बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग के लिए जरूर अपनाएं ये टिप्स।
TRENDING
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।
  • 7:57 PM » Platelets badhane wale fruits : प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फ्रूट्स।
  • 10:21 PM » Fridge ki safai karne ka tarika : फ्रिज की सफाई करने के आसान घरेलू टिप्स।
  • 3:21 PM » Sardiyo me skin care in hindi : सर्दियों में स्किन केयर टिप्स।
  • 6:11 PM » Curd face pack in hindi : त्वचा पर दही फेस पैक का प्रयोग करने का तरीका (Dahi face pack in hindi)

बरसात के मौसम की शुरुआत के साथ ही सबसे बड़ी समस्या बनती है ड्राविंग। फिर चाहे आप कार से ड्राइविंग करते हो या बाइक से सावधानी आपको दोनों में बरतनी होती है। बरसात के मौसम में रोड में जगह-जगह गढ्ढे पड़ जाना और उन गढ्ढों में पानी भर जाना सबसे बड़ी समस्या बन जाता है। यदि आप बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग कर रहें हो तो आपको सड़क हादसों से बचने के लिए कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है। कई लोगों की आदत होती है कि वह बिना कुछ परवाह किये बरसात के मौसम में भी तेज रफ्तार में बाइक राइडिंग करते हैं। जिसे बिलकुल सुरक्षित तरीका नहीं माना जायेगा। यदि आपको भी बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग अत्यधिक करनी पड़ती हो तो जानिए बरसात के मौसम में सेफ बाइक राइडिंग के टिप्स।

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग
courtesy google

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग टिप्स – Monsoon tips for bike and safe riding

चेक अप –

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग करने से पहले बाइक का चेकअप जरूर करवाएं। यदि आपने मानसून आने से पहले अपनी बाइक का प्री मानसून चेकअप नहीं करवाया है तो सेफ्टी की दृष्टि से सबसे पहले इसे करवाएं। अक्सर ऐसा होता है कि हम बिना प्री मानसून चेकअप पानी से भरी रोड पर निकल पड़ते हैं और बीच रास्ते में चलती हुई बाइक अचानक धोखा दे जाती है। ऐसे में पानी में बाइक को खींच कर पैदल ले जाना आसान काम नहीं होता। इसलिए समय रहते इस प्रकार की समस्या से बचें और बाइक का प्री मानसून चेकअप जरूर करवाएं।

स्पीड पर रखें निंयत्रण –

वैसे तो बाइक की स्पीड पर हमेशा निंयत्रण रखना चाहिए लेकिन जब बात बरसात की हो तब आपकी बाइक की तेज स्पीड जानलेवा साबित हो सकती है। बरसात के मौसम में कम स्पीड पर बाइक राइडिंग करना सबसे सेफ तरीका माना जाता है। बरसात के मौसम में सड़क के गड्ढो में पानी भर जाने के कारण आप इनकी गहराई का सही अंदाजा नहीं लगा पाते हैं। यदि स्पीड तेज रही, तो बाइक अनियत्रित होकर सड़क पर गिर सकती है जिसमें आप गंभीर रूप से घायल हो सकते हैं।

हेलमेट और राइडिंग बूट पहनें

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग के दौरान अधिकतर लोग हेलमेट पहनना पसंद नहीं करते जो कि बिलकुल गलत बात होती है। बरसात में हेलमेट पहनने के अनेक फायदे होते हैं। सबसे पहले तो यह आपको तेज बारिश से सुरक्षा प्रदान करता है और उसके बाद यदि आपकी बाइक स्लिप हो जाए तो हेलमेट के कारण ज्यादा चोट नहीं लगती। हेलमेट के अलावा बरसात में राइडिंग बूट भी अवश्य पहनें।

क्या आप जानते हैं? कार, बाइक और घरों में बंधे तिब्बती झंडे (Tibetan Prayer Flags) का महत्व।

फिंगर वाइप –

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग के दौरान हेलमेट पहनने से कई लोगों को विजिबिलटी में थोड़ी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी परिस्थिति में हमे बाइक को बारबार रोक कर हेलमेट के शीशे में जमा हो रहे पानी को साफ करना पड़ता है। ऐसी परेशानियों से बचने के लिए फिंगर वाइप का प्रयोग कर शीशे को साफ करें। यह आपको बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जायेगा।

हेडलाइट को रखे ऑन

तेज बारिश में सामने से आने वाली गाड़ी को देखना बहुत मुश्किल हो जाता है। अक्सर जब कोई गाडी अचानक से हमारे बेहद समीप पहुँचती है, तब हड़बड़ाहट में कई बार बाइक के डिसबैलेंस होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए बरसात के मौसम में हेडलाइट को हमेशा चालू रखें।

डिस्क और ड्रम ब्रेक्स का करें इस्तेमाल –

बरसात के मौसम में बाइक राइडिंग