डिप्रेशन (तनाव) से निकलने के लिए नित्य करें योग, इन तीन योगासन को करना न भूलें।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

International Yoga Day 2020: डिप्रेशन (तनाव) आज के समय में सबसे बड़ी समस्या बन कर सामने आने लगा है। एक बार यदि आप डिप्रेशन के शिकंजे में जकड़ जाये तो इससे दोबारा बाहर निकलना बहुत मुश्किल होता है। कुछ लोगों में तो डिप्रेशन का लेवल इतना अधिक बढ़ जाता है कि उनको इससे बाहर निकलने में एक लम्बा समय लग जाता है। इसलिए डिप्रेशन में यह जरुरी हो जाता है कि समय रहते इसका इलाज करवा लिया जाये। डिप्रेशन (तनाव) से निकलने में योग, प्रणायाम का अहम रोल होता है। ऐसे कई योग हैं जिनके निरंतर अभ्यास से आपको डिप्रेसन (तनाव) जैसी गंभीर समस्या से छुटकारा मिलता है। International Yoga Day 2020 के इस शुभ अवसर पर आज हम जानेंगे डिप्रेशन (तनाव) को दूर करने के लिए कौन कौन से योग किये जाते हैं?

डिप्रेशन (अवसाद) किसी भी व्यक्ति को कई कारणों से हो सकता है। इनमें से कुछ मुख्य कारणों में पढ़ाई, नौकरी, व्यव्यसाय, ऑफिस, पारिवारिक कलह, रिलेशनशिप आदि शामिल हैं। बहरहाल आपको डिप्रेशन चाहे किसी भी कारण से क्यों न हो, जरूरत है आपको समय रहते इससे छुटकारा पाने की। डिप्रेशन यदि हद से ज्यादा बढ़ जाये तो व्यक्ति की स्तिथि गंभीर होने लगती है। आपको ये जानकर हैरानी होगी की हमारे देश में लाखों लोग हर वर्ष डिप्रेशन के चलते आत्महत्या कर लेते हैं। इस International Yoga Day 2020 के अवसर पर आज से ही अपने डिप्रेशन (तनाव) को दूर करने के लिए योग और प्रणायाम को अपने डेली लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं।

डिप्रेशन (तनाव) दूर करने के लिए योग –

डिप्रेशन (तनाव)  योग
courtesy google

बालासन योग –

बालसन को संस्कृत के शब्द बाला से लिया गया है, जिसका अर्थ है बच्चे की आराम मुद्रा। इस आसान कि स्थिति बिलकुल ऐसी नजर आती है जैसी भ्रूणावस्था के दौरान शिशु की अपने माँ के पेट में होती है। यह आसान आपको स्ट्रेस, तनाव और एंजायटी से दूर रखता है। 2 से 4 मिनट तक इसका नित्य अभ्यास करें।

कैसे करें बालासन –

  • जमीन पर योगा मेट बिछाएं और घुटनो के बल बैठ जाएँ। इस दौरान शरीर का सारा बल एड़ियों पर पड़ने दें।
  • अब लम्बी सांस भरते हुए आगे की तरफ झुकें।
  • सिर्फ इतना ही झुकें कि आपका सीना आपकी जांघों से छू जाये। फिर अपने माथे से फर्श को छूने की कोशिश करें।
  • कुछ सेकंड तक इस अवस्था को होल्ड करे रहें। वापस साँस छोड़ते हुए सामान्‍य अवस्‍था में आ जाएं। इस प्रक्रिया को शुरुआत में पांच बार तक दोहरा सकते हैं। सहज होने पर और अधिक बार दोहराएं।

जानें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) का इतिहास और इससे जुडी जानकारियाँ।

डिप्रेशन (तनाव)  योग
courtesy google

शवासन योग –

यह शरीर को आराम दिलवानवे की मुद्रा है। इस योग के नित्य अभ्यास से दिमाग आराम की अवस्था में पहुँचता है। डिप्रेसन (तनाव) जैसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए इसका नित्य अभ्यास करें।

कैसे करें शवासन –

  • योगा मेट पर पीठ के बल रिलेक्स अवस्था में लेट जाएं।
  • अपनी आंखें बंद कर लें
  • अपने पैरों और घुटनों के बीच थोड़ा सा अंतर् रखकर आराम की मुद्रा में लेटे रहें।
  • अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखें और इन्हें छाती से कुछ दूर तक फैला कर आराम की मुद्रा में रखें। ध्यान रखें कि हथेलियां खुली रहें।
  • अपनी आँखें बंद करने के साथ अपने शरीर के केंद्र बिंदु पर ध्यान लगाएं। धीरे धीरे, गहरी सांसे लें और रिलेक्स करें।
  • 5-10 मिनट बाद इस अवस्था में बने रहें। जब आपको पूरी तरह से रिलेक्स महसूस हो, तब एक तरफ करवट बदलते हुए धीरे धीरे उठ जाएँ।

शोध में हुआ खुलासा, लॉकडाउन में पुरुषों की तुलना में महिलाएं रही अकेलेपन का अधिक शिकार।

डिप्रेशन (तनाव)  योग
courtesy google

सुखासन योग –

सुखासन का नित्य अभ्यास दिमाग को शांत रखने में मदद करता है। साथ ही इससे नित्य अभ्यास से ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहता है। इस आसन को रोजाना करने से मन उदास नहीं रहता है और अवसाद में राहत मिलती है।

सुखासन योग कैसे करें –

  • जमीन पर योगा मेट बिछाएं और पैरों को सामने की तरफ फैला कर बैठे।
  • अब पैरों को समेटते हुए छाती की तरफ लाएं और घुटनो के बल (पालथी मार कर) बैठ जाएं।
  • अब दाएं पैर को मोड़कर बाएं के ऊपर और बाएं को मोड़कर दाएं के ऊपर रखें।
  • अब दोनों हाथों को आगे लाते हुए उन्हें घुटनों के ऊपर ज्ञान मुद्रा में रखें।
  • कमर, सिर और गर्दन को सीधे सामने की तरफ रखें और सामने की तरफ देख कर ध्यान क्रेंद्रित करें।
  • इस पोजीसन को कम से कम 1 मिनट तक होल्ड करें। अब अपने पैरों की स्थिति बदल प्रक्रिया को फिर से दोहराएं।

अवसाद (डिप्रेसन) के कारण भूलकर भी न उठाएं सुशांत सिंह राजपूत जैसा सुसाइड का कदम, डिप्रेसन से दूर रखें ये उपाय।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT