जानिए आयुर्वेद के अनुसार मानसून और कोरोना काल में इम्युनिटी बूस्ट करने के टिप्स।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

मौजूदा समय की बात करें तो हमारे देश भारत में कोरोना महामारी का प्रसार फैलता ही जा रहा है। इस समय विश्व के कई देशों में कोरोना का प्रकोप लगातार जारी है। कोरोना प्रसार की रोकथाम के लिए इस समय विश्व के कई देश वैक्सिन बनाने के कार्य में जुटे हुए हैं तो वहीं कुछ देशों का कहना है जल्द ही उनकी वैक्सिन बाजार में उपलब्ध होगी। ऐसे में एक्सपर्ट्स के मुताबिक कोरोना से लड़ने के लिए आपको जरूरत होती है अपनी इम्युनिटी को बूस्ट करने की। जिस व्यक्ति की इम्युनिटी जितनी अधिक बूस्ट होगी उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता उतनी अधिक होगी। मौजूदा समय में बरसाती वायरल फ्लू और कोरोना को दूर करने में इम्यून सिस्टम अहम रोल निभाता है। आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी बूटियों का विवरण मौजूद है जो कोरोना काल में आपकी इम्युनिटी बूस्ट करने का कार्य कर सकती हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक मानसून के साथ कोरोना काल में इम्युनिटी बूस्ट करना ही बीमारी से बचने का एकमात्र सबसे कारगर उपाय है।

आयुर्वेद के अनुसार कोरोना काल में इम्युनिटी बूस्ट करने के टिप्स :

गिलोय-

गिलोय के औषधीय गुणों से तो आप सभी परिचित होंगे। इसका विज्ञानक नाम टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया (Tinospora cordifolia) है। यह एक औषधीय पौंधा है। प्राचीन काल से ही आयुर्वेंद में इसका प्रयोग अनेक बिमारियों से लड़ने के लिए होता आ रहा है। गिलोय के एंटीवॉयरल गुण फ्लू आदि की समस्या को दूर करने में कारगर रहते हैं। इसका सेवन इम्युनिटी बूस्ट करने का कार्य करता है जिससे व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। गिलोय में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण सूजन आदि की समस्या को दूर करने में कारगर साबित होते हैं। सर्दी-खांसी और बुखार की समस्या में इसका प्रयोग किसी रामबाण औषधी से कम नहीं होता।

तुलसी –

औषधीय पौंधे के रूप में मशहूर तुलसी अनेक रोगों के इलाज में प्रयोग की जाती है। भारतीय संस्कृति में तुलसी के पौंधे को बहुत पवित्र पौंधा माना जाता है। धार्मिक दृष्टि से भी इस पौधे का अत्यंत महत्व है। मानसून में होने वाली सर्दी-खांसी और बुखार की समस्याओं को दूर करने के लिए तुलसी का प्रयोग किया जाता है। कोरोना काल में आप तुसली का प्रयोग इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए भी कर सकते हैं। तुलसी के चिकित्सीय गुण बैक्टीरिया, वायरस एवं फंगस संक्रमण जैसी समस्याओं से दूर रखने का कार्य करते हैं। इसके अलावा तुलसी का प्रयोग श्वसन प्रणाली तंत्र को मजबूत करता है और कोशिकाओं द्वारा उत्सर्जित किए जाने वाले प्रो-इन्फ्लेमेटरी पदार्थों को संतुलित कर इन्फ्लेमेशन को कम करता है।

आमला –

आमला जिसका वैज्ञानिक नाम पिल्लान्थोस एम्ब्लिका (Phyllanthus emblica) है आयुर्वेद के सर्वश्रेष्ठ रसायनों में एक है। आमला एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर विटामिन सी का भंडार होता है। यही कारण है कि दुनियाभर में यह एक सुपरफ़ूड के रूप में भी जाना जाता है। एक्पर्ट्स के मुताबिक मानसून के मौसम और कोरोना काल में इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए नियमित रूप से आंवले का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। आंवले का सेवन आँखों की रौशनी बढ़ाने से लेकर बालों से जुडी अनेक समस्याओं को दूर करने के लिए प्राचीन काल से किया जा रहा है।

अश्‍वगंधा –

अश्‍वगंधा जिसका वैज्ञानिक नाम विदानिया सोम्निफेरा (Withania somnifera) है इंडियन जिनसंग के रूप में भी जाना जाता है। यह एक बेहतर रोग प्रतिरोधक और शक्तिवर्धक के रूप में कार्य करता है। एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना काल में इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए अश्‍वगंधा का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। इसकी तासीर गर्म होती है इसलिए अत्यधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है। इसका प्रयोग पेशियों की शक्ति बढ़ाने व सामर्थ्‍य बढ़ाने, वजन बढ़ाने, हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने, शरीर का पोषण बढ़ाने में किया जा सकता है।

इम्युनिटी बूस्ट करने के अन्य टिप्स –

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT