मॉडर्ना कम्पनी की वैक्सीन के ट्रायल पर बोले ट्रम्प अलगे दो हफ्तों में मिलेगी अच्छी खबर।
TRENDING
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।

हमारे देश भारत सहित विश्व के कई अन्य देशों में कोरोना का प्रकोप जारी है। विश्व के कई देश वायरस की वैक्सीन बनाने के कार्य में जुटे हैं। इनमे से कई वैक्सीन ऐसी भी हैं जो अपने ट्रायल के आंखरी चरण तक पहुंचने में सफल रही हैं। विश्व में ब्रिटेन, रूस, चीन, अमेरिका और भारत समेत कई अन्य देशों में वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल चल रहे हैं। कोरोना वैक्सीन बनाने की इस रेस में अमेरिका अब सबसे आगे निकलता नजर आ रहा है। यहाँ मॉडर्ना कम्पनी की वैक्सीन का विश्व का सबसे बड़ा फाइनल ट्रायल शुरू हो चूका है। यह ट्रायल 30,000 वॉलंटियर्स पर किया जायेगा। मॉर्डन कम्पनी की वैक्सीन को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक प्रेस कांफ्रेस में कहा “मुझे लगता है, आने वाले दो हफ्ते हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे। उम्मीद करते हैं कि हमारे पास सुनाने के लिए वास्तव में एक बहुत अच्छी खबर होगी। अगले दो सप्ताह में कुछ घोषणाएं होंगी।” बता दें कि इस प्रेस कांफ्रेस के दौरान राष्ट्रपति ट्रम्प एक बार फिर सार्वजनिक रूप से मास्क पहने नजर आए।

NIH करेगा ट्रायल
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (NIH) ने इससे पहले सोमवार को एक प्रेस रिलीज में कहा था कि अमेरिकी वैज्ञानिकों ने बायोटेक कंपनी मॉडर्न द्वारा विकसित संभावित कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल शुरू कर दिया है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (NIH) की 30 हजार वॉलंटियर्स पर वैक्सीन ट्रायल करने की योजना है।

मॉडर्ना की वैक्सीन अमेरिकी सरकार को हैं उम्मीदें
इस वैक्सीन के शुरुवाती ट्रायल के सभी नतीजे सफल रहे हैं, इसलिए अमेरिका को इस मॉडर्ना कम्पनी की वैक्सीन से काफी उम्मीद हैं। सोमवार से इसका विश्व में अब तक तक का सबसे बड़ा ट्रायल शुरू कर दिया गया था।
वैक्सीन के ट्रायल में मदद के लिए अमेरिकी सरकार के बायोमेडिकल एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (BARDA) ने मॉडर्न कंपनी को 472 मिलियन डॉलर दिए हैं। कंपनी के मुताबिक यह अतिरिक्त फंडिंग कोविड-19 वैक्सीन के क्लीनिकल डेवलपमेंट के लिए आगे उठाये जाने वाले सभी कदमो में अपना सहयोग निभाएगी।

कम्पनी को मिल रही है मदद
बता दें कि ट्रम्प सरकार को इस वैक्सीन से काफी उम्मीदें हैं और अब तक वह कम्पनी को वैक्सीन निर्माण कार्य में सहयोग के लिए 483 मिलियन डॉलर दे चुके हैं। मॉडर्न कंपनी को BARDA की तरफ से मिले 472 मिलियन और ट्रम्प सरकार से मिली 483 मिलियन डॉलर की मदद के बाद कम्पनी को अब तक कुल मिलाकर 955 करोड़ डॉलर की मदद राशि मिल चुकी है।

अब तक हो चुके कोरोना वायरस की दवा बनाने के दावे 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •