अम्फान (सुपर साइक्लोन) तूफान: प्रधानमंत्री मोदी ने करी सबकी सुरक्षा के लिए प्रार्थना।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

एक तरफ जहाँ सम्पूर्ण देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हाहाकार मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ एक नई मुसीबत तेजी से बढ़ते हुए देश की तरफ आ रही है। बता दें कि बीते दिनों मौसम विभाग ने देश में चक्रवाती तूफान अम्फान के आने की चेतावनी जारी करी थी। तब यह बताया गया था कि इसकी रफ्तार 70 से 80 किमी/घंटा रह सकती है लेकिन अपने ताजा अपडेट में मौसम विभाग ने बताया है कि अब यह अम्फान नामक तूफान पहले से कई गुना अधिक तीव्र होने वाला है। मौसम विभाग के मुताबिक अम्फान तूफान ने अब खतरनाक सुपर साइक्लोन का रूप धारण कर लिया है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले नए अम्फान (सुपर साइक्लोन) तूफान की रफ्तार तकरीबन 155-165 किमी/घंटा और अधिक तीव्र होने पर 185 किमी/घंटा हो सकती है। देश की तरफ तेजी से बढ़ रहे अम्फान (सुपर साइक्लोन) तूफान को लेकर देश की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा मैं सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं और केंद्र सरकार से हर संभव सहायता का आश्वासन देता हूं।


बता दें कि बंगाल की खाड़ी से शुरू हुआ यह अम्फान (सुपर साइक्लोन) तूफान पश्चिम बंगाल से ओडिशा की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने NDMA की उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन किया जिसमें गृह मंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री के प्रधान सलाहकार पी के सिन्हा, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और विभिन्न मंत्रालयों के अनेक वरिष्ठ अधिकारीयों ने हिस्सा लिया। बैठक समाप्ती के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, “चक्रवात तूफान अम्फान की स्थिति के बारे में तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान इससे निपटने के लिए विभिन्न उपायों और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की योजना पर भी चर्चा हुई। मैं सबकी सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं और केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव मदद का भरोसा दिलाता हूं।”

जानिए भूकंप के दौरान क्या करना चाहिए क्या नहीं।

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल के महानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा कि अम्फान तूफान अब भयंकर सुपर साइक्लोन में बदल चुका है। इसके कारण ओडिशा और पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक खतरा बना हुआ है। उन्होने कहा कि तूफान से निपटने के लिए ओडिशा में 13 और पश्चिम बंगाल में 17 टीमें तैनात की गई हैं। उन्होने ये भी बताया कि जरूरत पड़ी तो रेस्क्यू के लिये हमारी टीम एयरलिफ्ट करने के लिए भी तैयार रहेंगी।
दिल्ली में मौसम विभाग के महानिदेशक जनरल मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि यह तूफान अगले 12 घंटों में एक सुपर साइक्लोन में बदल जायेगा। इस दौरान तूफान की रफ्तार तकरीबन 155-165 किमी/घंटा और अधिक तीव्र होने पर 185 किमी/घंटा तक हो सकती है। अम्फान (सुपर साइक्लोन) तूफान के कारण समुद्र में 4 से 6 मीटर ऊंची लहरें उठने की चेतावनी भी जारी की गई है। बता दें कि तूफान के बारे में जारी हुए इस चेतावनी को देखते हुए राज्य सरकार 11 लाख से अधिक लोगों को इन इलाकों से निकाल कर सुरक्षित इलाकों में पहुँचाने की तैयारी में जुट गई है।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT