जानिए घर पर हर्बल होली के रंग बनाने के आसान टिप्स।
TRENDING
  • 11:27 PM » Thyroid me kya nahi khana chahiye : जानिए थायराइड की बीमारी में क्या नहीं खाना चाहिए।
  • 11:06 PM » Sanso ki badboo ka ilaj : सांसों की बदबू दूर करने के घरेलू उपाय।
  • 11:26 PM » Causes of dark lips in hindi : होंठों का रंग काला पड़ने के कारण।
  • 10:20 PM » Benefits of mint for skin in hindi : त्वचा के लिए पुदीना के फायदे।
  • 11:06 PM » तरबूज खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान नहीं खाएंगे धोखा।

Herbal holi colors in hindi…होली खेलने का मजा दोगुना हो जाता है जब होली के रंग घर पर ही बने हों। घर पर बने होली के रंग शत प्रतिशत शुद्ध, प्राकृतिक, नेचुरल और कैमिकल रहित होते हैं। घर पर बने इन नेचुरल होली के रंग (Natural holi colours in hindi) को इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा फायदा यह रहता है कि इनसे किसी भी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट हमारी स्किन पर नहीं होता। आज के समय में होली आते ही बाजार में तरह-तरह के चमकीले और कैमिलकल युक्त रंग उपलब्ध हो जाते हैं। देखने में भले ही ये रंग हमको अपनी और आकर्षित करते हैं लेकिन इन रंगो को बनाने में प्रयोग किये जाने वाला कैमिकल स्किन के साथ सम्पर्क में आने पर कई तरह की समस्याएं पैदा करने की क्षमता रखता है। कई लोगों को इन रंगो से एलर्जी भी हो जाती है और इस वजह से वह होली खेलने से घबराने लगते हैं। वहीँ नेचुरल होली के रंग (Herbal holi colors in hindi) की बात करें तो इनका प्रयोग बिलकुल नुकसानदायक नहीं होता।

हमारी आपको यही सलाह रहेगी कि हानिकारक कैमिकल युक्त रंगों का प्रयोग करने कि बजाय हर्बल रंग (Herbal holi colors in hindi), घर पर बने नेचुरल होली के रंगों का प्रयोग करें। जिससे ना आपको कोई स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़े और ना ही जिस व्यक्ति पर आप यह रंग लगा रहे हैं उसको कोई स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़े। आईये जानते हैं घर पर नेचुरल होली के रंग (Natural holi colours in hindi) बनाने की विधि के बारे में।

होली के रंग
courtesy google

घर पर होली के रंग कैसे बनायें – How to make natural holi colours at home in hindi

लाल रंग कैसे बनायें – How to make red colour in hindi

लाल रंग बनाने के लिए आप कई तरीके अपना सकते हैं।

* खूब सारे गुलाब के फूल लीजिए अब इनकी पंखुड़ियों को फूल से अलग कर धूप में सुखाने के लिए रख दीजिए। जब सभी पंखुड़ियां सूख जाएँ तो इनको मिक्सी में पीसकर पाउडर तैयार कर लें। इस तैयार पाउडर की मात्रा बढ़ाने के लिए आप इसमें आटा मिला सकते हैं।

* लाल रंग बनाने के लिए आप गुड़हल के फूल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए ढेर सारे गुड़हल के फूल लीजिए और इनकी पंखुड़ियों को फूल से अलग कर धूप में सुखाने के लिए रख दीजिए। जब सभी पंखुड़ियां सूख जाएँ तो इनको मिक्सी में पीसकर पाउडर तैयार कर लें। इस तैयार पाउडर की मात्रा बढ़ाने के लिए आप इसमें आटा मिला सकते हैं।

* लाल चन्दन पाउडर को भी आटे के साथ मिक्स कर के होली के लिए प्राकृतिक लाल रंग तैयार किया जा सकता है।

* गिला लाल रंग बनाने के लिए एक कप चुना पाउडर में 2 टेबल स्पून हल्दी पाउडर मिला कर पानी में घोल लें।

* 4 टेबल स्पून हल्दी पाउडर को पानी में घोलें और इस पर एक नीबू का रस निकाल कर डाल दें, गहरा लाल रंग तैयार हो जायेगा।

नारंगी रंग कैसे बनायें – How to make saffron colour in hindi

नारंगी रंग बनाने के लिए आप कई तरीके अपना सकते हैं।

* थोड़े से टेसू या पलाश के फूल लीजिए, इनको घूप में अच्छी तरह से सूखने के बाद इनका पाउडर तैयार कर लीजिए, आपका नारंगी कलर तैयार हो जायेगा मात्रा बढ़ाने के लिए आप इसमें आटा मिक्स कर सकते हैं।

* पलास के फूलों को सूखा कर इसका पाउडर बना कर इसे चन्दन पाउडर के साथ मिक्स कर के नारंगी रंग बना सकते हैं। मात्रा बढ़ाने के लिए आप इसमें आटा मिक्स कर सकते हैं।

* नारंगी वाटर कलर तैयार करने के लिए टेसू के फ्लावर्स को रात भर पानी में भिगो कर रख लीजिए, सुबह तक पानी का रंग नारंगी हो जायेगा।

* चंदन पाउडर को पानी में मिक्स कर के भी नारंगी रंग प्राप्त किया जा सकता है।

* पानी में मेहँदी मिला कर भी नारंगी रंग तैयार किया जा सकता है।

चेहरे से होली का रंग कैसे छुड़ायें आसान घरेलु टिप्स की मदद से