देश में 15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है कोरोना कि वैक्सीन (COVAXIN) कोवैक्सीन.
TRENDING
  • 10:52 PM » Arthritis me kya nahi khana chahiye : आर्थराइटिस में क्या नहीं खाना चाहिए।
  • 11:32 PM » 10 lines on durga puja in hindi : दुर्गा पूजा पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.

देश को अब जल्द ही कोरोना वैश्विक महामारी से छुटकारा मिल सकता है। इस दिशा में देश की अग्रणीय वैक्सिन निर्माता कम्पनी भारत बायोटेक 15 अगस्त को कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) लॉन्च कर सकती है। इस संबंध में इंडियन कॉउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने भारत बायोटेक को एक पत्र लिखकर वैक्सिन के ह्यूमन ट्रायल को फास्क ट्रैक मोड से चलाने के लिए कहा है। ICMR के मुताबिक भारत बायोटेक द्वारा बनाई जा रही कोवैक्सीन (COVAXIN) के ह्यूमन ट्रायल के परिणाम 15 अगस्त तक जारी किए जाएंगे।

‘कोवाक्सिन’ (COVAXIN) को भारत बायोटेक ने इंडियन कॉउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) के साथ मिलकर सफलतापूर्वक तैयार किया है। आईसीएमआर की ओर से जारी पत्र के मुताबिक, 7 जुलाई से वैक्सिन का मानव परीक्षण (Human Trial) के लिए इनरोलमेंट शुरू हो जाएगा। यदि इसके सभी ट्रायल सभी उम्मीदों पर खरे उतरते हैं तो आशा करते हैं कि 15 अगस्त तक कोवैक्सीन (COVAXIN) को लॉन्च किया जा सकता है। बता दें कि कोवैक्सीन (COVAXIN) को फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार किया है।

इंडियन कॉउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने भारत बायोटेक को पत्र लिखकर कहा है कि इसके ह्यूमन ट्रायल प्रक्रिया को फास्क ट्रैक विधि से पूरा करने पर विचार किया जाए। इस लेटर में लिखा गया है कि यह भारत में निर्मित पहली स्वदेशी वैक्सीन है जिसे सरकार द्वारा सर्वोच्च स्तर पर मॉनिटर किया जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पहले वैक्सीन को फेस 1 और फेस 2 ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति मिली थी। बता दें कि इससे पहले भी वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक जापानी इनसेफ्लाइटिस, चिकनगुनिया पोलियो, रेबीज, रोटावायरस, और जिका वायरस जैसी बिमारियों के लिए सफलतापूर्वक वैक्सीन बना चुकी हैं। ऐसे में आने वाली 15 अगस्त का देश के लिए कई मामलों में और भी महत्वपूर्ण होने वाली है।

अब तक हो चुके कोरोना वायरस की दवा बनाने के दावे 

अमेरिका में उम्मीद की किरण बनी रेमडेसिवीर (Remdesivir) दवा इलाज के लिए मिली मंजूरी।

जल्द खत्म हो सकता है कोरोना, इजरायल के बाद इटली ने किया कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने का दावा।

इजरायल का दावा! बन गयी कोरोना वैक्‍सीन जल्द ही खत्म होगा कोरोना वायरस।

ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के अनुसार कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए लाइफलाइन है डेक्सामेथासोन दवा।

भारत में बनी ग्लेनमार्क की फेविपिरविर दवा फैबिफ्लू को DGCI ने दी कोविड-19 के उपचार के लिए मंजूरी।

पतंजलि ने बनाई कोरोना वायरस की दवा ‘दिव्य कोरोनिल टैबलेट’, जाने इसके बारे में सब कुछ।

बाबा रामदेव ने लॉन्च की कोरोनिल, जानें कहाँ से खरीद सकते हैं आप और क्या है इसकी कीमत ?

कोरोना वायरस की पहली संभावित वैक्सीन कोवाक्सिन को DGCI ने दी मानव परीक्षण की अनुमति।

अमेरिका की बायोटेक फर्म इनोवियो का दावा ह्यूमन ट्रायल सफल, जल्द मिलेगी विश्व को वैक्सीन।

ऐसी महत्पूर्ण खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT