क्या है कीटो डाइट (Keto Diet) या कीटोजेनिक डाइट, जानिए कैसे करती है काम।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

कीटो डाइट (Keto Diet) या कीटोजेनिक डाइट का प्रचलन आजकल सम्पूर्ण विश्वभर में खूब चल रहा है। आम आदमी से लेकर बॉलीवुड, हॉलीवुड स्टार्स भी कीटो डाइट (Keto Diet) या कीटोजेनिक डाइट को फॉलो कर रहें हैं। कीटो डाइट में दरअसल कम कार्बोहाइडेड (Low-Carb) वाले खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाता है। वजन कम करने के लिए कीटोजेनिक डाइट बेहद फायदेमंनद साबित होती है। अधिक करबोहाईड्रेड युत्क खाद्य पदार्थों का सेवन करने से ग्लूकोज का अधिक मात्रा में उत्पादन होता है जो की शरीर में फैट बनाने के लिए जिम्मेदार होता है। कीटोजेनिक डाइट फॉलो करने पर शरीर कार्बोहाइड्रेड की जगह हमारे फैट को बर्न कर उससे ऊर्जा लेने का काम करता है। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान लिवर शरीर को ऊर्जा पहुंचाने के लिए कीटोन बनाता है। आईये जानते हैं कीटो डाइट (Keto Diet) के बारे में विस्तार से।

कीटो डाइट (Keto Diet) या कीटोजेनिक डाइट –

कीटो डाइट में ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाता है जिनमें फैट की उच्च मात्रा, प्रोटीन की मीडियम मात्रा और कार्बोहाइड्रेड की अल्प मात्रा पायी जाती हो। एक सामान्य कीटो डाईट (Keto Diet) में फैट की मात्रा 70%, प्रोटीन की मात्रा 25% और कार्बोहाइड्रेड की मात्रा 5% होनी चाहिए। कीटो डाइट में कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करके फैट से ऊर्जा का उत्पादन किया जाता है। इस प्रक्रिया को कीटोसिस कहा जाता है।

बढ़ते कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में लाभदायक है इन खाद्य पदार्थों का सेवन।

कीटो डाइट (Keto Diet) के दौरान क्या खा सकते हैं –

कीटो डाईट के दौरान वेज और नॉनवेज दोनों प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है। अगर आप खाने में नॉनवेज खाना पसंद करते हैं तो इस डाईट के दौरान आप मछली, मटन, चिकन और अंडे का सेवन कर सकते हैं। इसके विपरीत अगर आप शुद्ध शाकाहारी हैं तो ब्रोकली, फूलगोभी, पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी का खूब सेवन करना चाहिए। इसके अलावा फैट के लिए पनीर, उच्च वसायुक्त क्रीम और मक्खन का प्रयोग करना चाहिए। अपनी डाईट में अखरोट, सूरजमुखी के बीच, नारियल तेल, उच्च वसा वाले सलाद का प्रयोग करना भी फायदेमंद होता है।

कीटो डाइट (Keto Diet) के दौरान क्या नहीं खा सकते हैं –

कीटोजेनिक डाइट के दौरान गेहूं, मक्का, चावल अनाज खाने से परहेज करना चाहिए। इसके अलावा फलों में सेब, केले और नारंगी का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। कीटोजेनिक डाइट के दौरान आलू और जिमीकंद का प्रयोग करने से भी बचना चाहिए। इस डाईट के दौरान उन सभी खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए जिनमे कार्बोहाइड्रेड की उच्च मात्रा पायी जाती है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT