मसूड़ों में सूजन की समस्या से हैं परेशान? अपनाएं ये कारगर घरेलू नुस्खे।
TRENDING
  • 6:22 PM » Essay On Peacock In Hindi : मोर पर निबंध लिखने का तरीका।
  • 7:08 PM » Essay on Means of Transport in Hindi : यातायात के साधन पर निबंध।
  • 11:36 PM » Essay on My School in Hindi : स्कूल पर निबंध लिखने का तरीका।
  • 6:57 PM » टंग ट्विस्टर चैलेंज : टंग ट्विस्टर क्या होते हैं? (Best tongue twisters in Hindi).
  • 11:41 PM » Facts About Jupiter In Hindi : बृहस्पति ग्रह से जुड़े रोचक तथ्य।

मसूड़ों में सूजन आ जाए तो आपको मसूड़ों के साथ पूरे मुँह में दर्द महसूस होने लगता है। कई बार मूसड़ों का यह दर्द इतना अधिक बढ़ जाता है कि आपके लिए इसे सहन कर पाना लगभग नामुकिन हो जाता है। ऐसे में हम सभी डाक्टर को दांत दिखने के लिए चले जाते हैं। एक बार आप हॉस्पिटल चले गए तो वहां आपका कितना बिल बनेगा इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है। इसके अलावा कोरोना के इस दौर में जितना अस्पताल जाने से बचा जाए उतना अच्छा है। यदि आप भी मसूड़ों में सूजन की समस्या से जूझ रहें हैं तो अपनाईए कुछ घेरलू उपाय जिनको अपनाकर आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

मसूड़ों में सूजन
courtesy google

मसूड़ों में सूजन की समस्या से छुटकारा दिलाएं ये घरेलू नुस्खे : Effective home remedies to treat swollen gums in hindi.

नमक का पानी –

मसूड़ों में सूजन की समस्या हो तो आप नमक के पानी का उपयोग कर सकते हैं। यह मसूड़ों की सूजन दूर करने का कारगर तरीका है। नमक के पानी का उपयोग तेजी से अपना हीलिंग प्रभाव दिखाता है। इसका प्रयोग करने के लिए आपको नमक के पानी से कुल्ला करना होगा। नमक के पानी का कुल्ला मसूड़ों में सूजन को कम करने के साथ मुंह के स्वास्थ्य को भी अच्छा बनाए रखने का कार्य करता है। नमक के पानी का कुल्ला करने के लिए एक गिलास पानी में थोड़ा सा नमक डाल कर गर्म करें और फिर इससे रोजाना सुबह और रात के समय कुल्ला करें।

लौंग का तेल –

मसूड़ों में सूजन हो जाए तो आपके दांत में भी दर्द होने लगता है। कई बार यह दर्द इतना अधिक बढ़ जाता है कि असहनीय हो जाता है। इस प्रकार के दर्द से छुटकारा पाने के लिए लौंग के तेल का प्रयोग करें। लौंग के तेल का इस्तेमाल भी मसूड़ों में सूजन की समस्या से राहत दिलाने में सहायक साबित हो सकता है क्योंकि इसमें बैक्टीरियल इन्फेक्शन को खत्म करने के साथ-साथ सूजन और दर्द को कम करने वाले गुण भी मौजूद होते हैं। लौंग के तेल में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण दाँतों और मसूड़ों में फैल रहे संक्रमण को रोकने का कार्य करते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए ऊँगली में थोड़ा सा लौंग का तेल लीजिए फिर इससे कुछ मिनट अपने मसूड़ों की मालिश करके उन्हें ऐसे ही छोड़ दें। बहुत ज्यादा परेशानी हो तो कुछ घंटों के अंदर में इस प्रक्रिया को फिर से दोहराएं। इसके अलावा आप चाहें तो कॉटन बाल को लौंग के तेल में डिप कर मसूड़ों में सूजन वाली जगह पर रख दें।

अब कमर दर्द कि समस्या से मिलेगा छुटकारा अपनाएं ये कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे।

अदरक –

अदरक के एंटीइन्फ्लामेट्री और एंटीमाइक्रोबियल गुण मसूड़ों में सूजन की समस्या को दूर करने में प्रभावी रूप से कार्य करते हैं। यह हमारे मुंह के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा माना जाता है। इसका प्रयोग करने का तरीका भी बहुत आसान होता है। इसके लिए थोड़ी सी अदरक को पीसकर उसमें नमक मिलाएं और एक पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को ऊँगली पर लगा कर मसूड़ों में सूजन वाली जगह पर हल्के-हल्के रगड़ें। इसे कम से कम 10-15 मिनट तक मसूड़ों पर लगा रहने दें। उसके बाद पानी से कुल्ला करें।

बेकिंग सोडा –

मसूड़ों में सूजन की समस्या से निजात पाने के लिए बेकिंग सोडा का प्रयोग भी कारगर रहता है। अदरक और लौंगकी तरह बेकिंग सोडा में भी एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। जो दातों और मसूड़ों में हो रहे बैक्टीर