मानसून के मौसम में खाद्य पदार्थों को नमी से बचाने के लिए अपनाएं ये टिप्स।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

मानसून के मौसम में वातावरण में अत्यधिक ह्यूमिडिटी होने के कारण खाद्य पदार्थों के जल्‍दी खराब होने की संभावना बनी रहती है। इसलिए इस मौसम में खाद्य पदार्थों को अतिरिक्त देख भाल के साथ रखना पड़ता है। मानसून के मौसम में हवा में मौजूद नमी खाद्य पदार्थों को खराब करने का कार्य करती है। घर में कई बार ऐसा होता है कि हम गलती से खाने पीने कि चीजों को सही से डिब्बे में बंद करके रखना भूल जाते हैं और कुछ ही पलों में वातावरण में मौजूद नमी उसे ख़राब कर देती है। यदि आपको भी बरसात के मौसम में इस प्रकार की समस्याओं से दो-चार होना पड़ रहा है तो घबराएं नहीं। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ ऐसे टिप्स जिनको अपनाकर आप मानसून के मौसम में खाद्य पदार्थों को नमी से बचा कर सुरक्षित रख सकते हैं।

मानसून खाद्य पदार्थों नमी
courtesy google

मानसून के मौसम में खाद्य पदार्थों को नमी से बचाने के लिए अपनाएं ये टिप्स – Follow these tips to protect food items from moisture during the monsoon season

सूजी,बेसन और मैदा को ऐसे करें स्टोर –

मानसून की नमी से सूजी को खराब होने से बचाना चाहते हैं तो इसे भूनकर किसी एयरटाइट डब्बे में भरें फिर इसे स्टोर करने के लिए फ्रिज में रखें। मैदे को स्टोर करने के लिए इसे पॉलीबैग या एयरटाइट डब्बे में भर फ्रिज में रखें। वहीं बेसन को स्टोर करने के लिए इसे पहले महीन छलनी की सहायता से छाने फिर इसे एयरटाइट कंटेनर में भरकर फ्रिज में रख दें। आप चाहें तो इसमें लौंग या तेज पत्ता भी डाल सकते हैं। ऐसा करने से ये खाद्य पदार्थ मानसून के मौसम में जल्दी खराब होने से बच जाते हैं।

दाल, काले चने, सफेद चने, राजमा और चावल स्टोर करने का तरीका –

मानसून में दालों के ख़राब होने की संभावनाएं बड़ जाती हैं। इसलिए इस मौसम में दालों को लम्बे समय तक स्टोर करने के लिए इन्‍हें माइक्रोवेव में 2-3 मिनट तक गर्म करें और फिर कांच के एयरटाइट कंटेनर में भरकर रख दें। मानसून के मौसम में काले, सफेद चने और राजमा को लम्बे समय तक सुरक्षित रखने के लिए इनमें बहुत कम मात्रा में बोरिक एसिड मिलाकर रखें। लेकिन इस्तेमाल करने से पहले इन्हें पानी से कई बार अच्छे तरीके से धुलें। बरसारत के मौसम में चावलों को सुरक्षित स्टोर करने के लिए किसी सूखे स्टील के कंटेनर में डालकर रखें। साथ ही इस कंटेनर में चावल के ऊपर नीम के सूखे पत्ते डाल दें, ऐसा करने से चावल में कीड़ा नहीं लगता है।

सावधान! माइक्रोवेव का इस्तेमाल करते समय भूलकर भी न करें ये गलतियां।

साबुत लाल मिर्च, लाल मिर्च पाउडर और अन्य मसालों को स्टोर करने के टिप्स –

बरसात के मौसम में साबुत लाल मिर्च स्टोर करने से पहले उसे 1 मिनट के लिए माइक्रोवेव में गर्म करें। फिर इसे किसी एयरटाइट प्लास्टिक के एक कंटेनर में स्टोर कर के रख दें। वहीं लाल मिर्च पाउडर और नमक को स्टोर करने के लिए इसके डिब्बों के अंदर 2 से 3 लॉन्ग रख दें। वहीं मानसून के मौसम में मसालों जिनमे मोटा धनिया, धनिया पाउडर, काली मिर्च, देगी मिर्च, हल्दी, इलायची, गरम मसाला, जीरे आदि शामिल है। इन सभी मसालों को अलग-अलग एयरटाइट कंटेनरों में भरकर उनके ऊपर तेजपत्ता डाल दें। ऐसा करने से मसालों में जल्दी नमी नहीं लगती और वे जल्दी खराब होने से बच जाते हैं।

सब्जियों और रसीले फलों को स्टोर करने का तरीका –

मानसून में अदरक को स्टोर करने के लिए फ्रिज में रखें, मशरूम को स्टोर करने के लिए इसे कागज में लपेट कर फ्रिज में रखें। वहीं टमाटर को स्टोर करने के लिए खुली जगह में पतले कपड़े से ढककर रखें। प्याज और आलू को जमीन में पेपर बिछा कर उसके ऊपर रखें। ध्यान रहे कि आलू और प्याज को एक साथ मिक्स करके नहीं रखना है। बरसात के मौसम में स्ट्राबेरी, रसबेरी और अन्य रसीले फलों को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए एक स्प्रे बोतल में एक चौथाई विनेगर और तीन चौथाई पानी भरकर फलों पर छिड़के।

आलू को लम्बे समय तक सही तरीके से स्‍टोर कैसे करें, जानें इन आसान स्टेप्स में।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT