से बचें।
  • भूलकर भी ग्रहण को न देखें।
  • ग्रहण काल के दौरान गर्भवती महिला को तुलसी का पत्ता जीभ पर रखकर हनुमान चालीसा और दुर्गा स्तुति का पाठ करना चाहिए।

बॉयकॉट चाइनीज गुड्स समझें, मेड इन इंडिया और मेक इन इंडिया के बीच का फर्क।

ऐसी महत्पूर्ण खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT