मानसून के मौसम में मच्छरों से फैलने वाले रोग और उनसे बचाव के तरीके।
TRENDING
  • 11:33 PM » गर्भ में पल रहा बेबी लड़का है या लड़की (Garbh me ladka hone ke lakshan) – Baby boy symptoms in hindi.
  • 11:29 PM » बांसी रोटी खाने के फायदे (Basi roti khane ke fayde) – Basi roti benefits in hindi.
  • 11:27 PM » जिद्दी खांसी दूर करने के घरेलू नुस्खे (Ziddi khansi ka ilaj) – Home remedies for cough in hindi.
  • 10:36 PM » निमोनिया में क्या खाना चाहिए (Nimoniya me kya khana chahiye) – What to eat in pneumonia in hindi.
  • 7:13 PM » बालों को लम्बा करने के तरीके (Balo ko lamba karne ka tarika) – Hair Growth Tips in Hindi.

कोरोना के साथ देश में मानसून का कहर भी जम कर बरस रहा है। देश के कई क्षेत्रों में हो रही रिकॉर्ड बारिश लोगों के लिए मुसीबत का सबब बनते जा रही हैं। बारिश के कारण देश में कई जगहों पर बाढ़ की स्थिति पैदा हो चुकी है। जैसा कि हम सब जानते हैं, बारिश का ये मौसम अपने साथ अनेक बिमारियों को लेकर आता है। इसलिए इस मौसम में आपको एक्स्ट्रा केयर कि जरूरत होती है। बरसात के इस मौसम में मच्छरों कि संख्या में भी एकाएक वृद्धि देखने को मिलती है। मच्छरों के कारण मलेरिया, चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बीमारी होने का खतरा बना रहता है। हाल ही हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि “मानसून का मौसम है और मच्छरों से जनित रोगों के प्रसार की संभावना बनी रहती है। मैं आप सबसे अपील करता हूं कि ठीक तरीके से एहतियात बरतें। सरकार भी स्थिति पर पूरी नजर बनाए हुए है”। इसलिए यह ज़रूरी हो जाता है कि मानसून के इस मौसम में आप अतरिक्त एहतियात बरतें और मच्छरों को घर के आस-पास नहीं आने दें। आइए आपको बताते हैं मानसून के मौसम में मच्छरों से कौन सी बीमारियाँ फैलने की संभावना बनी रहती है और उससे बचने के लिए आप कौन से तरीके अपना सकते हैं।

मानसून के मौसम मच्छरों
courtesy google

मानसून के मौसम में मच्छरों से फैलने वाले रोग और उनसे बचाव के तरीके : What diseases can be prevented by destroying mosquitoes in monsoon

डेंगू –

मानसून के मौसम में डेंगू का प्रकोप सबसे अधिक फैलने की संभावना होती है। समय रहते अगर डेंगू का इलाज नहीं करवाया गया तो यह आपकी जान तक ले सकता है। इसे हड्डी तोड़ बुखार के नाम से भी जाना जाता है। यह बीमारी मच्छर के काटने से एक व्यक्ति द्वारा दूसरे व्यक्ति तक पहुँचती है। इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को शरीर में कमजोरी, ठंड लगने के साथ तेज बुखार, सिर और मांसपेशियों में दर्द, भूख नहीं लगना, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, जोड़ों और हड्डियों में दर्द, जी मिचलाना जैसे लक्षण होते हैं।

डेंगू से बचने के उपाय :

-घर और आस-पास के क्षेत्रों में पानी जमा नहीं होने दें।
-छत में लगी पानी की टंकी का ढक्कन सही तरीके से बंद होना चाहिए।
-घर के अंदर और बाहर हफ्ते में एक बार मच्छरनाशक को मारने वाली दवा का छिड़काव करें
-मच्छरों से बचने के लिए फुल पेण्ट और फुल बाजु वाले कपड़े पहनें।

मलेरिया –

मछरजनित वाले रोगों की बात करें तो इनमें मलेरिया नामक रोग भी शामिल है। मलेरिया नामक रोग मच्छर की एक प्रजाति (‘एनाफिलीज) मच्छर के काटने से होता है। इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति के शरीर में तेजी से हीमोग्लोबिन की कमी आने लगती है। यह बीमारी भी डेंगू की तरह जानलेवा साबित हो सकती है। इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को कभी तेज ठंड के साथ तो कभी अत्यधिक गर्मी के साथ बुखार आता है। इसके अलावा व्यक्ति को कमजोरी होने लगती है और शरीर में कपकपी बनी रहती है। इसमें बुखार एक-एक दिन के अंतर् में आता है।

ये हैं मच्‍छर भगाने वाले 10 घरेलू पौंधे, इनके बारे में जरूर जानिये।

मलेरिया से बचने के उपाय :

-घर के आस-पास के क्षत्रों को साफ़ रखें।
-पानी वाली जगह पर मच्छर सबसे अधिक पैदा होते हैं इसलिए किसी भी चीज में पानी जमा नहीं होने दें।
-अपने गार्डन की साफ-सफाई का ध्यान दें यहाँ सबसे अधिक मच्छर छुपकर बैठ जाते हैं।
-ऐसी जगहों पर मच्छरों से बचने के लिए मॉस्किटो रेपेलेंट (mosquito repellent) का स्प्रे करें।
-घर पर भी मच्छर मार कॉइल या ऑयल का प्रयोग करें।
-मच्छर मारने के लिए मॉस्किटो रैकेट का प्रयोग करें

चिकनगुनिया :

मानसून के मौसम मच्छरजनित फैलने वाले रोगों के नाम में चिकनगुनिया का नाम भी शामिल है। इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को तेज बुखार बना रहता है साथ ही जोड़ों में तेज दर्द होता है। इसके अलावा चिकनगुनिया के अन्य लक्षणों में सिरदर्द, बदन में दर्द, शरीर पर चकत्ते पड़ना शामिल हैं। इस बीमारी में शरीर में पानी की कमी हो जाती है जो गंभीर होने पर कभी-कभी जानलेवा साबित हो सकती है।

क्या आप जानते हैं मच्छर को इंसानो का खून चूसने की आदत कैसे लगी, स्टडी में हुआ खुलासा।

चिकनगुनिया से बचने के उपाय :

-मच्छरों से दूरी बनाने के लिए अपने घर के आस-पास के क्षेत्रों में मच्छरों को फैलने से रोकें।
-घर के आस-पास जमा हुए पानी में मच्छर पैदा होने की संभवाना बनी रही है। इसलिए घर व आस-पास के क्षेत्रों में पानी न जमने दें।
-ऐसे कपड़े पहनें जो आपकी पूरी बॉडी को कवर करते हों।
-रात्रि में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें।

सावधान! कोरोना के साथ बढ़ रहा डेंगू का कहर, डेंगू से बचाव के लिए अपनाएं ये तरीके।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES

1 COMMENTS

  1. Pingback: Giloy Juice Benefits In Hindi : गिलोय का रस पीने के 8 जबरदस्त स्वास्थ्य लाभ।
LEAVE A COMMENT

%d bloggers like this: