जानिए बुध ग्रह के बारे में रोचक तथ्य : Facts About Mercury Planet In Hindi.
TRENDING
  • 9:51 PM » वजन कम करने वाले फल – Best fruits for weight loss in hindi.
  • 10:31 PM » चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on chandrashekhar azad in hindi.
  • 9:30 PM » त्वचा के लिए नीम के फायदे – Neem benefits for skin in hindi.
  • 9:55 PM » घर से कीड़े-मकोड़ों को भागने के आसान घरेलू नुस्खे.
  • 11:18 PM » पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के लिए करें इन ड्रिंक्स का सेवन।

Facts about mercury planet in hindi…क्या आप बुध ग्रह से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानना चाहते हैं? बुध ग्रह के बारे में बात करें तो यह हमारे सौर मंडल मौजूद नौ ग्रहों में से सबसे छोटा ग्रह है। साथ ही यह सूर्य का सबसे निकटम ग्रह भी है। इसका 30 फीसदी भाग सिलिकेट और 70 फीसदी भाग मेटल का बना हुआ है। बुध ग्रह का नाम रोमन देवता मरकरी के नाम पर रखा गया था। इसे ‘सूर्योदय का तारा’ या ‘सूर्यास्त का तारा’ के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसा ग्रह है जिसका कोई उपग्रह नहीं है। आईये विस्तार से जानते हैं बुध ग्रह के बारे में (Facts about mercury planet in hindi), साथ ही जानते हैं बुध ग्रह से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में।

 बुध ग्रह के बारे में
courtesy google

Contents

बुध ग्रह से जुड़े रोचक तथ्य – Facts about mercury planet in hindi.

सूर्य का सबसे निकट ग्रह है बुध –

बुध ग्रह के बारे में आपको बता दें कि हमारे सौर मंडल का एकमात्र पहला ऐसा ग्रह है जो छोटा होने के साथ-साथ सूर्य के सबसे निकटम ग्रह है।

बुध ग्रह के तापमान में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है –

भले ही बुध सूर्य के सबसे निकटम ग्रह है, फिर भी इसकी सतह अत्यधिक ठंडी रहती है। दिन के दौरान इसका तापमान 840 डिग्री फ़ारेनहाइट (450 डिग्री सेल्सियस) तक पहुंच सकता है। वहीं रात इसका में तापमान शून्य से -275 डिग्री फ़ारेनहाइट (शून्य से -170 डिग्री) कम हो सकता है।

सबसे छोटा ग्रह है बुध –

बुध सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है। इसका व्यास लगभग 3,030 मील (4,876 किलोमीटर) है। यह शनि के चंद्रमा “टाइटन” और बृहस्पति के चंद्रमा “गैनीमेड” दोनों से छोटा है। इससे पहले प्लूटो को सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह माना जाता था।

Paparazzi Meaning In Hindi : क्या है पैपराजी का मतलब, पैपराजी कौन हैं?

क्या आप जानते हैं सौर मंडल में बुध के पास हैं सबसे अधिक क्रेटर –

चूंकि बुध का वातावरण इतना कमजोर है कि उसके पास उल्का प्रभावों से बचाने के लिए कोई भी सुरक्षा कवच नहीं है।उलकाओं के गिरने के कारण इसमें सबसे अधिक क्रेटर मौजूद हैं। बुध ग्रह के बारे में एक खास बात यह भी है कि इसने अपनी सतह को क्रेटर के प्रभाव से भर दिया है। जिस कारण इसकी सतह कुछ कुछ चंद्रमा के समान नजर आती है।

सूर्य के चारों ओर तेजी से चक्कर लगाता है बुध –

बुध किसी भी अन्य ग्रह की तुलना में सूर्य के चारों ओर तेजी से चक्कर लगाता है। यह अपनी अण्डाकार कक्षा के साथ लगभग 112,000 मील प्रति घंटे (180,000 किमी/घंटा) की यात्रा करता है। सूर्य के चक्कर लगाते समय बुध ग्रह सूर्य के 29 मिलियन मील (47 मिलियन किमी) करीब और 43 मिलियन मील (70 मिलियन किमी) दूर जाता है।

क्या आप जानते हैं? बुध ग्रह का नाम रोमन देवता के नाम पर रखा गया था –

बुध की कक्षा छोटी होने के कारण ऐसा लगता है कि यह अन्य ग्रहों की तुलना में आकाश में तेजी से घूम रहा है। यही कारण है कि रोमन्स ने इसका नाम अपने सबसे तेज संदेशवाहक देवता मरकरी (The Roman Mercury) के नाम पर रखा।

72 वर्षीय बुजुर्ग को मोबाइल में गेम खेलने ऐसा लगा चस्का, साइकिल में लगवा डाले 64 स्मार्टफोन।

बुध सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है –

मात्र 4880 किलोमीटर (3032 मील) के व्यास के साथ बुध सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह है।

क्या आप जानते हैं? सिकुड़ रहा है बुध ग्रह –

जी हाँ, सही सुना आपने! सबसे छोटा ग्रह होने के साथ-साथ बुध ग्रह (mercury planet in hindi) बहुत धीमी प्रक्रिया में हर दिन सिकुड़ रहा है। शोधकर्ताओं के एक अनुमान के मुताबिक बुध ग्रह चार अरब साल पहले की तुलना में लगभग 9 मील छोटा हो गया है। खगोलविदों का मानना ​​है कि ऐसा होने के पीछे का मुख्य कारण इसके लौह कोर का धीमी रफ्तार में ठंडा होना है, जो इसे ठोस बना रहा है।

क्या आप जानते हैं? बुध किसी भी अन्य ग्रह की तुलना में तेजी से सूर्य की परिक्रमा करता है –

जैसा कि हमने आपको बताया बुध सूर्य का सबसे निकटम ग्रह है। यही कारण है कि बुध की कक्षा इसे सौर मंडल के किसी भी अन्य ग्रह की तुलना में छोटा बनाती है। बुध में एक वर्ष केवल 88 पृथ्वी दिवस के बराबर होता है। यानी तीन महीने से भी कम का होता है।

चीन की नई चाल! अपने प्रोडक्ट्स से मेड इन चाइना हटा कर, मेड इन पीआरसी लिखना किया शुरू।

बुध ग्रह का कोई चन्द्रमा नहीं होता –

बुध एक ऐसा ग्रह है जिसका कोई चन्द्रमा नहीं होता। अपने छोटे आकार, कम गुरुत्वाकर्षण और सूर्य से निकटता के कारण, बुध चंद्रमा को अपने स्थान पर रखने में सक्षम नहीं है। बुध के अलावा सौर मंडल का एकमात्र अन्य ग्रह शुक्र है जिसका कोई चन्द्रमा नहीं होता।

बुध का अध्ययन करने के लिए अभी तक केवल दो अंतरिक्ष यान भेजे गए हैं –

बुध की कक्षा में जांच करना वास्तव में एक कठिन कार्य है क्योंकि सूर्य का गुरुत्वाकर्षण बहुत अधिक है। 1974 में द मैरीनर 10 और 2004 में मैसेंजर नामक अंतरिक्ष यान बुध ग्रह पर भेजा गया था। मैरीनर 10 ने बुध के चारों ओर बस परिक्रमा की, जबकि मैसेंजर ने चार साल तक कक्षा से ग्रह का अध्ययन किया।

बुध ग्रह के बारे में अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल – FAQ about mercury planet in hindi.

क्या बुध ग्रह को नंगी आँखों से देखा जा सकता है?

जी हाँ आप बुध ग्रह को नंगी आँखों से देख सकते हैं। इसे आप सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय के ठीक पहले नंगी आँखों से देख सकते हैं।

बुध ग्रह पर तापमान कितना होता है?

बुध ग्रह पर दिन के समय तापमान 840°F (450°C) तक पहुंच सकता है। वहीं रात इसका में तापमान -275°F (-170°C) हो सकता है।

बुध ग्रह की सतह किस तरह की है?

बुध ग्रह की सतह उबड़-खाबड़ और गड्ढों से भरपूर है।


सौर मंडल का सबसे अधिक गड्ढों वाला ग्रह कौन सा है?

बुध ग्रह सबसे अधिक गड्ढों वाला ग्रह है।

बुध ग्रह पर अब तक कितने अंतरिक्ष यान भेजे जा चुके हैं?

बुध ग्रह पर अब तक दो अंतरिक्ष यान भेजे जा चुके हैं। मेरिनर-10 को 1974 में भेजा गया था और मैसेंजर प्रोब को 2004 में भेजा गया था।

बॉयकॉट चाइनीज गुड्स समझें, मेड इन इंडिया और मेक इन इंडिया के बीच का फर्क।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest



RELATED ARTICLES