Causes Of Ear Pain In Hindi : जानिए कान में दर्द के कारण और इसे दूर करने के घरेलू नुस्खे।
TRENDING
  • 11:06 PM » तरबूज खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान नहीं खाएंगे धोखा।
  • 10:20 PM » Causes of bad breath in hindi : मुँह से बदबू आने के कारण।
  • 10:15 PM » Balon ke liye til ke tel ke fayde : बालों पर तिल के तेल का इस्तेमाल करने से मिलने वाले फायदे।
  • 10:43 PM » Hibiscus for hair in hindi : बालों के लिए गुड़हल के फूल के फायदे।
  • 11:14 PM » Jeera pani pine ke fayde : जीरे के पानी के फायदे।

अक्सर हमको कई बार कान में दर्द (Causes of Ear Pain in Hindi) जैसी शिकायत महसूस होती है, पर हम इसको हलके में लेकर अनदेखा कर देते हैं या फिर कान में तेल डाल लेते हैं। लेकिन कान में दर्द के बहुत से कारण हो सकते हैं, जैसे की कान में संक्रमण होना या सर्दी जुकाम के कारण भी कान में दर्द की शिकायत होती है। अक्सर बच्चों में यह समस्या तब देखी जाती है जब कान की नलिका को कॉटन बड या किसी अन्य चीज़ से साफ करने से चोट पहुँचती है। बहुत बार कान में पानी के रह जाने से भी (Causes of Ear Pain in Hindi) कान दर्द करता है या नहाते समय कान में शैम्पू, साबुन के रह जाने से भी हमको कान में दर्द होने लगता है। हालांकि कान में दर्द कोई बड़ी समस्या नहीं है परन्तु कान में दर्द बहुत तकलीफ देय साबित हो सकता है।

कान के मध्य से लेकर गले के पीछे तक यूस्टेशियन ट्यूब होती है, यूस्टेशियन ट्यूब कान के बीच तरल पदार्थ का उत्पादन करती है। इसलिए इसके अवरुध्द होने पर तरल पदार्थ का निर्माण अधिक होने से, कान के परदे पर दबाव बनने से (Causes of Ear Pain in Hindi) कान में दर्द की समस्या हो सकती है।

Causes of Ear Pain in Hindi
courtesy google

कान में दर्द के कारण – Causes of ear pain in hindi

  • साइनस के संक्रमण के कारण भी कान में दर्द की समस्या हो सकती है। साइनस हमारे माथे, नाक की हड्डियों, गाल और आँखों के पीछे की खोपड़ी में पाये जाने वाला हवा से भरा रिक्त स्थान है। साइनस के म्यूकस से अवरुद्ध होने से वहां पर संक्रमण हो जाता है और साइनस में सूजन आ जाती है इसलिए कान में दर्द होने लगता है।
  • कान का पर्दा फटना भी कान दर्द का कारण हो सकता है। जी हाँ कभी-कभी हम कान में पैन, पेंसिल या गाड़ी की चाबी डाल कर खुजलाने लगते हैं, जो सरासर गलत है। इन चीज़ो को कान में डालने से हमारे कान में क्षति पहुँचती है और हमारे कान के परदे भी फट सकते हैं या उन पर घाव हो सकता है। ये भी कान दर्द का (Causes of Ear Pain in Hindi) बहुत बड़ा कारण बनता है।
  • नहाते समय कान में पानी जाने की वजह से कान में वैक्स जमा होता है और कान में दर्द होने लगता है। शैम्पू या साबुन का कान में रह जाना भी दर्द का कारण बन सकता है
  • दांतो की वजह से भी कान में दर्द की परेशानी हो सकती है। दांतो में कैविटी या संक्रमण होने से कई बार यह संक्रमण दांतो से कान की हड्डियों तक फ़ैल कर दर्द का कारण बनता है।

जानें क्यों गर्मियों में प्याज खाने से आपको लू और हीटस्ट्रोक का खतरा रहता है कम?

कान में दर्द रोकने के उपाए – Tips to stop ear pain in hindi

जैसे की हमको पता है कान में दर्द होना (Causes of Ear Pain in Hindi) आम समस्या है, पर हम इसके होने की सम्भावना को कुछ हद तक काम कर सकते हैं। चलिए जानते हैं ऐसा क्या करें और क्या नहीं जिससे आपको बार बार कान में दर्द जैसी परेशानी का सामना ना करना पड़े।

  • जब भी आपके कान में दर्द हो, तब आपको ठंडी चीज़ो का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हो सके तो ठंडी चीज़ो से तब तक दूरी बना ले जब तक आपका कान का दर्द पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता।
  • अगर आपको कान में तकलीफ है तो बांसी खाना और फास्टफूड पूरी तरह छोड़ दे ये भी दर्द को बढ़ाते हैं।
  • जब भी आप नहाने जाएँ तो पानी और साबून से कान को बचाना चाहिए और हो सके तो नहाते समय कान में कॉटन डाल लें, इससे आपके कान में पानी बिल्कुल नहीं जाएगा।
  • कभी भी आपको कान में खुजली हो तो ईयरबड का इस्तेमाल करें, कभी भी किसी नुकीली चीज़ से कान को साफ नहीं करना चाहिए।
  • जब भी आपके के कान में दर्द हो तो आपको तेज़ ध्वनि में गाने नहीं सुनने चाहिए।

जानिए दाँतों के लिए एक्टिवेटेड चारकोल युक्त टूथपेस्ट का इस्तेमाल करने के फायदे और नुकसान।

कान के दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय – Home remedies to get rid of ear pain in hindi

  • कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए एक प्याज लें इसे पीस कर इसका रस निकालें। अब एक टेबल स्पून प्याज का रस हल्का गर्म करें और इसकी 2 से 3 बूँदे अपने कान में डालें। आपको आराम महसूस होगा।
  • औषधीय गुणों से भरा नीम आपके कान के दर्द को दूर करने में सक्षम होता है। इसका प्रयोग करने के लिए नीम की पत्तियों का रस निकालें और 2 से 3 बूँदे कान में डाल दें। यह कान में होने वाले संक्रमण और दर्द से छुटकारा दिलाता है।
  • अजवाइन भी कान के दर्द के लिए बहुत लाभकारी है, इसके लिए आपको अजवाइन और सरसों के तेल की बराबर मात्रा लेनी होगी और उसे हल्का गुनगुना कर कान में डालें। इससे आपके कान का दर्द (Causes of Ear Pain in Hindi) कम होगा।
  • गुणकारी तुलसी को भी कान के दर्द की दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आपको तुलसी के पत्तों का रस निकाल कर इसकी कुछ बूंदें अपने कान में डालें। कुछ दिनों तक इसका प्रयोग करने से आपको दर्द से आराम मिलेगा ।
  • कान के दर्द के लिए अदरक का रस निकाल कर 2 से 3 बूंदें कान में डाल दें।

सावधान! वर्क फॉर होम के दौरान हो ना जाएँ, कंप्यूटर विजन सिंड्रोम के शिकार।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT