Dengue Se Bachne Ke Upay : जानें डेंगू बीमारी, इसके लक्षण, कारण और बचाव के घरेलु उपाय.
TRENDING
  • 11:27 PM » जिद्दी खांसी दूर करने के घरेलू नुस्खे (Ziddi khansi ka ilaj) – Home remedies for cough in hindi.
  • 10:36 PM » निमोनिया में क्या खाना चाहिए (Nimoniya me kya khana chahiye) – What to eat in pneumonia in hindi.
  • 7:13 PM » बालों को लम्बा करने के तरीके (Balo ko lamba karne ka tarika) – Hair Growth Tips in Hindi.
  • 2:18 PM » जानिये क्या है म्यूकॉरमाइकोसिस ब्लैक फंगस जिसने कोरोना के बाद बड़ाई मुसीबतें।
  • 7:57 PM » चेहरे पर बर्फ लगाने के फायदे (Chehre par barf lagane ke fayde) – Ice therapy for face in hindi.

Dengue se bachne ke upay…डेंगू एक प्रकार की वायरसजनित बीमारी है जो मच्छर कि एक विशेष प्रजाति “एडीज” डेंगू मच्छर के द्वारा काटे जाने पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के शरीर में पहुंच जाती है। विश्वभर में हर साल लाखों लोग डेंगू की बीमारी से ग्रसित होते हैं। दुनियाभर में इसका अधिकतर प्रकोप ट्रॉपिकल और सब ट्रॉपिकल वाले क्षेत्रों में ज्यादा देखने को मिलता है। डेंगू का यह वायरस हर साल विश्वभर में तकरीबन 40 मिलियन लोगों को अपना शिकार बना रहा है इनमे से अधिकतर क्षेत्र जो कि चपेट में हैं उनमें प्रमुख साऊथ ईस्ट एशिया, उत्तर और दक्षिण अमेरिका, दक्षिण चाइना, ताईवान, अफ्रीका, पेसेफिक आइलैंड, इण्डिया समते 100 से अधिक देश इसकी चपेट में हैं। डेंगू की ये बीमारी हर उम्र वर्ग के लोगों को प्रभावित कर सकती है इसलिए इसमें सावधानी बरतना अत्यंत आवश्यक हो जाता है। आईये जानते हैं (Dengue se bachne ke upay) डेंगू से बचाव के घरेलू उपाय।

dengue symptoms pinkstea 1

courtesy twitter

डेंगू के लक्षण – Symptoms of dengue in hindi

Dengue se bachne ke upay: जब भी किसी व्यक्ति को एडीज प्रजाति का संक्रमित मच्छर काट लेता है तो उसे ये रोग आ घेरता है। डॉक्टर्स के मुताबिक एक स्वस्थ्य मनुष्य के 1 मिली लीटर खून में 30 से 40 हजार ब्लड प्लेटलेट्स होती हैं जो की रोज बनती और नष्ट होते रहती हैं, किन्तु डेंगू हो जाने के दौरान इनकी संख्या में तेजी कम होने लगती है जिस कारण कमजोरी आने के साथ साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। हालाँकि इस बीमारी के लक्षण तुरंत सामने निकल कर नहीं आते हैं 7 से 12 दिन के बाद ही ये पूरी तरह से अपना असर दिखाते हैं, आईये एक नजर डालते हैं इस बीमारी के कुछ प्रमुख लक्षणों पर।

वायरल फीवर से हैं परेशान? अपनाएँ वायरल फीवर से बचाव के ये कारगर घरेलु नुस्खे।

* कमजोरी महसूस होना.
* बदन, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द होना.
* तीव्र बुखार का आ जाना.
* अत्यधिक ठंड लगना.
* त्वचा पर लाल चक्क्ते पड़ जाना.
* आँखों में जलन और दर्द रहना.
* भूख ना लगना.
* जी मचलाना.
* उलटी होना.

Dengue se bachne ke upay

courtesy google

डेंगू बुखार के प्रकार – Types Of Dengue Fever in Hindi

डेंगू बुखार को इसकी जटिलता के अनुसार तीन भागों में बाँटा गया है।

(साधारण) क्लासिकल डेंगू फीवर – Dengue Fever in Hindi

इस प्रकार के डेंगू फीवर में आप हफ्ते भर के अंदर रिकवर हो जातें हैं। इसलिए इसे क्लासिकल डेंगू फीवर की श्रेणी में सम्मलित किया गया है। इस प्रकार के रोगियों में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं।

* अचानक तेज ठण्ड लगना और तेज बुखार का आ जाना.
* माँसपेसियों और बदन में दर्द रहना.
* कमजोरी का आभास होना.
* भूख ना लगना.
* जी मिचलाना.
* शरीर पर लाल चक्क्ते पड़ जाना.
* सर दर्द आंखों के पिछले भाग में तेज दर्द का होना.

बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियां और उनसे बचाव के तरीके।

डेंगू हॅमरेजिक बुखार (DHF) – Dengue hemorraghic fever in hindi

इस प्रकार का डेंगू बुखार क्लासिकल डेंगू फीवर के मुकाबले कहीं अधिक शक्तिशाली होता है। मनुष्य के रक्त के कुछ नमूनों की जाँच के द्वारा इसका पता लगाया जा सकता है। DHF से प्रभावित व्यक्ति में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं।

* स्किन पर गहरे नीले-काले रंग के छोटे या बड़े निशान पड़ जाना।
* शौच या उल्टी में खून आना।
* नाक और मसूढ़ों से खून आना।

डेंगू शॉक सिंड्रोम (DSS ) –  Dengue shock syndrome in hindi

DSS से प्रभावित व्यक्ति में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं।

* अत्यधिक बेचैनी होना।
* तीव्र बुखार होने के बावजूद शरीर का ठंडे पड़े रहना।
* ब्लड प्रेसर का अत्यंत लो हो जाना।
* मनुष्य की नाड़ी की गति का असामान्य रूप से चलना।

बरसात के मौसम में इन फल और सब्जियों का सेवन आपको रखेगा बीमारियों से दूर।

डेंगू से बचाव के तरीके – Dengue se bachne ke upay in hindi

डेंगू एडीज प्रजाति के मच्छर से फैलने वाली एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी उम्र वर्ग के व्यक्ति को संक्रमित मच्छर के द्वारा काट लिए जाने पर हो सकती है। इस प्रकार की बिमारियों से बचने के लिए सतर्कता और जागरूकता फैलना ही सबसे बड़ा और कारगर बचाव का तरीका भी है। आईये जानते हैं कैसे हम डेंगू के मच्छर से खुद को काटे जाने से बचा सकते हैं।

सुरक्षात्मक कपड़े पहनें –

Dengue se bachne ke upay: ये तो हम सभी जानते हैं की मच्छर शरीर के उस भाग पर सबसे पहले काटता है जो हिस्सा खुला अर्थात कपड़ों से नहीं ढका होता है इसलिए ऐसे कपड़े पहनिए जो आपके पूरे शरीर को कवर करने की क्षमता रखते हों।

मच्छर मारने वाले प्रोडक्ट्स का उपयोग करें –

Dengue se bachne ke upay: मच्छर मारने के लिए बाजार में मिलने वाले प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें इसके लिए आप हिट स्प्रे, पर्मेथ्रिन (Permethrin) मच्छर मारने वाली दवा, मच्छर मारने वाली काइल, मच्छर मारने के लिए मिलने वाले आइल और मच्छर मारने वाले बैडमिंटन का भी उपयोग कर सकते हैं।

