Paan Ke Patte Ke Fayde : ये हैं पान के पत्ते के 10 अमेजिंग फायदे, आप भी जानिए।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

Paan ke patte ke fayde…आप में से अधिकतर लोगों ने पान कभी न कभी जरूर खाया होगा। कभी सड़क के किनारे लगे पान के स्टॉल से या फिर कभी शादी पार्टी या अन्य किसी समारोह में लगे पान के स्टॉल में। क्या आप जानते हैं माउथफ्रेशनर की तरह खाया जाने वाला ये पान स्वास्थ्य के लिहाज से भी बेहद फायदेमंद होता है। पान के पत्ते के फायदे की बात करें तो इसका उपयोग प्राचीन काल से ही आयुर्वेद में कई रोगों के उपचार में चला आ रहा है। पान के पत्ते में दिल के आकर के दीखते हैं। (benefits of betel leaf in hindi) पान के पत्ते डायबटीज, कैंसर, सर्दी- जुकाम और पेट से संबंधित समस्याओं के निवारण हेतु उपयुक्त रहते हैं। हमारे देश भारत में पान के पत्ते पर चुना, कत्था, गुलकंद और सुपारी लगा कर खाने की परम्परा बेहद ही लोकप्रिय है। ये एक बेहतर माउथ फ्रेशनर का काम करता है। हमारे देश में पान के पत्ते का महत्व सिर्फ स्वास्थ्य तक ही सीमित नहीं रहता, अपितु इनका प्रयोग हिन्दू धर्म में अनेक पूजा पाठ और यज्ञ के अवसर पर करना बेहद शुभ माना जाता है। आईये जानते हैं आपके मुँह का स्वाद बढ़ाने वाले पान के पत्ते के फायदे (Paan ke patte ke fayde) और इससे मिलने वाले स्वास्थ्य सम्बन्धी फायदों के बारे में।

Paan ke patte ke fayde
courtesy google

पान के पत्ते के फायदे (Paan ke patte ke fayde) – Benefits of Betel Leaf in Hindi.

Paan ke patte ke fayde :  सर्दी-जुकाम में –

बदलते मौसम के साथ साथ सर्दी जुकाम की शिकायत होना बेहद आम बात होती है। ऐसे में सर्दी-जुकाम की समस्या से निपटने के लिए पान के पत्तों का प्रयोग फायदेमंद रहता है। पान के पत्तों का प्रयोग सिर्फ सर्दी, जुकाम और खाँसी ही नहीं बल्कि श्वसन से जुडी समस्याएँ जैसे अस्थमा, बंद छाती में भी लाभ प्रदान करते हैं। इनमें एंटी-माइक्रोबियल और एंटीबयोटिक गुण मौजूद होते हैं।

Paan ke patte ke fayde :  डायबिटज में –

पान के पत्ते का सेवन डायबटीज से ग्रस्त रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद रहता है। इसमें मौजूद एंटी हाइपोग्लाइसेमिक गुण, जो ब्लड में शर्करा के स्तर (ग्लूकोज) को कम करने का काम करते हैं। यह प्रकिया मुधेमह से ग्रस्त रोगियों के लिए अत्यंत आवश्यक होती है। एक अध्ययन के अनुसार जो व्यक्ति नियमित रूप से पान के पत्तों का सेवन करता है उस व्यक्ति को डायबटीज होने कि संभावना कम रहती है।

Paan ke patte ke fayde :  डेंटल बेनिफिट्स –

पान के पत्तों का प्रयोग डेंटल बिनफिट्स देने का कार्य भी करते हैं। इनमें एंटी-माइक्रोबियल और एंटीबयोटिक गुण मौजूद होते हैं जो कि दातों कि बाहरी संक्रमण से रक्षा करते हैं। इसका सेवन करने से दातों के क्षय में कमी आती है साथ ही दांत मजबूत बनते हैं। पान के पत्तो को उबाल कर उनसे कुल्ला करें।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए हफ्ते में एक बार जरूर खाएं कमल ककड़ी (लोटस रूट) की सब्जी।

Paan ke patte ke fayde : पाचन के लिए –

पाचन के लिहाज से पान के पत्तों का प्रयोग बेहद असरकारी सिद्ध होते हैं। इनको चबाने में अच्छा खासा समय लगता है और मुँह काफी मात्रा में लार भी रिलीज करता है, जो कि आंतों में पाए जाने वाले एंजाइम लाइपेस, एमाइलेज और डिसाकारिडेसिस को अधिक सक्रिय करने के लिए प्रेरित करते हैं, जिसके फल स्वरूप पाचन प्रक्रिया में सुधार आता है।

भूख बढ़ाये –

कई लोग ऐसे होते हैं जिनको खाना खाने का मन तो बहुत करता है लेकिन उनको पर्याप्त मात्रा में भूख नहीं लगती। ऐसे लोगों के लिए पान के पत्तो का सेवन करना फायदेमंद रहता है। यह पाचन क्रिया को बढ़ावा देता है और उसमें सुधार लाने का काम करता है। जिसके चलते आपको पर्याप्त भूख लगने लगती है।

एसिडिटी और कब्ज के लिए –

आज के समय में गलत खान पान के चलते कब्ज और एसिडिटी की समस्या अधिकतर लोगों को हो जाती है। पान के पत्ते का सेवन पेट के ph लेवल को नियंत्रित करने और पाचन तंत्र को डिटॉक्सीफाई करने का कार्य करता है। जिसके चलते कब्ज, एसिडिटी से निजात मिलता है। इसके अलावा यह अल्सर की समस्या में भी फायदेमंद रहता है।

सिर्फ पका ही नहीं कच्चा केला खाने से भी होतें हैं ये जबरदस्त स्वास्थ्य लाभ।

घाव भरने में –

पान के पत्तों का प्रयोग घाव भरने में भी लिए जा सकते हैं। यदि आपके शरीर पर कहीं कोई घाव हो जाये तो पान की कुछ पत्तियां लीजिए इनको पीस कर इनका रस निकालें और संक्रमित जगह पर लगा कर कॉटन की पट्टी बांध दीजिए। इसमें ऐसे गुण पाए जाते हैं जो की घाव को तीव्र गति से भरने का कार्य करते हैं।

मुहासे में –

अगर आप अपने चेहरे पर हुए पर कील, मुहांसे और दाग-धब्बों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो पान के पत्तों का प्रयोग मददगार साबित हो सकते हैं। इनमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाया जाता है साथ ही इनमे एंटीऑक्सीडेंट भी प्रयाप्त मात्रा में मौजूद होता है। इसके ये सभी गुण कील, मुहांसे, पिम्पल्स, दाग और धब्बों को दूर करने का काम करते हैं। पान के पत्तों को उबाल कर उनसे मुँह धोएं।

कैंसर में –

एक अध्ययन के अनुसार पान के पत्तों को चबाने से माउथ कैंसर जैसी समस्या से भी बचा जा सकता है। इनको चबाने से यह लार में एस्कॉर्बिक एसिड के स्तर को बनाए रखने का काम करता है। इसमें एस्कॉर्बिक नामक एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो शरीर में फ्री रेडिकल को कम करता है।

सर्दियों के मौसम में अवश्य करें हरी पत्तेदार मेथी का सेवन, होंगें अनके स्वास्थ्य लाभ।

सिर दर्द में –

पान के पत्ते सिरदर्द दूर करने का काम भी करते हैं। इसके लिए आपको बस इतना करना है कि जब आपके सिर में तेज दर्द हो रहा हो तब पान के कुछ पत्ते घर ले आईये और अपने माथे पर रख लीजिए ये आपके सिर को ठंडक पहुँचाता है। आप सिर दर्द दूर करने के लिए पान के पत्तों का तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                           

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT