कोरोनिल: कभी हाँ, कभी ना! कोरोना दवा पर चल रहे विवाद पर सामने आये बालकृष्ण।
TRENDING
  • 5:27 PM » How dengue spread in hindi : (Dengue kaise hota hai) डेंगू कैसे होता है?
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।
  • 7:57 PM » Platelets badhane wale fruits : प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फ्रूट्स।
  • 10:21 PM » Fridge ki safai karne ka tarika : फ्रिज की सफाई करने के आसान घरेलू टिप्स।
  • 3:21 PM » Sardiyo me skin care in hindi : सर्दियों में स्किन केयर टिप्स।

योग गुरु स्वामी रामदेव ने मंगलवार को पतंजलि की कोरोनिल दवा को धूम धाम से लॉन्च किया था। दवा को लॉन्च करते हुए बाबा रामदेव ने दावा किया था, उनकी दवा कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में शत प्रतिशत कारगर है। अपने इस लॉन्च के बाद से ही, बाबा रामदेव की कोरोनिल दवा सवालों के घेरे में घिरती नजर आने लगी थी। कई लोगों ने इसकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े किये थे, तो कई लोगों ने पतंजलि द्वारा रिसर्च की कोई संतोष जनक रिपोर्ट नहीं पेश करने का आरोप लगाया था।
वहीं अब अपनी इस नई दवा कोरोनिल को लेकर पतंजलि की मुसीबतें और बढ़ती हुए नजर आने लगी हैं। अब आयुष मंत्रालय ने पतंजलि को आड़े हाथ लेते हुए कहा, इस दवा के संबंध में वैज्ञानिक शोध और रिसर्च के दावों से संबंधित पूरी जानकारी मंत्रालय को दी जाए। साथ ही आयुष मंत्रालय ने पतंजलि की कोरोनिल दवा को लेकर कड़ा रुख अपनाते हुए कहा, यदि बिना वैज्ञानिक तथ्यों के इस दवा से इलाज के दावे का प्रचार-प्रचार किया गया तो उसे ड्रग एंड रेमेडीज कानून के तहत संज्ञेय अपराध माना जाएगा। सीधे शब्दों में कहा जाये तो आयुष मंत्रायल ने पतंजलि को कोरोनिल दवा के विजापन पर रोक लगाने को कहा है।

क्या कहना है आयुष मंत्रायल का
पतंजलि की कोरोनिल दवा को लेकर मंत्रायल ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा, एक तरफ जहाँ सम्पूर्ण विश्व इस