मच्छर भगाने के घरेलू उपाय

घर के आस पास के क्षेत्र की साफ सफाई रखें –

Dengue se bachne ke upay: मच्छर अक्सर गंदगी, घनी झाड़ियों वाली जगह पर रहना पसंद करते हैं इसलिए अपने आस पास के इलाके की साफ सफाई जरूर रखें और इन सभी जगहों पर नियमित रूप से मच्छर मारने वाली दवाइयॉं, स्प्रे का छिड़काव जरूर करें।

जमे पानी को तुरंत फेकें –

Dengue se bachne ke upay: यदि आपके घर और उसके आस पास के क्षेत्र में कहीं भी पानी इकट्ठा हो रहा है तो शीघ्र अतिशीघ्र उसके निष्कासन की व्यवस्था करें। ध्यान रहे की मच्छर हमेशा गंदी और जमे हुए पानी वाली जगहों में ही विकसित होता है। अपने घर में भी आप कूलर का नित्य पानी बदलें और कूलर में कई दिनों से पानी जमा है तो उसे तुरंत साफ करें।

सावधान! बरसात का मौसम हो चूका शुरू, खाने पीने का रखें विशेष ध्यान।

डेंगू से बचाव के आसान घरेलू टिप्स – Dengue ke gharelu upchar

Dengue se bachne ke upay in hindi : गिलोय का काढ़ा –

Dengue ke gharelu upchar : अपने औषधीय गुणों के लिए मशहूर गिलोय डेंगू जैसी घातक बीमारी से लड़ने में हमारे शरीर की मदद करता है यह तेजी से ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ाने का काम करने के साथ साथ हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का भी काम करता है जिस कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। गिलोय के इस्तेमाल के लिए आप 20 से 30 ग्राम की मात्रा में गिलोय की जड़ें लीजिए और आधा लीटर पानी में तब तक उबालिये जब तक की पानी सूख कर आधा ना रह जाये। अब तैयार काढ़े का सेवन रोजाना सुबह और शाम करें।

Dengue se bachne ke upay in hindi : पपीते के पत्ते –

Dengue ke gharelu upchar : डेंगू के दौरान गिरती प्लेटलेट्स की रिकवरी करने में पपीते की पत्तियों का रस अत्यंत ही लाभप्रद होता है इसके लिए आपको इतना सा करना है कि अपने आस पास या घर जहाँ भी पपीते का पेड़ मौजूद हो उस से आप बिलकुल ताजी नई निकली हुए कुछ पत्तियों को तोड़ लीजिए और इनको साफ अपनी से अच्छी से धोने के पश्च्यात इनका रस निकाल कर मरीज को 4 से 5 चम्मच पीला दीजिए।

सवास्थ्य के लिए पपीता के लाभ

Dengue se bachne ke upay in hindi : तुलसी के पत्ते –

Dengue ke gharelu upchar : तुलसी कि पत्तियां सभी प्रकार के वायरल, सर्दी, जुखाम आदि बिमारियों में बेहद लाभकारी होती है। इनमें प्रचूर मात्रा में एंटीआक्सीडेंट गुण मौजूद होते है। तुलसी कि कुछ पत्तियाँ लीजिए और इनको 1 गिलास पानी में तब तक उबालिये जब तक कि पानी सूख कर आधा ना रह जाये। पानी सामान्य तापमान पे आ जाने के बाद इसे पी लीजिए इसके अलावा आप अपनी चाय में भी तुलसी के पत्ते डाल कर इसका लाभ उठा सकते हैं।

Dengue se bachne ke upay in hindi : बकरी का दूध –

Dengue ke gharelu upchar : बकरी के दूध में कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेड, न्युट्रिशन, आयरन, फास्फोरस, आदि अनेक कई खनिज तत्व पाए जाते हैं। बकरी का दूध इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम भी करता है साथ ही डेंगू जैसी बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति की ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ाने का भी काम करता है।

भुट्टा खाने के हैं अनेक सवास्थ्य लाभ, जानकर आप भी नहीं रह पाएंगे भुट्टा खाये बिना।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :-

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT

%d bloggers like this: