Dust Allergy Treatment In Ayurveda : जानें धूल से एलर्जी के कारण, लक्षण और इससे बचाव के टिप्स।
TRENDING
  • 6:53 PM » आलू खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान नहीं पड़ेगा पछताना।
  • 11:27 PM » Thyroid me kya nahi khana chahiye : जानिए थायराइड की बीमारी में क्या नहीं खाना चाहिए।
  • 11:06 PM » Sanso ki badboo ka ilaj : सांसों की बदबू दूर करने के घरेलू उपाय।
  • 11:26 PM » Causes of dark lips in hindi : होंठों का रंग काला पड़ने के कारण।
  • 10:20 PM » Benefits of mint for skin in hindi : त्वचा के लिए पुदीना के फायदे।

Dust allergy treatment in ayurveda…दूषित हवा, धूल, मिट्टी के कारण एलर्जी हो जाना एक बड़ी समस्या बनते जा रहा है, न चाहते हुए भी हमें आये दिन धूल, मिट्टी, दूषित हवा से दो चार होना पड़ता है जिस कारण एलर्जी जैसी समस्या हमे आ घेरती है। धूल से एलर्जी होने पर फेफड़ों और श्वसन से संबंधित समस्याएं हमे आ घेरती हैं। इसके अलावा एलर्जी के चलते सर्दी जुकाम, छींक आना आंखों से पानी बहना, आँखों में रेडनेस हो जाना जैसी अन्य समस्याएं भी हो जाती हैं। अगर आपको भी (Dust allergy in hindi) धूल से एलर्जी की समस्या काफी समय से लगातार बनी हुए है तो ऐसे में आपको शीघ्र अतिशीघ्र किसी अच्छे डाक्टर से ट्रीटमेंट करवाना चाहिए और डाक्टर की सलाह के अनुसार एलर्जी टेस्ट भी करवाएं। आज हम चर्चा करेंगे आयुर्वेद के अनुसार (Dust allergy treatment in ayurveda) धूल से एलर्जी हो जाने की समस्या को दूर करने के नुस्खों के ऊपर।

Dust allergy treatment in ayurveda

courtesy google

क्यों होती है एलर्जी – Causes of Dust Allergy in Hindi

धूल में पाए जाने वाले अनेक डस्ट माइट्स (Dust Mites) यानि की धूल में मौजूद सूक्ष्मजीव (माइक्रोऑर्गेनाइज्म) ही डस्ट एलर्जी यानि की धूल से एलर्जी का कारण बनते हैं ये आकर में इतने सूक्ष्म होते हैं कि नग्न आँखों से इन्हें देख पाना सम्भव नहीं होता। यह हमारी स्किन में मौजूद डेड सेल्स को खाते हैं इनको पनपने के लिए नमी वाले वातावरण की जरूरत होती है।

डस्ट एलर्जी (धूल से एलर्जी) के लक्षण – Symptoms of Dust Allergy in Hindi

अत्यधिक छींक आना
खांसी होना
नाक बहना
आंख, नाक, गले में खुजली होना
आँखें लाल होना
गले में खराश
त्वचा में खुजली होना
त्वचा पर लाल चकत्ते होना
सांस लेने में तकलीफ होना
चेहरे में दर्द
आंखों में सूजन
अस्थमा का अटैक आना

Dust allergy treatment in ayurveda

courtesy google

धूल से एलर्जी के बचाव के घरेलू उपाय – Dust allergy home remedies in hindi

Dust allergy treatment in ayurveda : सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) –

दो टेबल स्पून सेब के सिरके को एक गिलास गर्म पानी में डाल कर अच्छी तरह से मिला लें और इसे पी लें। इसका स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं। नित्य एक से दो गिलास इस मिश्रण का सेवन डस्ट एलर्जी में करना लाभदायक रहता है।

Dust allergy treatment in ayurveda : शहद –

औषधीय गुणों से भरपूर शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण मौजूद होते हैं। अनेक बिमारियों के उपचार में शहद का प्रयोग प्राचीन काल से चला आ रहा है। NCBI की एक रिपोर्ट के मुताबिक एलर्जी से पीड़ित कोई व्यक्ति यदि 4 से 8 हफ्ते तक शहद का पर्याप्त मात्रा में सेवन करता है तो उसे एलर्जी से राहत मिल सकती है। आप शहद को कच्चा या फिर पानी के साथ मिला कर खा सकते हैं।

Dust allergy treatment in hindi : डीह्यूमिडिफायर –

ये एक ऐसी तकनीक है जिसमे इसे उपकरणों का प्रयोग किया जाता है, जो हवा में मौजूद नमी को कम करने का काम करते हैं। हानिकर डस्ट माइट्स नमी वाली जगह पर ज्यादा पाए जाते हैं। डीह्यूमिडिफायर तकनीक की मदद से हम इनसे निजाद पा सकते हैं।

शुद्ध और ताजी हवा के लिए इन एयर प्यूरीफाइंग प्लांट्स को अपने घर में जरूर लगाएं।

Dust allergy treatment in ayurveda : हल्दी –

घर के किचन में मौजूद हल्दी में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। ये एलर्जी को फैलने से रोकने का काम करते हैं। इसमें पाए जाने वाला करक्यूमिन एक बेहतर एंटीएलर्जिक की तरह कार्य करता है। आधा चम्मच हल्दी को एक कप दूध में डाल कर उबाल लें। ठंडा हो जाने पर इसमें शहद मिला कर इसे पी जाएँ।

Dust allergy treatment in ayurveda : फिटकरी –

धूल से एलर्जी के कारण खुलजी, रैशेज और आंखों में जलन जैसी समस्याओं के निवारण के लिए सबसे बेहतर उपाय है फिटकरी के पानी से नहाना। थोड़ी सी फिटकरी लीजिये इसे पीस कर इसकी कुछ मात्रा नहाने वाले पानी में मिला कर नहा लीजिए। ऐसा करने से भी आपको काफी आराम मिलेगा।

Dust allergy treatment in ayurveda : पुदीना –

एक कप गर्म पानी में सूखे पुदीने के पत्ते डाल कर 5 मिनट के लिए छोड़ दें। अब छलनी की मदद से इसे छान कर इसमें थोड़ी सी मात्रा में शहद मिला कर इसे पी जाएँ। रोजाना एक से दो बार इसका सेवन करें।

Dust allergy treatment in ayurveda : हर्बल टी –

अदरक, काली मिर्च, तुलसी और लौंग को लेकर एक गिलास पानी में डालकर तब उबालें जब तक की यह सुख कर आधा न रह जाये। इसके बाद इसे छान कर पी जाएँ सर्दी, जुकाम, गले में दर्द, कफ आदि एलर्जी की समस्याओं से राहत मिलेगी। हर्बल चाय पीने से शरीर को ऊर्जा भी मिलती है।

Dust allergy treatment in ayurveda : नमक पानी –

एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी नमक डालकर उससे गरारा करें। गले में जमा बलगम बाहर निकलता है और एलर्जी के कारण गले में हो रही खुजली और दर्द में भी आराम मिलता है।

डस्ट एलर्जी (धूल से एलर्जी) का इलाज – Dust allergy treatment in ayurveda

अगर आपको भी काफी लम्बे समय से डस्ट एलर्जी (धूल से एलर्जी) तो इसे में सबसे बेहतर यही होगा की आप जल्द से जल्द किसी अच्छे डाक्टर से मिलें अपनी सभी समस्याएं बताएं और डाक्टर के द्वारा लिखी गयी सभी जांचों का टेस्ट करवाएं।

अब नहीं होंगे आप बंद नाक से परेशान आपनाएँ ये आसान उपाय।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •