कोरोना के हवा में प्रसार को लेकर 32 देशों के वैज्ञानिकों के दावे पर क्या बोला WHO.
TRENDING
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।
  • 11:53 PM » 10 lines on diwali in hindi : दिवाली पर 10 लाइन निबंध।

एक तरफ जहाँ कोरोना वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए विश्वभर के साइंटिस्ट दिन रात एक कर वैक्सीन निर्माण क्रिया में लगे हैं। वहीं दूसरी तरफ दुनियाभर में वायरस प्रसार के ऊपर चल रही शोध पर एक नया चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। कोरोना प्रसार को लेकर हुआ ये दावा विश्व के 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने किया है। वैज्ञानिकों के मुताबिक कोरोना वायरस का प्रसार हवा के जरिए भी फैलता है। इस नए दावे को लेकर वैज्ञानिकों का मानना है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) इसे लेकर गंभीर नहीं है और ना ही उसने अपनी गाइडलाइन में इसका जिक्र किया है। कोरोना के हवा में प्रसार को लेकर वैज्ञानिकों ने WHO को एक ओपन लेटर भी लिखा है।

हवा से होगा कोरोना का प्रसार वैज्ञानिको का दावा
हाल ही में न्यूयार्क टाइम्स में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के मुताबिक “32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस (COVID-19) प्रसार को लेकर दवा किया कि हवा के छोटे कणों में मौजूद वायरस से भी लोग संक्रमित हो सकते हैं। जिसके तहत वैज्ञानिकों ने WHO को एक ओपन लेटर भी लिखा। साथ ही वैज्ञानिको ने WHO द्वारा इस शोध के नतीजों को गंभीरता से नहीं लिए जाने पर नाराज़गी भी जायर करी है। वैज्ञानिकों के मुताबिक शोध में यह बात साबित हुई है कि कोरोना वायरस हवा में अपना प्रसार करने में सक्षम है। वैज्ञानिको का कहना है कि WHO को अपनी गाइडलाइन में संशोधन करने की आवश्यकता है।

कोरोना के हवा में प्रसार के दावे को लेकर क्या कहना है WHO का
वायरस हवा में प्रसार के इस दावे को WHO शुरू से ही नकारता हुआ आया है। WHO के मुताबिक कोरोना वायरस का प्रसार संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से ही फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक वायरस का संक्रमण हवा से नहीं फैलता बल्कि, संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है। WHO के मुताबिक इस बात के अभी तक कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं जिससे यह साबित हो सके की वायरस का प्रसार हवा के माध्यम से हो रहा हो। न्यूयार्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट के ऊपर WHO की संक्रमण रोकथाम और नियंत्रण टीम के तकनीक प्रमुख डॉ. बेनेडेटा अलेगरैंजी ने कहा “पिछले दो महीनों में हम कई बार कह चुके हैं कि हम हवा के जरिए संक्रमण फैलने को संभव मानते हैं, लेकिन इसके पक्ष में ठोस और स्पष्ट सबूत नहीं हैं।”

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

जानिए MoHFW की गाइडलाइन के अनुसार होममेड फेस मास्क को रियूज करने के तरीके।

जानिए लगातार मास्क पहनने के कारण होने वाली समस्याओं से बचाव के उपाय।

कोरोना से सुरक्षा देगा नासा का ये स्पेशल नेकलेस ‘पल्स’, जानिए इसके बारे में सब कुछ।

क्या वाकई AC चलाने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा बना रहता है?

क्या कोरोना संक्रमण के दौर में ऑनलाइन खाना ऑडर करना सुरक्षित है या नहीं?

कोरोना: होटल में रुकना कितना सेफ, रूम बुक करने के दौरान रखें इन बातों का ध्‍यान।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु WHO ने जारी की फूड सेफ्टी गाइडलाइन।

कोरोना वायरस संक्रमण: कार के इन हिस्सों को सेनेटाइज करना है अत्यंत जरूरी।

कोरोना वायरस प्रकोप: जूते-चप्पलों को डिसइन्फेट करने के टिप्स।

पड़ न जाए कोरोना काल में रेस्टोरेंट में खाना खाना भारी, पहचाने इन छुपे खतरों को।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •