मुँह सूखने के घरेलू उपाय। Home Remedies For Dry Mouth In Hindi.
TRENDING
  • 4:39 PM » Pital ke bartan kaise saaf karen : पीतल के बर्तन साफ करने के टिप्स।
  • 10:59 PM » विटामिन सी वाले फूड्स : Vitamin C rich foods in Hindi.
  • 11:44 PM » Vitamin d foods list in hindi : विटामिन डी वाले फूड्स।
  • 5:27 PM » How dengue spread in hindi : (Dengue kaise hota hai) डेंगू कैसे होता है?
  • 6:36 PM » Karwa chauth puja vidhi : जानिए करवा चौथ पूजा विधि के बारे में।

Home remedies for dry mouth in hindi…कई लोगों को अक्सर मुँह सूखने की समस्या से जूझते हुए देखा जा सकता है। ऐसे लोगों को प्यास भी अधिक मात्रा में लगती है और यदि पानी समय पर न मिले तो बेचैनी होने लगती है। मुँह सूखने के पीछे का सबसे बड़ा कारण यह होता है कि मुंह में पर्याप्‍त लार का न बन पाना। आसान शब्दों में कहें तो हमारे मुँह में मौजूद लार ग्रंथियां पर्याप्त लार नहीं बना पाती हैं। जिस कारण मुँह गिला न रहकर सूखने लगता है। मुँह सूखने के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे पर्याप्त मात्रा में लार न बनना, अत्यधिक गर्मी, स्वास्थ्य से जुडी कोई समस्या, कुछ विशेष दवाइयों का सेवन आदि। यदि आप भी अक्सर मुँह सूखने की समस्या से परेशान रहते हैं तो आज हम आपके लिए लेकर आये हैं कुछ घरेलू टिप्स जो ड्राई माउथ की समस्या (Home remedies dry mouth in hindi) से आपको बचाने का काम करेंगे।

मुँह सूखने के
courtesy google

मुँह सूखने के कारण – Muh sukhne ke karan

मुँह सूखने के कई कारण हो सकते हैं जिनमे से कुछ मुख्य इस प्रकार से हैं : –

  • लार ग्रंथियों का सिकुड़ जाना या पर्याप्त मात्रा में लार नहीं बना पाना।
  • शरीर के डीहाड्रेड होने पर।
  • किसी बीमारी के कारण।
  • अत्यधिक धूम्रपान करने के कारण।
  • स्ट्रेस, तनाव या अवसाद के कारण।
  • लम्बे समय से चल रही कुछ दवा विशेष के कारण।
  • प्रेग्नेंसी के कारण।
  • लगातार बोलने या चिल्ला-चिल्ला कर बोलने के कारण।

मुँह सूखने के घरेलू उपाय (Muh Sukhne ke gharelu upay) – Dry mouth home remedies in hindi.

अदरक की चाय का प्रयोग –

मुँह सूखने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अदरक का प्रयोग किया जा सकता है। इसके लिए अदरक के टुकड़े को हल्का सा कूट कर कुछ देर तक पानी में उबालें। इसके बाद इस पानी को एक कप में छान लें और इसमें एक चम्मच शहद मिला कर पी जाएँ।

सिल्‍परी एल्‍म छाल का प्रयोग –

माउथ ड्राइनेस की समस्या को दूर करने के लिए आप सिल्‍परी एल्‍म छाल का प्रयोग भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको चाहिए ½ छोटी चम्‍मच सिल्‍परी एल्‍म छाल का पाउडर। सबसे पहले इस पाउडर को एक कटोरी में डालें और फिर इसमें पानी की कुछ बुँदे डालकर उन्हें मिलाएं। ऐसा करने पर एक पेस्ट तैयार हो जाएगा जिसे आपको अपने मुँह के अंदर लगाना होगा। कुछ देर तक इसे लगा रहने दें फिर कुल्ला कर लें।

सौंफ के फायदे (Saunf Khane Ke Fayde) – Benefit Of Fennel Seed In Hindi. 

सौंफ का प्रयोग –

सौंफ का प्रयोग भी मुँह सूखने की समस्या को कम करने में लिया जा सकता है। यह एक अच्छे माउथफ्रेशर की तरह कार्य करता है। माउथ ड्राइनेस की समस्या को दूर करने के लिए ½ चम्मच सौंफ को रोजाना दिन में तीन बार चबाएं। इसके अलावा एक कप पानी में 1 चम्मच सौंफ और ½ चम्मच मिश्री डालकर कुछ देर तक उबालें। फिर इसे छान लें ठंडा होने के बाद इसे पी जाएँ।

नींबू का रस –

माउथ ड्राइनेस से छुटकारा पाने के लिए नींबू के रस का प्रयोग किया जा सकता है। यह लार ग्रंथियों को सक्रिय करने का काम करता है। साथ ही यह मुँह से आने वाली दुर्गंध को दूर करने का काम करता है। इसका प्रयोग करने के लिए एक गिलास गर्म पानी में नींबू का रस डालें और ½ चम्मच शहद मिला दें। इस ड्रिंक का सेवन दिन में दो बार जरूर करें। इसके अलावा नींबू के टुकड़ों में नींबू के टुकड़ों में काला नमक डालकर इसे चूसने पर भी लार बनती है।

जानिए क्या है ऑयल पुलिंग पद्धति और इससे होने वाले स्वास्थ लाभ के बारे में।

ऑयल पुलिंग टेक्निक –

मुँह सूखने की समस्या को दूर करने के लिए आप ऑयल पुलिंग टेक्निक का सहारा भी ले सकते हैं। यह एक जानी मानी प्राचीन आयुर्वेदिक तकनीक है। इसका मुख्य प्रयोग ओरल हेल्थ से जुडी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। इसे अपनाने के लिए आप तिल, सरसों, नारियल या सुजरमुखी के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए एक चम्मच तेल को मुँह में डालें और 10 मिनट तक उससे कुल्ला करें। लेकिन इस दौरान आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि तेल निगलना नहीं है सिर्फ कुल्ला कर के थूक देना है।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest