ग्रीन, ब्लैक और मिल्क टी को कहें बॉय बॉय, पियें स्वास्थ्यवर्ध्क जापानी माचा चाय।
TRENDING
  • 6:30 PM » Dry skin ke liye face wash : ड्राई स्किन फेस वाश।
  • 6:27 PM » Bukhar ka gharelu upchar : बुखार कम करने के घरेलू उपाय। Home remedies for fever in hindi.
  • 4:39 PM » Pital ke bartan kaise saaf karen : पीतल के बर्तन साफ करने के टिप्स।
  • 10:59 PM » विटामिन सी वाले फूड्स : Vitamin C rich foods in Hindi.
  • 11:44 PM » Vitamin d foods list in hindi : विटामिन डी वाले फूड्स।

ग्रीन, ब्लैक और मिल्क टी तो हम लोग अक्सर पीते रहते हैं। आज हम बात करंगे जापानी माचा चाय (Japanese Matcha tea) के बारे में। सेहत के लिहाज से गुणकारी जापानी माचा चाय कई मामलो में ग्रीन टी को भी पीछे छोड़ देती है। आपको बता दें कि माचा चाय जापान की बेहद लोकप्रिय चाय में से एक है। वजन कम करना, हेल्दी हार्ट, लिवर की मजबूती, स्ट्रेस कम करना, स्किन केयर और कैसंर जैसी समस्या में जापानी माचा चाय (Japanese Matcha tea) का सेवन करना बेहद लाभकारी रहता है। माचा टी एंटीआक्सीडेंट का रिच स्रोत मानी जाती है। इसे ओबेसिटी से लड़ने वाली चाय भी कहते हैं। आईये जानते हैं स्वास्थ्य वर्धक जापानी माचा चाय से जुडी सभी जानकारियों और इसको पीने से होने वाला स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

जापानी माचा चाय

courtesy google

क्या है जापानी माचा चाय – What is japanese matcha tea

यह जापान में उगाये जाने वाली काफी लोकप्रिय चाय है। इसे शुरुआत के तीन से चार सप्ताह तक छाया में उगाया जाता है। इसके बाद इसकी ताजी हरी पत्तियों को तोड़कर सूखाने और संग्रहित करने के साथ-साथ कई प्रक्रियाओं से गुजारा जाता है।

अब चीनी की चाय को कहें बॉय-बॉय, पीयें स्वास्थ्यवर्धक गुड़ वाली चाय।

क्या कहती है रिसर्च –

माचा टी पर हुए एक रिसर्च की रिपोर्ट की मानें तो अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से 84 दिन तक (Japanese Matcha tea) जापानी माचा चाय का सेवन करता है तो उसका बॉडी फैट मॉस काफी कम हो जाता है। इसका सेवन करने से शरीर का वजन तो कम होता ही साथ में आपकी कमर का वजन भी कम हो जाता है। यही कारण है कि इस चाय को मोटापा (वजन) कम करने वाली चाय के नाम से भी जाना जाता है।

माचा चाय के फायदे – Benefits of Japanese Matcha tea in Hindi

* यह एंटीऑकिडेन्ट का रिच स्रोत होती है, इसमें मौजूद पॉलिफिनॉल फ्री रेडिकल को हटाने का काम करता है।

* इसमें मौजूद मौजूद एल-थीनिन उच्च रक्तचाप की समस्या में लाभकारी होता है।

* इसमें मौजूद कैफीन और एल-थीनिन का संयोजन मस्तिष्क की एकाग्रता बढ़ाने के लिए बूस्टर की तरह कार्य करता है। एल-थीनिन मस्तिष्क में अल्फा वेव्स के संचार को बढ़ाता है और ये अल्फा दिमाग को रिलेक्स करने के लिए प्रेरित करती हैं।

* इसमें मौजूद कैफीन और एल-थीनिन का संयोजन शरीर में ऊर्जा का भी संचार करता है। ये ठीक उसी प्रकार से है जैसा कॉफी पीने के बाद शरीर में ऊर्जा का संचार महसूस होता है।

* जापानी माचा चाय हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती है और शरीर में वायरस और बैक्टीरिया के आक्रमण और वृद्धि को सीमित करती है। इसमें मौजूद ईजीसीजी नामक एंटीऑक्सिडेंट शरीर को विभिन्न बैक्टीरिया और वायरल संक्रमणों से बचाने में प्रभावी होता है।

सुन कर रह जायेंगे हैरान! सौंफ की चाय पीने से होने वाले इन स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

* इसमें मौजूद ईजीसीजी और कैफीन का सयोंजन पाचन क्रिया को स्वाभाविक रूप से बढ़ावा देने और दैनिक रूप से आपके द्वारा जलाए जाने वाले कैलोरी की मात्रा को बढ़ाने के लिए एक साथ काम करते हैं। यही कारण है की वजन कम करने में जापानी माचा चाय का कोई मुकाबला नहीं।

* स्किन से जुडी अनेक समस्याओं जैसे बढ़ती उम्र के कारण चेहरे का डल होने लगना, मुहांसे, (rosacea) रोजेशिया के लक्षण, स्किन को सॉफ्ट और कोमल बनाने के लिए इसका फेस पैक बना कर चेहरे पर लगाने से लाभ होता है।

* नियमित रूप से माचा चाय का सेवन करने से शरीर में एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) का स्तर कम होता है।

* माचा चाय अधिक छाया में उगाये जाने के कारण अधिक मात्रा में क्लोरोफिल पैदा करती है जो शरीर के लिए शक्तिशाली डिटॉक्सिफाइंग का काम करता है।

* इसमें मौजूद एपीगैलोकैटचीन गैलेट (epigallocatechin gallate) एन्टीऑक्सिडेंट कैंसर से बचाता है।

भूलकर भी मत पीजिये खाली पेट चाय! पड़ सकते हैं भारी मुसीबत में आप।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने द