एक अच्छे, मजबूत चरित्र का निर्माण कैसे करें, क्या आप में हैं ये खूबियां ?
TRENDING
  • 10:13 PM » गर्मियों में बालों की केयर करने के टिप्स – Summer hair care tips in hindi.
  • 9:36 PM » कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए एक्सरसाइज एंव योगा : Cholesterol Kam Karne ki Exercise and Yoga.
  • 7:12 PM » गर्मियों में त्वचा को निखारे होममेड मैंगो फेस पैक ऐसे करें इस्तेमाल – Mango Face Pack in hindi.
  • 10:39 PM » कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय। How to reduce cholesterol in hindi.
  • 11:41 PM » गर्मियों में क्या खाएं (Garmiyo me kya khana chahiye) – what to eat in summer in hindi.

एक अच्छे,मजबूत चरित्र का निर्माण करो ये बात आप अक्सर अपने घर वालों, रिश्तेदारों या पास पड़ोस के लोगों से अक्सर सुनते रहते होंगे लेकिन अच्छे, मजबूत चरित्र का निर्माण कैसे करें ये बात काफी हद तक आपको बचपन के दिनों में घर वालों के द्वारा दी गयी शिक्षा, स्कूल में आपने टीचर्स के द्वारा दी गयी शिक्षा और कालेज में आपकी दोस्ती, संगत आदि सभी चीजों के ऊपर काफी हद तक निर्भर करती है।

एक अच्छे, मजबूत चरित्र का निर्माण करने के लिए, आपको सबसे पहले यह ध्यान देने की जरूरत है कि आप किस चीज से जूझ रहे हैं। यदि आप विनम्रता के साथ संघर्ष कर रहे हैं, तो ऐसे संसाधन ढूंढें जो आपको विनम्रता के साथ मजबूत बनाने का काम करें। यदि आप आत्म-अनुशासन के साथ संघर्ष कर रहें हैं, तो लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें सही तरीके से पूरा करने की दिशा में काम करें। यदि आप अपने अंदर के डर, भय, गुस्से से झूझ रहें हैं तो उनका डट कर मुकाबला करना सीखें। ये सब कुछ ऐसी चीजें हैं जिनका आपको समाना करना होगा और खुद की वास्तविकता को पहचानना होगा तभी आप एक अच्छे,मजबूत चरित्र का निर्माण कर पाएंगे।

अच्छे चरित्र का निर्माण

courtesy google

एक अच्छे, मजबूत चरित्र का निर्माण कैसे करें – How to build a good, strong character

विनम्र बनिये –

एक अच्छे, मजबूत चरित्र की नीव होती है विनम्रता। आपको सबसे पहले अपने स्वाभाव के अंदर विनम्रता लाने की जरूरत होती है जो व्यत्कि विनम्र नहीं होता वो अपने लिए अच्छे,मजबूत चरित्र का निर्माण नहीं कर पाता। यही कारण है कि आपको बचपन से लेकर आपके स्कूल तक में वनिम्रता का पाठ पढ़या जाता है। स्वभाव में विनम्रता और सहजता आपके चरित्र को संतुलित बनाने का काम करती है। जो व्यक्ति विनम्र नहीं बन पाता वो जल्दी ही दूसरों से उलझ जाता है और ये बात आपके व्यत्तित्व पर प्रभाव डालती है। विनम्र बनने के लिए लिए मेडिटेशन और योग का सहारा लें ऐसे लोगों से मिले जिनका स्वाभाव पानी कि तरह सरल हो। ये बात सच है कि अपने चरित्र के निर्माण के लिए, आपको नए तरीकों के लिए खुला होना चाहिए।

अपने सिद्धांतों और मूल्यों पर जीएं –

एक अच्छे, मजबूत चरित्र का निर्माण के लिए अपने सिद्धांतों और मूल्यों पर जीने वाला व्यक्ति बनें। दूसरे को देखकर गिरगिट की तरह रंग बदलने वाला व्यत्कि ना बनें। जिंदगी में अपने सिद्धांतों और मूल्यों को सबसे आगे रखें। कौन क्या कहेगा, रिस्तेदार क्या बोलेंगे या पास पड़ोस वाले क्या बोलेंगे इन सब बातों से आगे बढ़कर अपने सिद्धांतों और मूल्यों को पाने के लिए आगे बढ़ते जाएँ। ये आपका अपने आप के प्रति आत्मविस्वाश बढ़ाएगा और आपका चरित्र अधिक दृढ़ हो जाएगा।

मन को वश में कैसे करें। मन को काबू करने के लिए अपनाएं ये टिप्स।

अच्छे आदर्श चरित्र वाले लोगों का बनाये अपना गुरु –

चरित्र निर्माण में संगत का गहरा असर पड़ता है। अच्छे ज्ञानी लोगों से दोस्ती करें, ऐसे लोगों के साथ उठे बैठे जिन्होंने अपना आदर्श ऐसे लोगों को बनाया हो जिनके सम्पूर्ण जीवनकाल के दौरान चरित्र पर कभी आंच ना आयी हो।अच्छे चरित्रवान लोगों से दोस्ती करने का सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि आपको उनके उत्तम विचारों को सुनने का मौका मिलेगा, आप उनके रहने, बात करने आदि अन्य सभी काम करने के तरीको से वाकिफ हो पाएंगे। कहीं ना कहीं ये सब बातें आपके ऊपर भी प्रभाव डालेंगी और आप एक अच्छे, मजबूत चरित्र के निर्माण पथ पर आगे बड़ पाएंगे।

ईमानदारी –

एक अच्छे और मजबूत चरित्र के निर्माण में ईमानदारी सबसे बड़ा गुण होती है। जरा इस बारे में सोचिये लोग सच्चाई को क्यों छिपाते हैं, क्योकि वे डरते हैं कि सच्चाई पता लगने से बात उनके चरित्र पर आ सकती है और कोई नहीं चाहता उसके चरित्र पर बेमानी, मक्कारी या धूर्त होने का लांछन लगे। लेकिन यहाँ आप इस बात से अनभिज्ञ रह जाते हैं कि जिस चरित्र को बचाने के लिए आपने यह झूठ बोला, वही आपकी अपने चरित्र के साथ की गयी सबसे बड़ी बेमानी थी। हो सकता है कई दफा ये झूठ और बेमानी की राह आपको मुसीबत से बचा ले लेकिन इसका सहारा लेकर आप खुद के साथ एक धोखा करने के सिवाय कुछ नहीं करते, इसलिए ईमानदार बनिये। खुद को इस काबिल बाइये की बेमान व्यक्ति भी आपकी ईमानदारी देख शर्मशार हो जाये।

नासा ने भी माना पॉवर नैप लेने के हैं अनेक फायदे, क्या आप भी लेते हैं पॉवर नैप?

बलिदान त्याग की भावना –

एक अच्छे और चरित्रवान व्यत्कि बनने के लिए व्यक्ति के अंदर बिलदान और त्याग की भावना का होना भी जरुरी होता है। इतिहास गवाह है कि ऐसे लोग जिन्होंने खुद से ज्यादा दूसरों से अधिक प्यार किया और उनके लिए अपना सब कुछ त्याग दिया, ऐसे लोगों को आज भी इतिहास में याद किया जाता है। इनमें कुछ लोग जैसे कि सच्चे देशभतक जिन्होंने हमारे देश को आजाद कराने के लिए प्राणो की आहुति दे दी और कुछ ऐसे समाज सेवी लोग जिन्होने अपना सब कुछ धन, दौलत का मोह ना करते हुए निस्वार्थ रूप से जरूरत मंद लोगों की सेवा की। इन लोगों की त्याग और बलिदान की भावना ही समाज में इनका चरित्र निर्माण करती है।

दूसरों का सम्मान करना –

एक अच्छे चरित्रवान व्यक्ति बंनने के लिए आपके अंदर अहंकार, घमंड की भावना नहीं होनी चाहिए। अगर आपके पास धन, दौलत, शोहरत सब कुछ है लेकिन आप किसी अन्य व्यक्ति से आदर से बात नहीं कर पाते या फिर उसको निचा दिखाने या उससे दुरी बनाने लगते हैं और उसको उचित आदर सम्मान नहीं दे पाते तो आप एक चरित्रवान व्यक्ति कहलाने के हकदार नहीं। मनुष्य तभी चरित्रवान बनता है जब उसमे घमंड ना हो फिर चाहे वो कितना ही बुद्धिवान, धनि ही क्यों ना हो चरित्रवान नहीं कहलाता।

क्यों रखना चाहिए घर में हिमालियन साल्ट लैंप? क्या होते हैं इसके फायदे?

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृप्या अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                          Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT

%d bloggers like this: