Pranayam Kya Hai : क्या आप जानते हैं प्राणायाम कैसे करें?
TRENDING
  • 5:27 PM » How dengue spread in hindi : (Dengue kaise hota hai) डेंगू कैसे होता है?
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।
  • 7:57 PM » Platelets badhane wale fruits : प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फ्रूट्स।
  • 10:21 PM » Fridge ki safai karne ka tarika : फ्रिज की सफाई करने के आसान घरेलू टिप्स।
  • 3:21 PM » Sardiyo me skin care in hindi : सर्दियों में स्किन केयर टिप्स।

Pranayam kaise karen…क्या आप पहली बार प्राणायाम करने जा रहे हैं? क्या आप जानते हैं प्राणायाम कैसे करें? मौजूदा समय की बात करें तो गलत जीवनशैली और गलत खान-पान आज के समय में अधिकतर बिमारियों के पीछे का सबसे बड़ा कारण बनते जा रही है। योग प्राणायाम और व्यायाम न करना शरीर में कई बिमारियों को बुलावा देने का काम करता है। हालत इतने बुरे हो गए हैं कि छोटी से छोटी, बहुत मामूली बिमारियों के उपचार के लिए भी लोग अस्पतालों के चक्कर काटने लगे हैं। पुराने समय में ऋषि मुनि लोग मात्र प्राणायाम का सहारा लेकर कई गंभीर बिमारियों के खतरे को टाल देते थे लेकिन आज के समय में हालत एकदम विपरीत हो चुके हैं। इसलिए हम आपको यही सलाह देंगे की नियमित रूप से प्राणायाम करें और बिमारियों के खतरे को टालें। आज के इस आर्टिकल में हम चर्चा करेंगे (Pranayam kaise karen) प्राणायाम कैसे करें? (pranayam kya hai) प्राणायाम क्या है? और साथ ही जानेंगे (pranayam ke fayde) प्राणायाम करने के फायदे?

प्राणायाम कैसे करें
courtesy google

प्राणायाम क्या है (pranayam kya hai) – what is pranayam in hindi

प्राणायाम दो शब्दों प्राण+आयाम को मिलकर बना है। जिसमे प्राण शब्द का अर्थ जीवन शक्ति से और आयाम शब्द का अर्थ विकास, फैलाव, बढ़ोतरी या द्वार से है। कुल मिलाकर इसका अर्थ जीवन शक्ति या प्राणशक्ति को बढ़ाने वाला अभ्यास माना जा सकता है। आसान शब्दों में इसे समझाएं तो प्राणायाम वह प्रकिया है जो प्राणवायु/साँस की गति को नियंत्रित करने का काम करती है। इस प्रकिया के द्वारा फेफड़े की क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। इसे करने के दौरान विशेष तरीके से साँस को लेना और बाहर निकलना होता है। निरंतर प्राणायाम का अभ्यास कर कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। प्राणायाम अष्टांग योग का ही एक अंग है। अष्टांग योग के मुख्य भाग यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान और समाधि हैं। आईये जानते हैं प्राणायाम कैसे करें?

प्राणायाम कैसे करें (Pranayam kaise karen) – How to do pranayam in hindi

  • प्राणायाम को हमेशा सुबह के वक्त ताज़ी हवा में करना चाहिए।
  • ऐसे करने के लिए घर का नजदीकी पार्क अच्छी जगह हो सकता है।
  • यदि आपके आस पास पार्क नहीं है तो आ