कोरोना: होटल में रुकना कितना सेफ, रूम बुक करने के दौरान रखें इन बातों का ध्‍यान।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

देश में चले पिछले लम्बे लॉकडाउन के बाद अब अनलॉक के चरण शुरू हो चुके हैं। लॉकडाउन के कारण लोग पिछले 3 महीनों से अपने घरों में बंद थे। लेकिन अब फिर से धीरे-धीरे सब कुछ पहले की तरह सामान्य होता नजर आने लगा है। अगर कुछ बदलाव नजर आ रहा है तो, वह सरकार के अनुसार बताई गयी गाइडलाइन और कोरोना से आपकी सुरक्षा के लिए जरुरी है। देश में जारी अनलॉक के दौरान कोरोना संकम्रण के मामले भी अब पहले से दोगुनी रफ्तार में बढ़ने लगे हैं। इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा की खतरा अब पहले से कहीं अधिक बड़ चूका है। यदि आप इस दौरान कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं या कोई जरुरी काम के सिलसिले में आपको शहर से कहीं बाहर जाना पड़े और होटल में रुकना पड़े, तो आपको कोरोना के कारण कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा। कोरोना के इस दौर में होटल में रुकना पड़े तो कुछ आवश्यक सावधानियाँ बरत कर खुद को वायरस से दूर रखें।

यदि आपको इस दौरान कहीं यात्रा में जाना पड़े और आपको इस बात की चिंता सता रही हो कि आपके ठहरने की क्या व्यवस्था होगी। घबराइए नहीं, देश में चल रहे अनलॉक में होटल अब शर्तों के साथ खुलने लगे हैं। लेकिन देश में वायरस के लगातार बड़ रहे मामलों के कारण होटल में रुकना बहुत अधिक सेफ नहीं माना जायेगा। इसलिए होटल में रहने के दौरान कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखें और कोरोना से सुरक्षित रहें।

क्या होटल में रुकना सुरक्षित है –

देश में लगातार बड़ रहे कोरोना के मामलों के कारण होटल में रुकना सुरक्षित नहीं माना जा सकता। इस बात की पूरी संभावना है कि जरा सी लापरवाही अगर आपकी या होटल की तरफ से हुई तो सभी के ऊपर वायरस का खतरा मंडरा सकता है। इसलिए इन दिनों बेफिजूल के यात्रा प्लान करने से बचें। बहुत जरुरी जब तक न हो होटल में न रुकें।

कोरोना होटल में रुकना
courtesy google

कौन सा होटल रहेगा सुरक्षित –

यदि किसी कारणवस आपको शहर से बाहर किसी होटल में रुकना पड़े तो ऐसे होटल का चुनाव करें जहाँ के स्टाफ मेंबर्स से आप परिचित हों और जहाँ आप अक्सर ठहरते हों। इसका फायदा यह होगा, आपको होटल के माहौल के बारे में पहले से जानकरी होगी और स्टाफ से परिचित होने का भी आपको फायदा मिल जायेगा। यदि आपकी नजर में ऐसा कोई होटल नहीं हैं जहाँ पहले आप कभी रुकें हों। ऐसी स्तिथि में रुकने के लिए वहां के किसी प्रतिष्ठित होटल का चयन करें और साथ ही इस बात की ध्यान रखें कि होटल सरकार द्वारा कोरोना वायरस को लेकर जारी की गई गाइडलाइन का पूर्ण रूप से पालन कर रहा हो।

होटल में रूम बुक करवाते समय इन बातों का रखें ध्यान –

जल्दबाजी में ऑनलाइन लुभावने ऑफर्स को देख रूम की बुकिंग कराने से बचें। रूम बुक कराने से पहले होटल के नंबर पर फोन काल के माध्यम से पता करें कि कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए होटल में जरूरी नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं। जब आप पूर्ण रूप से संतुष्ट हों जाएँ तभी होटल में बुकिंग कन्फर्म करें। यदि थोड़ा भी डाउट किसी चीज को लेकर लगे तो बुकिंग न कराएं।

मास्क अनिवार्य रूप से पहने –

चूँकि देश में कोरोना का प्रकोप लगातार बड़ रहा है इसलिए मास्क पहनने के साथ कोई समझौता न करें। चाहे होटल में रुकना पड़े या कहीं और अपनी सुरक्षा के लिए मास्क अवश्य पहने। जब कभी आप ऐसी लम्बी यात्रा पर निकलें तो अपने पास एक से अधिक मास्क को साथ ले कर चलें। यदि आपका मास्क वॉशेबल है तो उसे समय-समय पर धोते रहें।

ग्लब्स पहनना भी है जरुरी –

कोरोना काल में होटल में रुकना पड़े तो हर समय हाथों में ग्लब्स पहनकर रखें। ये संभव नहीं कि होटल और आपके कमरे में मौजूद हर चीज को छूने से बचा जा सके। अपने साथ एक से अधिक ग्लब्स ले कर जाएँ और समय-समय पर ग्लब्स बदलते रहें। पहने हुए ग्लब्स को गरम पानी में कुछ देर भीगाकर धो लें।

अपने रूम को करवाएं सैनिटाइज –

जैसा कि हमने आपको बताया कि कोरोना के कारण होटल में रुकना सेफ नहीं माना जा सकता। लेकिन यदि किन्ही कारणों से होटल में रुकना पड़े तो वहाँ पहुंचने के बाद सबसे पहले अपने रूम को अच्छी तरह से सैनिटाइज करवाएं इसके बाद ही अपने रूम में प्रवेश करें।

घर से लेकर जाएं बैड सीट –

कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए अतिरिक्त सुरक्षा अपनाएं और घर से ही अपने साथ एक एक्स्ट्रा बैड सीट लेकर चलें। होटल पहुंच कर अपना रूम सैनिटाइज करवाने के बाद अपनी बैड सीट को बिछाने के बाद ही बैड का प्रयोग करें।

साफ सफाई का रखें ध्यान –

कोरोना वायरस से दूरी बनानी है तो आपको साफ-सफाई से संबंधित नियमों का अच्छे तरह से पालन करना होगा। अधिक लोगों से मिलना कम करें, भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें, मास्क का प्रयोग करें और समय-समय पर अपने हाथों को साबुन से धोते रहें।

कोरोना वायरस की अधिक जानकारी के लिए पढ़े –

जानिए MoHFW की गाइडलाइन के अनुसार होममेड फेस मास्क को रियूज करने के तरीके।

जानिए लगातार मास्क पहनने के कारण होने वाली समस्याओं से बचाव के उपाय।

क्या वाकई AC चलाने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा बना रहता है?

क्या कोरोना संक्रमण के दौर में ऑनलाइन खाना ऑडर करना सुरक्षित है या नहीं?

कोरोना: हाथ धोने और त्वचा की प्राकृतिक नमी बनाये रखने के लिए इन बातों का रखें ध्यान।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु WHO ने जारी की फूड सेफ्टी गाइडलाइन।

कोरोना वायरस संक्रमण: कार के इन हिस्सों को सेनेटाइज करना है अत्यंत जरूरी।

कोरोना वायरस प्रकोप: जूते-चप्पलों को डिसइन्फेट करने के टिप्स।

पड़ न जाए कोरोना काल में रेस्टोरेंट में खाना खाना भारी, पहचाने इन छुपे खतरों को।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT