पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय।
TRENDING
  • 4:39 PM » Pital ke bartan kaise saaf karen : पीतल के बर्तन साफ करने के टिप्स।
  • 10:59 PM » विटामिन सी वाले फूड्स : Vitamin C rich foods in Hindi.
  • 11:44 PM » Vitamin d foods list in hindi : विटामिन डी वाले फूड्स।
  • 5:27 PM » How dengue spread in hindi : (Dengue kaise hota hai) डेंगू कैसे होता है?
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।

Pet mein jalan ka upay…खान पान का हमारे स्वास्थ्य पर बहुत गहरा असर पड़ता है। गलत खान-पान के चलते कई बार हमें सीने एवं पेट में जलन की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही हमें कब्ज और एसिडिटी जैसी समस्या भी परेशान करने लगती है। अधिकतर मामलों में यह देखा गया है कि अधिक तैलीय भोजन, गरिष्ठ भोजन, डीप फ्राइड, जंक फ़ूड और फ़ास्ट फ़ूड का सेवन करने से कब्ज, एसिडिटी, सीने और पेट में जलन की समस्या देखी जाती है। इसलिए जितना हो सकते इस प्रकार के खाद्य-पदार्थों से उचित दूरी बनाकर रखनी चाहिए। पेट में जलन की समस्या यदि कभी-कभी परेशान करती हो तो इसे दूर करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों को अपना सकते हैं। लेकिन यदि लम्बे समय से यह समस्या लगातार बनी हो तो आपको किसी अच्छे उदर रोग विषेशज्ञ से जरूर मिलना चाहिए। आज हम आपके लिए लेकर आये हैं सीने एवं पेट में जलन की समस्या (Home remedies for stomach burning in hindi) होने पर अपनाए जाने वाले कुछ कारगर घरेलू नुस्खे।

पेट में जलन की समस्या
courtesy google

पेट में जलन होने के कारण –

  • तैलीय भोजन करने के कारण।
  • डीप फ़्राईड खाने के कारण।
  • अधिक मात्रा में गरिष्ठ भोजन कर लेना।
  • बाहर का खाना अधिक मात्रा में खा लेने के कारण
  • शराब, सिगरेट का अधिक सेवन।

पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय (Pet mein jalan ka upay) – Home remedies for stomach burning in hindi.

ठंडा दूध –

यदि एसिडिटी के कारण आपको सीने या पेट में जलन की समस्या का सामना करना पढ़ रहा हो तो आपको नियमित रूप से एक गिलास ठंडे दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। जहां गर्म दूध का सेवन एसिडिटी करता है वहीं ठंडे दूध का सेवन एसिडिटी की समस्या को दूर करने का काम करता है।

तुलसी के पत्ते –

पेट में जलन, एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का सेवन करना भी फायदेमंद रहता है। इसके लिए आपको खाने खाने के उपरांत 4 से 5 तुलसी की पत्तियों को चबाकर खाना होगा। यह पेट में बनने वाले एसिड को रोकता है जिससे सीन में जलन आदि की समस्या दूर हो जाती है।

पुदीना के फायदे (Pudina Ke Fayde In Hindi) – Benefits Of Mint In Hindi.

पुदीना –

पेट में बन रहे एसिड के कारण पेट और सीने में जलन की समस्या होने लगती है। ऐसे में पुदीने के पत्तों का सेवन करना भी फायदेमंद साबित होता है। यह पेट में एसिड को बनने से रोकने का काम करता है। साथ ही यह पाचन प्रकिया को बड़वा देने का काम भी करता है। आप इन्हे चबा कर, इनका शरबत बना कर या फिर चटनी बना कर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

एप्पल साइडर विनेगर –

एसिडिटी और पेट में होने वाली जलन को दूर करने के लिए सेब के सिरके का प्रयोग करना भी फायदेमंद रहता है। इसमें ऐसी एल्कलाइजिंग पार्पर्टीज होती हैं जो पेट में पेट में बनने वाले एसिड लेवल को संतुलित करके रखती हैं। इसके अलावा यह एसिडिटी की समस्या को भी दूर करता है। इसका सेवन करने के लिए एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर को गुनगुने पानी में मिलाएं और फिर इसमें एक चम्मच शहद डालकर इसे पी जाएँ।

सौंफ के फायदे (Saunf Khane Ke Fayde) – Benefit Of Fennel Seed In Hindi. 

सौंफ –

सौंफ न सिर्फ एक अच्छे माउथ फ्रेशनर की तरह कार्य करता है बल्कि इसका सेवन पेट से जुडी समस्याओं को दूर करने का कार्य भी करता है। सौंफ का सेवन डाइजेशन प्रक्रिया को बढ़ावा देने काम करता है। इसका सेवन अपच, कब्ज, एसिडिटी, पेट एवं सीने में जलन की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। खाना खाने के बाद मिश्री के साथ इसका सेवन जरूर करें।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES