FSSAI ने बताए दूध के पैकेट को डिसइंफेक्ट करने के तरीके, आप भी जानिए।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

देश में चल रही अनलॉक की प्रकिया के साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण के मामले भी तेजी से बढ़ने लगे हैं। बढ़ते मामलों के कारण देश के कई राज्य फिर से लॉकडाउन लगाने पर मजबूर हो गए हैं। वायरस का खतरा अधिक बढ़ जाने के कारण आपको भी अब अतिरिक्त सुरक्षा अपनाने की जरूरत है। वायरस के प्रकोप के कारण आजकल अधिकतर लोग घर से बाहर निकलते समय अनेक प्रकार की सुरक्षा अपनाने लगे हैं। लेकिन इन सब के बीच हमें बाहर से आने वाले सभी खाद्य पदार्थों की सुरक्षा पर भी ध्यान देना होगा। इन्ही में से एक है पैकेट वाला दूध, चूँकि ये दूध बाहर से आता है इसलिए कई लोगों के हाथों के सम्पर्क में भी आता है। यही कारण है कि कोरोना के इस दौर में पैकेट का यह दूध वायरस का वाहक बन सकता है। हाल ही में फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने पैकेट वाले दूध को इस्तेमाल से पहले डिसइंफेक्ट करने के तरीके बताए। आप भी FSSAI द्वारा सुझाये गए तरीकों को अपना कर दूध के पैकेट को इस्तेमाल से पहले डिसइंफेक्ट अवश्य करें।

FSSAI दूध पैकेट डिसइंफेक्ट
courtesy google

FSSAI ने बताए दूध के पैकेट को डिसइंफेक्ट करने के तरीके – FSSAI guidelines for disinfecting milk packets

मास्क पहनने का ध्यान रखें –

जब भी पैकेट वाला दूध लेने के लिए घर से बाहर निकले तो अपने चेहरे को फेस मास्क से कवर करना न भूले। ध्यान रखें वायरस से दूरी बनाये रखने में मास्क अहम रोल अदा करता है। इसके अलावा दुकान में प्रवेश करने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन अवश्य करें।

दूध का पैकेट लाते ही उसे इस्तेमाल न करें-

FSSAI की गाइडलाइन के मुताबिक दूध का पैकेट लाने के तुरंत बाद ही उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसकी जगह आपको इसे इस्तेमाल करने से पहले कुछ देर तक अपने सींक में पानी की तेज धार के नीचे डिसइंफेक्ट करने के लिए रख दें।

हाथों को धोना भी है जरुरी –

भले ही आपने दूध के पैकेट को कुछ देर तक तेज पानी की धार के नीचे रख डिसइंफेक्ट कर लिया हो। लेकिन कोरोना के बढ़ते खतरे के कारण इसे इस्तेमाल करने से पहले हाथों को भी धोएं। इसके अलावा दूध के पैकेट को मुँह से भूल कर भी न फाड़ें। इसे हमेशा कैंची या चाकू की सहायता से ही फाड़ें।

बिना सुखाए इस्तेमाल न करें-

दूध के पैकेट को पानी से धो लेने के बाद इसे कुछ देर तक सूखने के लिए छोड़ दें। ऐसा करने से आपको वायरस से अतरिक्त सुरक्षा मिल जाती है। इसके विपरीत अगर आप दूध का पैकेट बिना सुखाए उसे फाड़कर दूध बतर्न में खाली करते हैं तो पैकेट में मौजूद पानी आपके दूध के बर्तन में गिर सकता है।

इस्तेमाल करने से पहले अच्छी तरह से उबालें –

FSSAI की गाइडलाइन के मुताबिक दूध का पैकेट को धोने और सूखा लेने के बाद कैंची से इसे काटें और फिर दूध के बर्तन में खाली करें। इसके बाद इसे अच्छी तरह से उबाल कर डिसइंफेक्ट करें और इसका इस्तेमाल चाय बनाने, दूध पीने, दही जमाने या अन्य कार्यों के लिए करें।

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT