Muli Khane Ke 7 Fayde : मूली के फायदे और नुकसान।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

Muli khane ke fayde…आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे मूली के फायदे के और नुकसान के बारे में। जब बात सलाद की हो और उसमे मूली का जिक्र न हो, ऐसा संभव नहीं। मूली को सिर्फ सलाद के रूप में ही नहीं बल्कि इसकी सब्जी बनाकर भी खाया जाता है। आप चाहें तो इसके टेस्टी पराठे भी बना सकते हैं। मूली एक पत्तेदार हरी सब्जी है जिसकी जड़ और पत्ते दोनों को खाया जा सकता है। हालाँकि अधिकतर लोग इसके पत्ते के बजाय जड़ को खाना अधिक पसंद करते हैं। स्वास्थ्य के लिए मूली से मिलने वाले फायदों की बात करें तो इसका सेवन करने से शरीर को अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी सभी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। मूली में प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, आयरन, मैंगनीज, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम, कैल्शियम, फास्फोरस, जिंक और कॉपर जैसे अन्य कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। आइए जानते हैं मूली के फायदे (Benefits of radish in hindi) और नुकसान से जुडी जानकारियाँ।

मूली के फायदे
courtesy google

मूली के फायदे (Muli khane ke fayde) – Benefits of radish in hindi.

Muli khane ke fayde : पाचन तंत्र के लिए –

डाइजेशन से जुडी समस्याओं को दूर करने में मूली का सेवन करना बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसके पत्ते और जड़ दोनों में डायटरी फाइबर की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है। जो पाचन को बढ़ावा देने का काम करता है। आपको बता दें कि फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद रहता है। हालाँकि इनका पाचन धीमी गति से होता है लेकिन यह पेट और खराब पाचन तंत्र से जुडी समस्याओं को दूर करने का काम करते हैं। जिस कारण आपको कब्ज, एसिडिटी, अपच और पेट साफ न होना जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

पीलिया में मूली खाने के फायदे –

पीलिया एक ऐसी बीमारी है जो आपके लिवर को कमजोर बनाने का काम करती है। इस बीमारी में आपको खान-पान का विशेष ध्यान अनिवार्य रूप से देना चाहिए। मूली की बात करें तो पेट के लिए इसका सेवन बहुत फायदेमंद रहता है। यह लिवर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का कार्य करती है। इसके अलावा यह बिलीरुबिन की मात्रा को नियंत्रित करने का काम करती है। पीलिया की बीमारी नियमित रूप से एक कच्ची मूली का सेवन सुबह के समय अवश्य करें। इसके अलावा 15 ग्राम खांड में 60 एमल मूली के पत्ते का रस मिलाकर पीने से पीलिया रोग में आराम मिलता है।

Jeera Pani Peene Ke Fayde : जीरा पानी के फायदे। (Benefits Of Jeera Water In Hindi).

Muli khane ke fayde : कब्ज की समस्या से दिलाए राहत –

जैसा की हमने आपको बताया मूली में फाइबर की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है और इसका सेवन पेट से जुडी समस्याओं को दूर करने का काम करता है। लगभग 100 ग्राम मूली का सेवन करने पर आपको 1.6 ग्राम फाइबर मिलता है। यह फाइबर आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमद होता है। कब्ज जैसी समस्या को दूर करने और मल त्याग प्रकिया को आसान बनाने में यह अहम भूमिका निभाता है।

इम्युनिटी बूस्ट करने में मूली के फायदे –

मूली का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। मूली में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी6, विटामिन सी, पोटेशियम और अन्य कई ऐसे मिनरल्स मौजूद होते हैं जो इम्युनिटी बूस्ट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके साथ ही मूली के एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर में मौजूद हानिकारक फ्री रेडिकल्स से लड़ने का काम करते हैं। रोजाना सलाद के रूप में इसका सेवन आपकी स्वास्थ्य से जुडी कई समस्याओं को दूर करने का काम करता है।

Nimbu Ki Chai Ke Fayde : नींबू चाय पीने के फायदे।

उच्च रक्तचाप में मूली के फायदे –

हाई ब्लड प्रेसर की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए मूली का सेवन करना फायदेमंद रहता है। इसमें मौजूद कैल्शियम और पोटैशियम जैसे मिनरल्स ब्लड प्रेसर को नियंत्रित करने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटी-हायपरटेन्सिव नामक तत्व रक्तचाप के स्तर को नियंत्रण में लाने का काम करता है।हालाँकि उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण पाने में यह कितनी कारगर इस विषय पर अभी और शोध होने बांकी हैं। लेकिन इससे मिलने वाले लाभ लेने के लिए इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

Muli khane ke fayde : सफ़ेद दाग की समस्या में –

ल्यूकोडर्मा यानि सफ़ेद दाग की समस्या होने पर व्यक्ति कई प्रकार के ट्रीटमेंट लेता है। ऐसे व्यक्तियों को अपनी दवाई के साथ-साथ अपनी डाइट में मूली को भी शामिल करना चाहिए। इसमें मौजूद एंटी-कार्सिनोजेनिक और डिटॉक्सिफिकेशन गुण सफ़ेद दाग की समस्या को दूर करने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए आपको चाहिए मूली के बीज। सबसे पहले बीजों को पीस कर पाउडर बना लें और फिर इसमें अदरक का रस या विनेगर मिलाकर सफेद दाग ग्रस्त त्वचा पर लगाएं। साथ ही अपनी डाइट में मूली को शामिल करें।

Bel Patra Ke Fayde : बेलपत्र के फायदे और नुकसान। (Benefits Of Bael Patra In Hindi).

कैंसर में मूली के फायदे –

मूली का सेवन आपको कैंसर होने के खतरे से भी बचाता है। हालाँकि यहाँ आपको यह अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि मूली को कैंसर की दवा नहीं माना जा सकता है। यह सिर्फ कैंसर के खतरे को कम करने का काम करती है। इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण कैंसर के लिए जिम्मेदार फ्री रेडिकल्स से लड़ने का काम करते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स और एंथोसायनिन कम्पाउंड कैंसर के प्रति सुरक्षा प्रदान करते हैं।

मूली खाने के नुकसान – Side Effects of Radish in Hindi.

  • इसके तुरंत बाद दूध नहीं पीना चाहिए।
  • मछली के साथ मूली का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अत्यधिक मात्रा में इसका सेवन करने से पेट चल सकता है।
  • काले चने के साथ मूली का सेवन नहीं करना चाहिए

Mosambi Juice Ke Fayde : मौसंबी का जूस पीने के फायदे (Mosambi Juice Benefits In Hindi)।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT