Dant Me Sadan Ka Ilaj : दांतों की सड़न रोकने के घरेलू नुस्खे।
TRENDING
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.
  • 9:09 PM » भगत सिंह पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on bhagat singh in hindi.

Dant me sadan ka ilaj…क्या आप दांतों में सड़न की समस्या से परेशान हैं? यदि हाँ तो आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं दांतों की सड़न रोकने के घरेलू नुस्खे। दांतों में यदि सड़न की समस्या हो जाए और समय रहते आपने इस पर ध्यान नहीं दिया तो आपके लिए यह मुसीबत का सबब बन सकती है। दांतों में सड़न होने पर यह धीरे-धीरे दांतों को खोखला करने लगती है और एक समय ऐसा आता है जब आपके दांत झड़ कर गिरने लगते हैं। इसलिए समय रहते इस समस्या का इलाज करना बहुत जरूरी होता है। दांतों में होने वाली सड़न के पीछे का मुख्य कारण दांतों की सही तरह से सफाई न करना, खाना खाने के बाद कुल्ला नहीं करना और ओरल हेल्थ पर ध्यान न देना। जो लोग अत्यधिक मात्रा में मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, उन्हें अपने दांतों की अतिरिक्त केयर जरूर करनी चाहिए। आईये जानते हैं दांतों की सड़न रोकने के घरेलू नुस्खे (Dant me sadan ka ilaj) और इनके प्रयोग के तरीके।

दांतों की सड़न रोकने
courtesy google

दांतों की सड़न रोकने के घरेलू नुस्खे (Dant me sadan ka ilaj) : Danto ki sadan rokne ke upay.

ऑयल पुलिंग तकनीक –

दांतों की सड़न रोकने के लिए बेहद प्रचीन और सिद्ध तकनीक ऑयल पुलिंग का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए आपको एक चमच्च तिल या नारियल का तेल चाहिए। सबसे पहले तेल को मुँह में डालें और उसे 1 मिनट तक मुँह में एक तरफ से दूसरे तरफ घुमाएं और फिर इसे थूक दें। ध्यान रहे इस दौरान आपको तेल निगलना नहीं है सिर्फ इससे कुल्ला करना है। ओरल हेल्थ से जुडी कई समस्याओं को दूर करने में यह तकनीक बेहद कारगर है।

एलोवेरा का प्रयोग –

एलोवेरा जेल का प्रयोग भी दांतों में सड़न रोकने का काम करता है। इस पर हुए कुछ शोध बताते हैं कि एलोवेरा में मौजूद एंटीबैक्टीरियल पापर्टीज दांतों में मौजूद बैक्टीरिया को मारने का काम करती है। इसके अलावा इसके एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण दांतों और मसूड़ों को सूजन, सड़न और दर्द की समस्या से बचाने का काम भी करते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए आप ताजे एलोवेरा जेल में पानी मिलाकर माउथवाश की तरह उसका प्रयोग कर सकते हैं।

Dant Andar Karne Ka Tarika : इन तरीकों से करें बाहर निकले दांतों का इलाज।

लौंग का तेल –

दांतों से जुडी कई समस्याओं को दूर करने में औषधीय गुणों से भरपूर लौंग के तेल का प्रयोग किया जा सकता है। यह दांतों को सड़न, दांत दर्द, सांसों की दुर्गंध, पायरिया, कैविटी और प्लाक जैसी समस्याओं से बचाता है। इसका प्रयोग करने के लिए दो से तीन बूंदें लौंग के तेल में एक चौथाई चम्मच तिल के तेल मिला कर रात को सोने से पहले रुई की मदद से दांतों पर लगाएं। कुछ दिनों तक इसका प्रयोग करने से आपको काफी आराम महसूस होगा।

नीम का रस –

दांतों में सड़न की समस्या को दूर करने के लिए नीम के रस का प्रयोग भी किया जा सकता है। नीम का रस एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है। यह दांतों में मौजूद उन हानिकाकर बैक्टीरिया को मारने का काम करता है जो सड़न के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसके अलावा यह दांतों को कैविटी की समस्या से भी बचाता है। इसका प्रयोग करने के लिए नीम की पत्तियों का रस निकालकर अपने दांतों पर लगाएं और बाद में गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें। इसके अलावा आप चाहें तो रोजाना नीम का दातुन भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

पायरिया को कर दें जड़ से खत्म! बहुत काम के हैं ये घरेलु टिप्स। आज ही अपनाएं।

दांतों की सड़न रोकने के लिए नमक के पानी का कुल्ला –

दांतों की सड़न रोकने के घरेलू नुस्खों में नमक पानी का कुल्ला भी कारगर तरीका बन सकता है। नमक हर किसी के घर में बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जाता है। नमक पानी का कुल्ला सड़न के साथ-साथ कैविटी से भी सुरक्षा प्रदान करता है। दरअसल नमक में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं जो दांतों को सड़न, कैविटी, संक्रमण और दांत में कीड़ा लगाना जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाते हैं।

जानिए क्या है ऑयल पुलिंग पद्धति और इससे होने वाले स्वास्थ लाभ के बारे में।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें.

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT