टाइफाइड में क्या खाएं : What To Eat In Typhoid In Hindi.
TRENDING
  • 3:21 PM » Sardiyo me skin care in hindi : सर्दियों में स्किन केयर टिप्स।
  • 6:11 PM » Curd face pack in hindi : त्वचा पर दही फेस पैक का प्रयोग करने का तरीका (Dahi face pack in hindi)
  • 5:31 PM » Liver detox foods in hindi : लिवर को डिटॉक्स करने वाले फूड्स।
  • 6:01 PM » Benefits of radish in hindi : मूली के फायदे (Muli khane ke fayde).
  • 6:18 PM » तांबे की बोतल साफ करने के आसान घरेलू नुस्खे।

Typhoid mein kya khana chahiye… टाइफाइड एक ऐसी बीमारी है जिसमे आपको जल्दी स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए डॉक्टर द्वारा बताई गयी दवाइयों के साथ-साथ, खान-पान का भी विशेष ध्यान देना पड़ता है। अक्सर लोग टाइफाइड होने पर दवाइयों का सेवन तो समय पर करते हैं लेकिन गलत-खान के चलते बीमारी जल्दी उनका पीछा नहीं छोड़ती। इसलिए आपका यह जान लेना बेहद जरूरी है कि टाइफाइड में क्या खाएं (what to eat in typhoid in hindi) और क्या नहीं। टाइफाइड के बुखार को मोतीझरा, मियादी बुखार और आंत्र ज्वर के नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी में मरीज को बुखार, सिरदर्द, थकान, वजन में कमी, दस्त, पेट दर्द और भूख न लगना जैसे लक्षण नजर आते हैं। इस बीमारी में दवाइयों के साथ परहेज करना बेहद जरूरी होता है। ऐसे में लोग यह जानने को उत्सुक रहते हैं कि सही टाइफाइड डाइट क्या है? (Typhoid Diet in hindi), टाइफाइड में क्या खाएं? (What to eat in typhoid in hindi), टाइफाइड में क्या नहीं खाएं? (What not to eat in typhoid in hindi) और टाइफाइड के लक्षण क्या हैं। आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं ऐसे ही कुछ सवालों का जवाब आईये जानते हैं इनके बारे में।

टाइफाइड में क्या खाएं
courtesy google

टाइफाइड क्या है (Typhoid kya hota hai) – What is typhoid in hindi

टाइफाइड रोग बैक्टीरिया जनित रोग है। यह साल्मोनेला टाइफी नामक बैक्टीरिया के द्वारा फैलता है। मुख्यतः यह रोग दूषित भोजन या पानी ग्रहण करने से फैलता है। या किसी ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आने पर जो पहले से साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया से ग्रसित हो।

शाकाहारी प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ – Best Protein Sources For Vegetarians in Hindi.

टाइफाइड के लक्षण (Typhoid ke lakshan) – Typhoid symptoms in hindi

  • तेज बुखार
  • कमजोरी
  • पेट दर्द
  • सरदर्द
  • दस्त या कब्ज
  • खांसी
  • भूख में कमी

टाइफाइड में क्या खाएं (Typhoid me kya khana chahiye) – What to eat in typhoid in hindi

  • टाइफाइड में ताजे फलों जैसे केला, चीकू, पपीता, जामुन, सेब, मौसमी, संतरे का सेवन करें।
  • टाइफाइड में हरी सब्जियां पालक, आलू, गाजर का सेवन करें।
  • टाइफाइड में अनार, सेब, चुकुंदर, संतरे के जूस का सेवन करें।
  • टाइफाइड में सफेद चावल, रोटी, पतला दलिया का सेवन करें।
  • नारियल पानी का सेवन करें।
  • पतली मुंग की दाल और खिचड़ी का सेवन करें।
  • गुनगुने पानी में शहद मिला कर सेवन करें।
  • क्रीम निकाला हुआ दूध, दही और मक्खन का सेवन करें।
  • उबले पानी का सेवन करें।
  • पानी में भीगे हुए 3-4 किसिमिश और मुनक्कों का सेवन करें।
  • ग्रीन टी का सेवन करें।
  • छांछ का सेवन करें।
  • सब्जियों का सूप बनाकर पिएं।

इन पाँच चीजों का सेवन बढ़ाएगा आपके शरीर में एचडीएल (गुड कोलेस्ट्रॉल) का स्तर।

कैसी होनी चाहिए टाइफाइड डाइट (टाइफाइड में क्या खाएं) – Typhoid Diet in hindi

  • बीमारी से रिकवर करने के दौरान उच्च कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल करें।
  • बीमारी के दौरान तरल पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करें।
  • बीमारी के दौरान ताजे दही का सेवन करें। सर्दी-जुकाम की समस्या है तो न खाएं।
  • इस दौरान कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों जैसे आलू, चावल आदि का सेवन करें और इन्हें उबाल कर खाएं। तेल और मिर्च-मसलों का प्रयोग न करें।
  • बीमारी से रिकवर होने के दौरान डेयरी प्रोडक्ट्स को दें अपनी डाइट में जगह।

टाइफाइड में क्या न खाएं (Typhoid me kya nahi khana chahiye) – What not to eat in typhoid in hindi

  • तैलीय और मसालेदार भोजन करने से बचें।
  • प्रोसेस फूड का सेवन करने से बचें।
  • चिकनाई युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।
  • मीट, मांस, चिकन का सेवन करने से बचें।
  • ब्राउन राइस, बेसन, घी, रिफाइंड ऑयल का सेवन करने से बचें।
  • जंक फ़ूड, फ़ास्ट फ़ूड और डीप फ़्राईड भोजन का सेवन करने से बचें।
  • बादाम, पिस्ता, काजू, अखरोट का सेवन करने से बचें।
  • अंडे का सेवन करने से बचे।
  • डेयरी प्रोडक्ट का सेवन बीमारी के दौरान न करें।
  • कद्दू, सूरजमुखी, चिया जैसे अन्य सीड्स का सेवन करने से बचें।
  • गरिष्ठ भोजन करने से बचें।
  • कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।
  • अल्कोहल से दूरी बनाएं।
  • बाहर का खाना खाने से बचें।
  • दूषित पानी और बांसी भोजन करने से बचें।