भारत के बाद अमेरिका देगा Tik Tok को बड़ा झटका, ऐप पर लगेगा प्रतिबंध
TRENDING
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।

अब से कुछ दिनों पहले भारत ने डिजिटल स्ट्राइक करते हुए चीन की Tik Tok समते 59 अन्य ऐप्स पर बैन लगा दिया था। भारत ने इसके पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा कारणों का हवाला दिया था। Tik Tok समते 59 ऐप्स पर बैन लगाने के कुछ दिनों बाद भारत सरकार ने 47 और चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था। भारत में Tik Tok समेत अन्य चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाने के निर्णय को अमेरिका ने जमकर सराहा था। साथ ही अमेरिका ने यह भी इशारा दिया था कि जल्द ही अमेरिका चाइनीज ऐप Tik Tok पर प्रतिबंध लगाने को लेकर कोई बड़ा निर्णय ले सकता है। अब एक बार फिर खबरें आ रही हैं कि अमेरिका Tik Tok पर प्रतिबंध लगाने को लेकर फाइनल डिसीजन ले सकता है। इस संबंध में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “अमेरिका में लोकप्रिय हो रही चाइनीज ऐप Tik Tok पर प्रतिबंध लगाएंगे”।

जल्द लग सकता है प्रतिबंध
चाइनीज ऐप Tik Tok को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति अब सख्त रवैया अपनाते नजर आ रहें हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वह Tik Tok पर प्रतिबंध को लगाने के लिए इमरजेंसी पावर्स का प्रयोग कर सकते हैं। AF1 पर पत्रकारों से बात करते हुए ट्रम्प ने कहा “चाइनीज ऐप Tik Tok को अमेरिका में बैन किया जाएगा। हो सकता है कि शनिवार के दिन आपको यह घोषण सुनने को मिल जाए। ट्रंप ने अपनी बात पर जोर दते हुए कहा, “मेरे पास प्रतिबंध लगाने की शक्तियां है और इसे लेकर जल्द कोई घोसणा की जाएगी”।

माइक्रोसॉफ्ट खरीद सकता है टिक-टॉक
इससे पहले खबरें आ रही थी कि चाइनीज ऐप Tik Tok की पैरंट कंपनी बाइटडांस को अमेरिका की कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट खरीद सकती है। द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि चाइनीज कम्पनी बाइटडांस और अमेरिकी कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट के बीच Tik Tok ऐप को खरीदने के लिए अरबों डॉलर की डील हो सकती है। लेकिन इन खबरों के तुरंत बाद अमेरिका के राष्ट्रपति की तरफ से आया बयान, यह साफ करता है कि चाइनीज ऐप Tik Tok की अमेरिका में उलटी गिनती अब शुरू हो चुकी है।

चाइनीज ऐप Tik Tok पर लगे हैं गंभीर आरोप
Tik Tok की पैरंट कम्पनी बाइटडांस पर भारत समेत अमेरिका में भी गंभीर आरोप लग चुके हैं। कम्पनी पर आरोप है कि वह चीन के खिलाफ दिखाए जाने वाले कंटेट को सेंसर करती है। इसके अलावा कम्पनी अपने यूजर्स का डाटा चाइनीज सरकार के साथ साझा करती है। हालांकि टिक-टॉक शुरू से ही अपने ऊपर लगे इन आरोपों का खंडन करते हुए आयी है। कम्पनी के मुताबिक अगर चीन सरकार भी कहे तो भी वह उनके साथ डाटा शेयर नहीं करेगी।

चीन को एक बार फिर करारा झटका, इस बार कलर टीवी इंपोर्ट पर लगाया प्रतिबंध।

ऐसी रोचक खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी रोचक खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT

%d bloggers like this: