Gudhal Ki Chai Ke 7 Fayde : जानिए हिबिस्कस की चाय के फायदे, नुकसान और इसे बनाने की विधि।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

Gudhal ki chai ke fayde …मौजूदा समय की बात करें तो लोगों में हर्बल चाय की लोकप्रियता दूध वाली चाय के मुकाबले अधिक बढ़ते जा रही है। इन्हीं में से एक है गुड़हल से बनने वाली चाय। क्या आप जानते हैं हमारे गार्डन की शोभा बढ़ाने वाले गुड़हल के फूल से बनने वाली हर्बल चाय का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित होता है। गुड़हल से बनने वाली चाय हिबिस्कस चाय के नाम से भी जानी जाती है। (Hibiscus tea benefits in hindi) हिबिस्कस की चाय के फायदे की बात करें तो इसका सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित होता है। इसका सेवन कई बिमारियों के खतरे को कम करने के लिए किया जा सकता है। हालाँकि यहाँ आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि इसकी चाय किसी बीमारी का उपचार नहीं मानी जा सकती है। हिबिस्कस की चाय मिनरल्स और एंटीआक्सीडेंट का अच्छा स्रोत मानी जाती है। नियमित रूप से कम से एक कप हिबिस्कस की चाय का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद रहता है। आईये जानते हैं (Gudhal ki chai ke fayde) हिबिस्कस की चाय के फायदे, इसके नुकसान और इसे बनाने की विधि के बारे में।

हिबिस्कस की चाय के फायदे
courtesy google

हिबिस्कस की चाय के फायदे (Gudhal ki chai ke fayde) – Hibiscus tea benefits in hindi

Gudhal ki chai ke fayde : वजन कम करने के लिए –

(Hibiscus tea benefits in hindi) हिबिस्कस की चाय के फायदे वजन कम करने के लिए भी जाने जाते हैं। इस पर हुए कुछ शोध इस बात को बताते हैं कि इसका अर्क स्टार्च और ग्लूकोज के अब्सॉर्प्शन को कम करता है। आपको बता दें कि हमारे शरीर में मौजूद स्टार्च और ग्लूकोज वजन बढ़ाने के पीछे का सबसे बड़ा कारण माने जाते हैं। ऐसे में इसकी चाय का सेवन कर आप वजन बढ़ने की प्रकिया पर रोक लगा सकते हैं। दरअसल इससे बनने वाली चाय में मौजूद एमीलेज एंजाइम स्टार्च को गलूकोज में बदलने की प्रकिया पर रोक लगाने का काम करता है। जिसका नतीजा यह होता है कि आपका वजन नियंत्रण में रहता है। नियमित रूप से एक कप गुड़हल से बनने वाली चाय का सेवन वजन कम करने की प्रकिया में अहम भूमिका निभाती हैं। हालाँकि वजन कम करने के लिए आपको नियमित रूप से व्यायाम भी करना होगा।

Gudhal ki chai ke fayde : हेल्दी हार्ट के लिए –

(Hibiscus tea benefits in hindi) हिबिस्कस की चाय के फायदे हृदय के स्वास्थ्य के लिए भी जाने जाते हैं। गुड़हल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हृदय के लिए नुकसानदेय खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने का कार्य करता है। इसके अलावा इसकी चाय में मौजूद हाइपोलिपिडेमिक और हाइपोग्‍लाइसेमिक गुण उच्च रक्तचाप की समस्या पर भी नियंत्रण पाने का कार्य करते हैं। एक स्वस्थ्य हृदय के लिए शरीर में कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेसर दोनों की मात्रा का सामान्य रहना बहुत जरूरी होता है। आप भी गुड़हल के फूल से बनने वाली चाय को अपनी डाइट में शामिल कर इसके फायदे ले सकते हैं।

फलों के फायदे (Fal khane ke fayde) – Fruits khane ke fayde.

Gudhal ki chai ke fayde : डायबिटीज के लिए –

हिबिस्कस की चाय के फायदे (Hibiscus tea benefits in hindi) डयबिटीज से जुडी समस्या में भी लिए जा सकते हैं। इसमें मौजूद हाइपोलिपिडेमिक, हाइपोग्‍लाइसेमिक और एंटी-डायबिटक गुण ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने का कार्य करते हैं। साथ ही इसका सेवन गलूकोज के अवशोषण को रोकने का कार्य करता है। जिससे रक्त में गलूकोज का स्तर सामान्य बना रहता है जो कि डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए बहुत जरूरी होता है। गुलहड़ यानि हिबिस्कस से बनने वाली चाय का सेवन टाइप-2 डायबिटीज की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए करना फायदेमंद होता है। लेकिन इसे अपनी डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Gudhal ki chai ke fayde : पाचन के लिए –

पाचन से जुडी समस्याओं में भी हिबिस्कस की चाय का सेवन (Benefits of hibiscus tea in hindi) करना फायदेमंद साबित होता है। यह फाइबर का अच्छा स्रोत होती है और फाइबर का सेवन पेट से जुडी समस्याओं को दूर करने के लिए जाना जाता है। इसका सेवन डाइजेशन सिस्टम को दुरुस्त बनाने का कार्य भी करता है साथ ही पाचन क्रिया में सहयोग भी करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट लिवर के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद माने जाते हैं। इसके अर्क का सेवन लिवर फेलियर के खतरे को टालने का कार्य भी करता है।

चुकंदर का जूस पीने के फायदे (Chukandar ke juice ke fayde) – Beetroot juice benefits in hindi.

Gudhal ki chai ke fayde : स्ट्रेस के लिए –

आयुर्वेद में हिबिस्कस की चाय के फायदे (Benefits of hibiscus tea in hindi) स्ट्रेस यानि की तनाव को दूर करने के लिए भी लिए जा सकते हैं। मौजूदा लाइफस्टाइल कई प्रकार के तनाव को जन्म देने का कारण बन रही है। इस प्रकार की समस्या में गुड़हल से बनने वाली चाय का सेवन आपके लिए फायदेमंद साबित होता है। इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स दिमाग के स्वास्थ्य के लिए अच्छे माने जाते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड और एंटीआक्सीडेंट स्ट्रेस की समस्या को दूर करने का कार्य करते हैं।

Gudhal ki chai ke fayde : संक्रमण से बचाए –

हिबिस्कस की चाय के फायदे (Benefits of hibiscus tea in hindi) कई प्रकार के संक्रमण से शरीर का बचाव करने का कार्य करते हैं। इसमें एंटीफंगल, एंटीपैरासिटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। इसके यह गुण बैक्टीरियल, पैरासाइट और फंगल संक्रमण को दूर करने का कार्य करते हैं। हालाँकि इसके यह गुण रोसेले नामक गुड़हल की एक प्रजाति में पाए जाते हैं।

हल्दी दूध के फायदे (Haldi wala doodh peene ke fayde) – Benefits of Turmeric Milk in Hindi.

Gudhal ki chai ke fayde : कैंसर से बचाएं –

(Benefits of hibiscus tea in hindi) हिबिस्कस की चाय के फायदे कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को टालने का कार्य भी करते हैं। इसके अर्क में एंटीकैंसर गुण मौजूद होते हैं जो कैंसर के खतरे को कम करने का कार्य करते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट भी कैंसर के जोखिम वाले मुक्त कणों पर नियंत्रण पाने का कार्य करते हैं।

गुड़हल की चाय के नुकसान – Side Effects of Hibiscus Tea in Hindi

  • लो ब्लड प्रेसर के मरीजों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन करने से बचाना चाहिए।
  • इसका सेवन करने से यदि एलर्जी की समस्या लगे तो आपको इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

ग्रीन कॉफी पीने के फायदे (Green coffee ke fayde) – Benefits of Green Coffee in Hindi.

गुड़हल की चाय कैसे बनायें – How to make hibiscus tea in hindi

सामाग्री –

1 चाय का बर्तन
1 कप पानी
1-2 गुड़हल के फूल
चीनी

विधि –
  • चाय बनाने वाले बर्तन को आंच पर रखें।
  • एक कप पानी डालें।
  • पानी गर्म होने पर गुड़हल के फूल की पंखुड़ियां इसमें डालें।
  • कम से कम 5 मिनट तक उबालें और चीनी मिला दें।
  • अब इसे छानकर पी जाएँ।

ग्रीन टी पीने के फायदे (Green tea ke fayde) – Benefits of Green Tea in Hindi.

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

Sources : –

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT