अगर आप को भी हैं ये लक्षण, तो आप भी हो सकते हैं डिप्रेशन (अवसाद) के शिकार।
TRENDING
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।

डिप्रेशन (अवसाद) बहुत ही गंभीर बीमारियों मे से एक है। अगर समय रहते इसका इलाज नहीं करवाया गया तो डिप्रेशन (अवसाद) से ग्रसित व्यक्ति को बहुत ही गंभीर परिणाम भी झेलने पड़ सकते है। आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में डिप्रेशन (अवसाद) हो जाना आम बात हो गयी है। घर, परिवार, ऑफिस, पैसा, रिश्ते नाते और अन्य कई करण कभी कभी ऐसे हालत खड़े कर देते हैं कि कोई भी स्वस्थ्य मनुष्य कब डिप्रेशन (अवसाद) के चपेट में आ गया, उसे इस बात की जरा सी भनक तक नहीं लगती और धीरे धीरे व्यक्ति के स्वभाव में परिवर्तन होने लगता है। डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति में चिड़चिड़ापन आ जाना, बात बात पर गुस्सा हो जाना और किसी भी कार्य को पूरी एकाग्रता से नहीं कर पाता। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति धीरे धीरे नकारात्मक भावनाओं से भर जाते हैं और अवसाद में चले जाते हैं।

डिप्रेशन (अवसाद)

courtesy google

डिप्रेशन के कारण – Depression causes in hindi

– डिप्रेशन किसी भी कारण से हो सकता है, इसके प्रमुख कारण हैं।

* जेनेटिक इसका सबसे बड़ा कारण हो सकता है.
* किसी करीबी की मौत से गहरा सदमा लगना.
* नौकरी का किसी कारण से चले जाना.
* शादी का टूट जाना.
* प्यार में धोखा खा जाना.
* व्यवसाय में नुकसान हो जाना.
* कोई गहरा आघात पहुंचना.
* कर्जे में फस जाना.
ऐसे ही अन्य अनेक कारण डिप्रेशन (अवसाद) के कारण बनते है। आपके द्वारा किये जाने वाले काम में बार बार विफल हो जाना, मन में मरने का डर बार बार आना भी डिप्रेशन के कारण में शामिल होता है। डिप्रेशन (अवसाद) आपको दवाइयों के करण भी हो सकता है जैसे किसी लम्बी बीमारी के दौरान चली दवाओं के साइड इफेक्ट से, और थायराइड की कम सक्रियता होना शामिल है।

डिप्रेशन (अवसाद) के लक्षण क्या क्या हैं आइये जानते हैं – Depression symptoms in hindi

  • बात बात पर गुस्सा आना.
  • चिड़चिड़ापन.
  • एकाग्रता की कमी.
  • बहुत ज्यादा नींद आना या नीद बिलकुल न आना.
  • अत्यंत नकारात्मक विचारों से भर जाना.
  • बात बात पर सर दर्द हो जाना.
  • निराशावादी हो जाना.

मन को वश में कैसे करें। मन को काबू करने के लिए अपनाएं ये टिप्स।

डिप्रेशन (अवसाद) के उपचार – Depression treatment in hindi

अगर आपको डिप्रेशन से बाहर निकलना है तो सबसे पहले आप किसी मनोचिकित्सक से सलाह ले कर इलाज करवाए।

डिप्रेशन से खुद बाहर निकलने के लिए ज्यादा से ज्यादा समय खुद को उन काम में व्यस्त रखें जिनमें आपका मन लगता है क्योंकि डिप्रेशन के कारण बहुत लोगों का काम में मन नहीं लग पाता है पर अगर आप काम काज में व्यस्त रहेंगे तो आप डिप्रेशन का शिकार होने से बच सकते हैं।

फिजिकल फिट रहना भी डिप्रेशन को दूर भगा सकता है जो लोग एक्सरसाइज करते हैं या फिजिकली फिट रहते है उनपर डिप्रेशन हावी नहीं हो पाता क्योंकि रोजाना एक्सरसाइज से बॉडी एक्टिव रहती है और यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर और अच्छा बनाती है।

अगर आप डिप्रेसन से जूझ रहे है तो मैडिटेशन आपके लिए एक बहुत अच्छा विकल्प है क्योंकि डिप्रेसन में सबसे से ज्यादा जरूरी होता है मन की शांति और मन की शांति आपको तब मिलेगी जब आप मेडीटीशन को अपनी दिन चरिया में अपनाएंगे इससे आपका मन और दिमाग बहुत हल्का हो जाएगा।

ऐसे ही उपायों को अपना कर आप भी डिप्रेशन से छुटकारा पा सकते हैं और अपनी ज़िन्दगी को बेहतर बना सकते हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT