जानें क्यों गर्मियों में प्याज खाने से लू लगने और हीटस्ट्रोक का खतरा रहता है कम?
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

गर्मियों के मौसम में हमें तेज चुभने वाली गर्मी के अलावा लू का भी सामना करना पड़ता है। लू लगने के कारण जी मचलाना, सिर दर्द होना, शरीर में पानी की कमी हो जाना, बैचैनी महसूस होना जैसी अन्य अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार अत्यधिक गर्मी पड़ने के कारण व्यक्ति हीट स्ट्रोक का भी शिकार हो जाते हैं। गर्मियों में आपने भी अक्सर घर के बड़े बुजुर्ग सदस्यों को ये कहते सुना होगा कि लू से बचने के लिए प्याज़ का सेवन करना चाहिए। आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही प्याज का उपयोग लू से बचाव हेतु किया जा रहा है। इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा कि गर्मियों में आप प्याज खाने से लू लगने से, एक हद तक अपना बचाव कर सकते है। आईये जानते हैं आखिर क्यों गर्मियों में प्याज खाने से लू लगने की संभावना क्यों हो जाती है कम।

प्याज खाने से लू लगने

courtesy google

गर्मियों में प्याज खाने से लू लगने की संभावना रहती है कम –

हीटस्ट्रोक के लिए प्याज –

गर्मियों के दिनों धूप में तेज गर्मी होने के कारण हीटस्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है। सूरज से निकलने वाली तेज किरणें शरीर को डिहाइड्रेट कर सकती हैं, जिससे पेट में जलन, चिड़चिड़ापन और ब्रेन डैमेज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। परंपरागत रूप से, यह माना जाता रहा है कि बाहर जाते समय प्याज को जेब में रखने से हीट स्ट्रोक को रोका जा सकता है। हालाँकि इस बात के कोई वैज्ञानिक तथ्य मौजूद नहीं हैं। लेकिन प्राचीन काल से ही हीट स्ट्रोक से बचने के लिए यह नुस्खा अपनाया जा रहा है। ऐसा माना जाता है कि प्याज का वाष्पशील तेल शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसलिए प्याज को सिर्फ अपने साथ रख के नहीं, बल्कि गर्मियों के दिनों में लू से बचने के लिए प्याज को खाने के बाद घर से बाहर निकलना चाहिए।

प्याज खाने से होता है लू का बचाव –

प्याज के स्वास्थ्य लाभों से अनजान, ज्यादातर लोग इसका उपयोग सिर्फ खाना पकाने दौरान करते हैं। प्याज हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी माना जाता है। आपने भी अक्सर घर में बड़े बुजर्गों को कहते सुना होगा कि गर्मी के दिनों में कच्चा प्याज खाने से यह आपको लू और हीटस्ट्रोक से बचाएगा। प्याज में क्वेरसेटिन, सल्फर और दूसरे अल्कलॉइड्स मौजूद होते हैं जो शरीर का तापमान नियत्रंण करने में सहायक होते हैं। इसका रस हीटस्ट्रोक के साथ-साथ सनबर्न के इलाज में भी प्रभावी होता है। कुछ शोधकर्ताओं के मुताबिक कच्चा प्याज खाने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सकती है। लू से बचने के लिए आप सलाद के रूप में इसे अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। कच्चे प्याज को पोटेशियम और सोडियम का उच्च स्रोत माना जाता है, यह आपके शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स पैदा करने में मदद कर सकता है।

कोरोना वायरस शोध: इम्यूनिटी बूस्ट करने में प्रभावी है कांगड़ा चाय, पढ़े रिपोर्ट।

गर्मियों में लू से बचने के लिए प्याज कैसे खाएं –

आयुर्वेद के अनुसार गर्मियों में लू से बचने के लिये प्याज खाने का सर्वोतम तरीका,  कच्चा प्याज भून कर इसमें जीरा पाउडर मिलाएं और इसे शहद के साथ खा जाएँ। ऐसा करने से यह आपके पूरे शरीर को ठंडा करने में मदद करता है। आप कच्चे प्याज की धनिया पत्ती के साथ चटनी भी बना कर भी खा सकते हैं। आप चाहें तो लू से बचने के लिए प्याज का जूस बना कर पी सकते हैं। यह आपकी बॉडी में नमी और टेम्परेचर को बैलेंस करने का कार्य करेगा।

हीटस्ट्रोक से बचने के लिए प्याज का प्रयोग –

हीटस्ट्रोक से प्रभावित किसी व्यक्ति के लिए, आप प्याज का पेस्ट या रस उसके माथे, छाती और पैरों के तलवों पर लगा सकते हैं। घर से बाहर निकलने से पहले प्याज का रस कान के पीछे भी लगा सकते हैं। माना जाता है कि शरीर के तापमान को कम करने लू तथा हीटस्ट्रोक से बचाव के लिए ये सबसे सरल घरेलू उपचार है।

कोरोना वायरस: इम्‍यून‍िटी बूस्ट करे कबसुरा कुदिनेर (Kabasura Kudineer) का काढ़ा।

लू तथा हीटस्ट्रोक से बचने के अन्य उपाय –

गर्मियों में लू तथा हीटस्ट्रोक से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करें। ऐसा करने से आपकी बाड़ी हाइड्रेट बनी रहती है। गर्मियों में छाछ, लस्सी, आम पन्ना और नारियल दूध जैसे तरल पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए। ये तरल पदार्थ न केवल आपको ठंडा रखेंगे बल्कि ऊर्जा भी प्रदान करेंगे। अगर किसी को अत्यधिक पसीने और मतली के साथ चक्कर आना महसूस होता है, तो उन्हें तुरंत चीनी और पानी के घोल में इलेक्ट्रोलाइट मिलाकर देना चाहिए।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT